Breaking News

मुद्दों पर आधारित चुनावी मंसूबा

काशी में प्रधानमंत्री के संबोधन से भाजपा की चुनावी दिशा का निर्धारण हो गया। यही विचार लखनऊ में भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के दौरान दिखाई दिया। इसमें योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व व सरकार की उपलब्धियों पर विश्वास व्यक्त हुआ। इसके आधार पर भाजपा विपक्षी दलों को चुनौती देगी। इस रणनीति के अंतर्गत जहां सरकार की उपलब्धियां गिनाई गई,वहीं विपक्ष पर नकारात्मक राजनीति का आरोप लगाया गया। इस चुनावी रणनीति पर भाजपा में किसी प्रकार की दुविधा नहीं है। कुछ समय पहले चलाई गई अफवाहें निर्मूल प्रमाणित हुई।

शंशय के बादल छंट चुके है। इसमें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा का मंसूबा साफ दिखाई दे रहा है। काशी में नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व व उपलब्धियों की जम कर तारीफ की थी। उन्होंने अनेक उपलब्धियों का विशेष तौर पर उल्लेख किया। इनके आधार पर विगत चार वर्षों के दौरान उत्तर प्रदेश की अभूतपूर्व प्रगति का अनुमान लगाया जा सकता है। नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा था कि कम समय में सभी उपलब्धियां बताई नहीं जा सकती। यह भी दुविधा रहती है कि किस उपलब्धि बताएं और किसे छोड़ दें।

भाजपा की बैठक में भी नेतृत्व व नेकनीयत का सन्देश दिया गया। जिस प्रकार राष्ट्रीय राजनीति में नरेंद्र मोदी अलग दिखाई देते है। वही स्थिति उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की है। इसके पहले बसपा और सपा को पूर्ण बहुमत की सरकार चलाने का अवसर मिला था। इस प्रकार नेतृत्व न नीति के संबन्ध में स्थिति बिल्कुल साफ है। योगी आदित्यनाथ अपनी ईमानदार व मेहनती छवि के लिए पहचाने जाते है। उन्होंने साहस के साथ ऐसे अनेक निर्णय लिए,जिनके विषय में पिछली सरकारों के दौरान सोचना भी मुश्किल था। विपक्ष का कार्य सरकार को घेरना होता है। लेकिन उत्तर प्रदेश में विपक्ष अपने कार्यों से स्वयं ही घिर जाता है।

सीएए और किसानों के नाम पर चल रहे आंदोलन को समर्थन देने का विपक्ष को कोई लाभ नहीं मिला। इसके विपरीत उसे फजीहत ही उठानी पड़ी। यह सवाल उठा कि सीएए नागरिकता देने का कानून है। ऐसे में नागरिकता छिनने का आरोप लगा कर आंदोलन करना बेमानी था। विपक्ष ऐसे लोगों के साथ था। कृषि कानूनों से किसानों को विकल्प व अधिकार दिए गए।आंदोलन किसानों को यथास्थियी में रखने के लिए चलाया गया। विपक्ष ऐसे लोगों के साथ भी दिखाई दिया।

आतंकवादियों की गिरफ्तारी का विरोध भी विपक्ष को भारी पड़ा। सन्देश यह गया कि उनकी सरकार बनी तो ऐसे लोगों को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा। योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए विपक्ष को घेरा। कहा कि देश विरोधी नारे लगाने वाले विपक्ष का चेहरा करना होगा बेनकाब
आतंकवादियों के शुभचिंतक विपक्ष की नकारात्मकता से बचना होगा। लव जेहाद के खिलाफ हमने कदम उठाया तो विपक्ष को परेशानी हो रही है। कोरोना संकट के दौरान विपक्ष की निष्क्रियता पर भी सवाल उठ रहे है। तब विपक्ष ने नेता ट्विटर पर ही सक्रिय थे। इसमें भी उन्होंने नकारात्मक विचार ही व्यक्त किये। इनके बयान जनमानस को भयभीत करने वाले थे। विदेशी मीडिया ने ऐसे नकारात्मक बयानों का खूब प्रचार किया। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोनाकाल में ये चेहरे कहीं नही दिखाई दिए। ये लोग केवल भ्रम  की स्थिति पैदा करके नकरात्मक स्थितियां पैदा कर रहे थे। विपक्ष राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर विपक्ष ने मर्यादा का पालन नहीं किया। आतंकियों के लिए सहानुभूति व आगरा में लगाए गए नारे राष्ट्रहित के विरुद्ध है।

योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार की उपलब्धियों का भी उल्लेख किया। पहले की तरह बिचौलिया व्यवस्था अब नहीं है। किसानों गरीबों व सभी जरूरतमन्दों तक शतप्रतिशत धनराशि पहुंचाई जा रही है। एक क्लिक पर पैसा गरीब के खाते में जा रहा है। बिना भेदभाव के सबको आवास,सबको समान विद्युत आपूर्ति हो रही है। करीब सवा लाख गांवो तक विद्युतीकरण किया गया। प्रदेश में निवेश के अनुकूल माहौल बनाया गया। मुम्बई से ढाई लाख करोड़ का निवेश लेकर आ गए। उद्योगपति कहते हैं कि पांच साल पहले हम यहां आना नही चाहते थे। लेकिन अब हम यहां निवेश करना चाहते हैं। हर घर नल का कार्य बुंदेलखंड विंध्य क्षेत्र के हर गांव में जारी है। दिसम्बर तक लक्ष्य है कि इसे लगभग पूरा किया जाए। गन्ना किसानों की समस्याओं का निदान हो रहा है। चीनी मिल सुचारू रूप से जारी हैं।शिक्षा के क्षेत्र में नकलविहीन परीक्षाएं,उच्च शिक्षा में नए विश्विद्यालय खोलने,अभ्युदय कोचिंग योजना सफलता के साथ चल रही है। चार वर्षों में तीस नए मेडिकल कॉलेज का निर्माण हो रहा है। इज ऑफ डूइंग बिजनेस की रैंकिंग में प्रदेश दूसरे नम्बर पर पहुंचा।

प्रदेश को पहले पायदान पर पहुंचाने का प्रयास चल रहा है। अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर निर्माण व प्रदेश का ढांचागत विकास,सड़कों का जाल,अनेक एक्सप्रेस वे निर्माण, हर घर नल-जल,उर्जा के क्षेत्र में सरप्लस पावर वाला स्टेट,कौशल विकास एवं प्रवासी मजदूर,रोजगार सृजन की दिशा में अभूतपूर्व कार्य किया गया। कोरोना संकट के दौरान प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना लागू की गई। जिसके तहत लगभग अस्सी करोड़ लोगों तक निशुल्क राशन पहुंचाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के लगभग पन्द्रह करोड़ लोगों को भी इसका लाभ मिल रहा है।

अन्त्योदय कार्ड धारक परिवारों को पांच किलो ग्राम गेहूं व एक किलो ग्राम दाल राशन मुफ्त दिया जा रहा है। इसका लाभ प्रदेश के तीन करोड़ पचपन लाख कार्ड धारकों को प्राप्त हो रहा है। कोरोना टेस्ट व टीकाकरण अभियान में उत्तर प्रदेश शीर्ष पर है। लगभग चार करोड़ लोगों को मुफ्त में टीका लग चुका है। जाहिर है कि नेतृत्व व नेकनीयत के आधार पर वर्तमान सरकार ने अभूतपूर्व उपलब्धियां हासिल की है। इसी आधार पर भाजपा अपनी चुनावी रणनीति का निर्धारण करेगी।

About Samar Saleel

Check Also

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में ये होगा CM पद के लिए बीजेपी का अगला चेहरा, पार्टी ने पहले ही दिए संकेत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें दिल्ली में बीजेपी सांसदों की बैठक में यूपी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *