Breaking News

24 नवंबर से होगी भारत और खाड़ी सहयोग परिषद की मुक्त व्यापार समझौते पर बातचीत

भारत और खाड़ी सहयोग परिषद दोनों क्षेत्रों के बीच आर्थिक संबंधों को बढ़ावा देने के लिए मुक्त व्यापार समझौते पर 24 नवंबर को वार्ता की शुरुआत कर सकते हैं। वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने बुधवार को कहा कि भारत अगले सप्ताह एक क्षेत्र के साथ मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) के लिए बातचीत शुरू करेगा। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन, यूरोपीय संघ, कनाडा और इजराइल सहित देशों के साथ बातचीत चल रही है। गौरतलब है कि भारत ने इस साल मई में संयुक्त अरब अमीरात के साथ मुक्त व्यापार समझौता पहले ही लागू कर दिया है।

वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार जीसीसी को भारत से किया जाने वाला निर्यात 2021-22 में 58.26 फीसदी बढ़कर करीब 44 अरब डॉलर हो गया। 2020-21 में यह 27.8 अरब डॉलर ही था।

जीसीसी खाड़ी क्षेत्र के छह देशों – सऊदी अरब, यूएई, कतर, कुवैत, ओमान और बहरीन का एक संघ है। एक मुक्त व्यापार समझौते में दो देश या क्षेत्र या तो उनके बीच व्यापार की जाने वाली अधिकतम वस्तुओं पर सीमा शुल्क को काफी कम कर देते हैं या समाप्त कर देते हैं। इसके अलावा वे व्यापार और निवेश को बढ़ावा देने के लिए मानदंडों को भी आसान बनाते हैं।

गोयल ने कहा कि दुनिया भारत में अपार संभावनाएं देखती है और यही कारण है कि भारत के साथ जुड़ाव बढ़ रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि देश की #अर्थव्यवस्था 2047 तक 30 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर को छू सकती है और अगर चीजें थोड़ा बेहतर प्रदर्शन करती हैं, तो यह 49 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर को छू सकती है।

भारत सऊदी अरब और कतर जैसे खाड़ी देशों से मुख्य रूप से कच्चा तेल और प्राकृतिक गैस का आयात करता है। वहीं मोती, बहुमूल्य रत्न, धातु, लोहा और इस्पात, रसायन आदि का भारत इन देशों को निर्यात करता है। भारत के कुल निर्यात में इन छह देशों की हिस्सेदारी 2021-22 में बढ़कर 10.4 फीसदी हो गई जो 2020-21 में 9.51 फीसदी थी। इसी प्रकार आयात भी 85.8 फीसदी बढ़कर 110.73 अरब डॉलर हो गया जो 2020-21 में 59.6 अरब डॉलर था।

रिपोर्ट: शाश्वत तिवारी

About Samar Saleel

Check Also

सड़क हादसे में मैनपुरी में तैनात महिला जज की मौत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें फिरोजाबाद। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फिरोजाबाद जनपद के ...