Breaking News

एलाइजा विधि से जांच में पॉजिटिव आने पर ही डेंगू की पुष्टि – सीएमओ

कानपुर। बरसात के मौसम में वेक्टर जनित रोग जैसे मलेरिया, डेंगू आदि के रोगी मिलने की संभावना बनी रहती है । इन रोगों की जाँच की कई विधियाँ होती है, जिनमे डेंगू की पुष्टि के लिए एलाइजा विधि को ही निर्णायक माना जाता है। डेंगू की जाँच और वेक्टर जनित रोगों की सूचना या घोषणा निजी संस्थाओं द्वारा करने पर सीएमओ ने कड़े निर्देश दिए हैं।

 डेंगू, मलेरिया की घोषणा एवं सूचना प्राइवेट व्यक्ति, संस्था, चिकित्सालय या पैथोलॉजी सेंटर द्वारा करना पूर्णत: अवैधानिक

सीएमओ डॉ. नैपाल सिंह ने कहा कि मलेरिया, डेंगू व अन्य वेक्टर जनित रोगों के उपचार एवं जाँच सरकारी के साथ ही निजी चिकित्सालयों व पैथोलॉजी सेंटरों में भी करायी जाती है। इसमें कुछ चिकित्सालय मरीजों की जाँच रैपिड कार्ड से कराकर एवं लक्षणों को आधार बना कर, कम प्लेटलेट्स मिलने पर मरीज़ को डेंगू का मरीज़ बताकर उपचार करते हैं ,जो कि पूरी तरह से गलत है। एलाइजा विधि से जाँच में डेंगू की पुष्टि होने पर ही मरीज़ को डेंगू से पीड़ित माना जा सकता है। डेंगू से ग्रसित होने पर मरीज़ के खून में प्लेटलेट्स तेज़ी से गिरना डेंगू का एक लक्षण है पर केवल इससे ही डेंगू रोग से ग्रसित होने की पुष्टि नही होती है।

डॉ. नैपाल सिंह ने कहा कि बुखार के रोगियों का लक्षणों के आधार पर मलेरिया व डेंगू की जाँच करना आवश्यक है। यदि जांच में डेंगू, मलेरिया या अन्य वेक्टर जनित रोगी की पुष्टि होती है तो इसकी सूचना पूर्ण विवरण के साथ तत्काल सीएमओ कार्यालय में उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने कहा कि डेंगू, मलेरिया या किसी भी वेक्टर जनित रोगों के प्रसार की घोषणा एवं सूचना किसी प्राइवेट व्यक्ति, संस्था, चिकित्सालय या पैथोलॉजी सेंटर के द्वारा किया जाना पूर्णत: अवैधानिक है । ऐसी सूचना या घोषणा से लोगों में अनावश्यक भय पैदा हो जाता है। यदि कोई व्यक्ति, संस्था, चिकित्सालय या पैथोलॉजी सेंटर ऐसा करते हैं तो उनके विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी।

जिला मलेरिया अधिकारी ए.के.सिंह ने बताया कि सभी निजी चिकित्सालय, नर्सिंग होम व पैथोलॉजी सेंटरों को निर्देश के साथ पत्र जारी किया गया है। पत्र में डेंगू, मलेरिया या किसी भी वेक्टर जनित रोगों की जाँच, उपचार में सावधानी बरतने और मरीज़ में रोग की पुष्टि होने पर उसकी सूचना सीएमओ कार्यालय को उपलब्ध करने के निर्देश दिए गये हैं।

शिव प्रताप सिंह सेंगर

About Samar Saleel

Check Also

झूठे मुकदमे में जेल भेजने के आरोप में इंस्पेक्टर समेत पांच पुलिस कर्मियों पर मुकदमा दर्ज

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ/रामपुर। एक झूठे मामले में जेल भेजने के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *