Breaking News

अच्छा अधिवक्ता वही जो तारीख न आगे बढ़ाए : Sumitra Mahajan

लखनऊ। राजधानी में अधिवक्ता परिषद के कार्यक्रम में लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन Sumitra Mahajan ने कहा है कि वकील के लिए न्याय दिलाना उसका कर्तव्य ही नहीं बल्कि धर्म भी होता है, राष्ट्र का न्याय व्यवस्था सुचारू रूप से चले ये अधिवक्ताओं का दायित्व भी होता है, आज़ादी की जंग में अधिवक्ताओं का योगदान कोई नज़रअंदाज़ नहीं कर सकता है।

Sumitra Mahajan ने कहा कि

सुमित्रा महाजन Sumitra Mahajan ने कहा कि अच्छा अधिवक्ता वही है जो तारीख को आगे बढ़ने पर यकीन ना करता हो। जस्टिस डिलेड इस जस्टिस डिनाइड, इस डिनाइड में अधिवक्ता न हो इसका ध्यान रखना होगा। कानून बनते वक़्त सही कानून बने ये भी देखना होगा।

न्याय प्रक्रिया को और बेहतर बनाने के लिए सभी को योगदान देना होगा। न्याय जल्दी मिले और सही मिले इसके लिए परिषद को भी अपना दायित्व निभाना होगा। एक बेहतर वकील ही बेहतर न्यायमूर्ति बन सकता है, ये भी देखना हम सबका कर्तव्य है।

सुमित्रा महाजन के मुताबिक सांसद हो या विधायक, सभी को कानून की बारीकियों का ज्ञान होना चाहिए, उसके लिए ज़रूरी हो तो विशेषज्ञों की मदद भी ली जानी चाहिए। अगर चर्चा हो रही हो तो सांसद हो या विधायक, हिस्सा लेना चाहिए।

अगर ऐसा होता है तो फिर कानून बनाते वक़्त अगर कोई कमी रह भी जाति है तो उसमें सुधार हो सकता है। वकीलों की नई पीढ़ी कॉर्पोरेट एडवोकेट बनना चाहता है, ऐसा है तो फिर सामान्य व्यक्ति को कौन इंसाफ दिलाएगा। अधिवक्ता परिषद जो यही काम करना है।

Loading...

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने

वहीं कार्यक्रम में पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने कहा कि वकीलों की हड़ताल की नौबत क्यों आती है। न्याय का हित सरोच्छ है। प्रतिष्ठा को बनाये रखना हम सबका काम है। जब कभी प्रतिष्ठा की बात आये तो कड़ा निर्णय लेने की जरूरत है। अपने प्रतिष्ठ और मर्यादा को जाग्रत करने की जरूरत है।

समाज के लिए काम करना बहुत जरूरी है। अधिवक्ता परिषद के ऊपर बहुत ज्यादा जिम्मेदारी है। पिआएल बहुत बड़ी हाथियार है न्याय व्यवस्था को बचाने का। अगर हम न्याय व्यवस्था से जुड़े लोगों पर सवाल खड़े करते हैं। तो विश्वास कैसे कायम होगा। न्याय पालिका के प्रति आस्था रखना अनिवार्य है। क्या कारण है कुछ काम माफियों को मिल जाता है। भय का वातावरण खत्म करने में वकील बहुत बड़ा माध्यम हो सकता है।

उन्होंने कहा कि अगर कोई एकता और अखंडता पर प्रहार करेगा तो ठीक नहीं। लाखों लोग दर्जनों सड़क पर घोमते है। लोकतंत्र पर लोग प्रहार करते है। राष्ट्र विरोधी काम करने वालों को राष्ट्र छोड़ेगा नहीं। कुछ लोग आजादी की मांग कर रहें। ऐसे प्रदूषण से अधिवक्ता ही दूर कर सकते हैं। हमारा संविधान और राष्ट्र बहुत श्रेष्ठ है। हमसे अंग्रेजों ने न्याय व्यवस्था ली है। हमारी व्यवस्था सुन्दर है। हमारे यहाँ समिति और लोकल बॉडी है। हम लोगों को पढ़ाते नहीं है। ज्ञान समाज को देना हमारा दायित्व है। हमारी न्याय व्यवस्था बहुत शानदार और मजबूत है।

 

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

2.5 कि.मी. हस्ताक्षर बेनर का “लिम्का बुक ऑफ इंडिया रिकॉर्ड” में नाम दर्ज…

लखनऊ। सेंटर फॉर मेंस राइट प्रोटेक्टशन (पुरुष परिवार परामर्श केंद्र) लखनऊ एवं पुरुष आयोग समन्वय ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *