Wednesday , September 22 2021
Breaking News

जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने याचिका दायर कर बकाया वेतन जैसे मुद्दों पर जताई चिंता

ग्राउंडेड एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने  नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्राइब्यूनल एनसीएलएटी में याचिका दायर कर कार्लरॉक-जालान के रिजॉल्यूशन प्लान की स्वीकृति खारिज करने की मांग की है. इन कर्मचारियों ने याचिका में बकाया वेतन जैसे मुद्दों पर चिंता जताई है.

नेशनल कंपनी लॉ ट्राइब्यूनल की मुंबई बेंच ने 22 जून को कार्लरॉक-जालान के रिजॉल्यूशन प्लान को स्वीकृति दी थी. इसके साथ ही एनसीएलटी ने डायरेक्टरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन और सिविल एविएशन मिनिस्ट्री को जेट एयरवेज के लिए स्लॉच आवंटित करने के लिए 90 दिनों की अवधि तय की थी.

गौरतलब है कि भारी घाटे और कर्ज के कारण जेट एयरवेज अप्रैल 2019 में बंद हो गई थी. उस समय कंपनी के प्रमोटर नरेश गोयल को 500 करोड़ रुपये की जरूरत थी, लेकिन वे इसे जुटा नहीं पाए. हालत यह हो गई कि कर्मचारियों की सैलरी और अन्य खर्च भी नहीं निकल पा रहे थे. जेट एयरवेज बंद होने के बाद इसके करीब 17 हजार कर्मचारी सड़क पर आ गए थे.

इसके बाद जेट एयरवेज को कर्ज देने वाले बैंकों के कंसोर्टियम ने नरेश गोयल को कंपनी के बोर्ड से हटा दिया था. एयरलाइन के खिलाफ इनसॉल्वेंसी प्रोसीडिंग शुरू हुई थी. कई दौर की बिडिंग के बाद कार्लरॉक कैपिटल और मुरारी लाल जालान को सफल बिडर चुना गया था. इससे जेट एयरवेज के दोबारा शुरू होने की संभावना बनी है.

About manage

Check Also

21 सितंबर से चलेगी सामान्य बहस….25 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र को संबोधित करेंगे PM मोदी

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अमेरिका की यात्रा के दौरान ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *