Breaking News

कुवैत त्रासदी: एक्शन मोड में विदेश मंत्रालय और भारतीय दूतावास, घटनास्थल पर पहुंचे राज्यमंत्री, हेल्पलाइन नंबर जारी

नई दिल्ली। कुवैत में आगजनी की दुर्भाग्यपूर्ण घटना में 40 से अधिक भारतीयों की मौत के बाद विदेश मंत्रालय और भारतीय दूतावास एक्शन मोड में आ गए हैं। इसी हफ्ते विदेश राज्य मंत्री की शपथ लेने वाले कीर्तिवर्धन सिंह गुरुवार को कुवैत पहुंचे और घटनास्थल का दौरा किया।

भारतीय दूतावास ने घायलों और मृतकों के परिजनों के लिए जारी किया हेल्पलाइन नंबर +965-65505246

कुवैत स्थित भारतीय दूतावास ने गुरुवार की दोपहर सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर लिखा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर, राज्य मंत्री कीर्तिवर्धन सिंह आग त्रासदी में घायल लोगों की सहायता की निगरानी करने तथा इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना में मारे गए लोगों के पार्थिव शरीर को शीघ्र वापस लाने को लेकर स्थानीय अधिकारियों के साथ समन्वय के लिए कुवैत पहुंचे।

कुवैत त्रासदी: एक्शन मोड में विदेश मंत्रालय और भारतीय दूतावास, घटनास्थल पर पहुंचे राज्यमंत्री, हेल्पलाइन नंबर जारी

कुवैत के मंगाफ क्षेत्र में बुधवार की सुबह एक श्रमिक आवास सुविधा में लगी भयानक आग के बाद घायल भारतीय लोगों की सहायता और मृतकों के पार्थिव शरीर को शीघ्र भारत लाने के लिए कुवैत रवाना होने से पहले सिंह ने कहा जब तक हमारी जरूरत होगी, हम वहां रहेंगे।

राज्य मंत्री ने कहा हमने कल शाम प्रधानमंत्री के साथ बैठक की। जैसे ही हम वहां पहुंचेंगे, स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। पीड़ितों की पहचान के लिए डीएनए टेस्ट किया जा रहा है। वायुसेना का एक विमान तैयार है। जैसे ही शवों की पहचान हो जाएगी, परिजनों को सूचित कर दिया जाएगा और हमारा वायुसेना का विमान शवों को वापस ले आएगा। कल रात हमारे पास जो नवीनतम आंकड़े आए, उनके अनुसार हताहतों की संख्या 48-49 है, जिनमें से 42 या 43 भारतीय बताए जा रहे हैं।

इससे पहले विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर ने बताया कि उन्होंने कुवैती प्रशासन से अपील की है कि हादसे में मारे गए लोगों के शवों को जल्द से जल्द भारत भेजा जाए। उन्होंने कहा कि कुवैती प्रशासन ने आश्वासन दिया है कि घटना की पूरी जांच की जाएगी और जिम्मेदारी तय की जाएगी। जयशंकर ने कहा केंद्रीय राज्य मंत्री कीर्तिवर्धन सिंह के कुवैत पहुंचने के बाद हम स्थिति की समीक्षा करेंगे।

वहीं दूसरी ओर कुवैत में भारत के राजदूत आदर्श स्वाइका ने इस हादसे के तुरंत बाद भारतीय नागरिकों के बारे में जानकारी लेने के लिए घटना स्थल और अस्पतालों का दौरा किया। भारतीय दूतावास इस घटना में घायल भारतीयों की मदद करने और उन्हें हर संभव सहायता पहुंचाने के लिए स्थानीय अधिकारियों के साथ तालमेल बनाए हुए है। दूतावास ने घायलों और मृतकों के परिजनों के लिए एक हेल्पलाइन नंबर +965-65505246 जारी किया है।

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, बुधवार को कुवैत के मंगाफ क्षेत्र में एक श्रमिक आवास सुविधा में आग लगने की दुखद घटना में लगभग 40 भारतीयों की मौत हो गई और 50 से अधिक घायल हो गए। घायलों को फ़िलहाल कुवैत के पांच सरकारी अस्पतालों (अदन, जाबेर, फ़रवानिया, मुबारक़ अल कबीर और जहरा अस्पताल) में भर्ती कराया गया है और उन्हें उचित इलाज दिया जा रहा है।

रिपोर्ट-शाश्वत तिवारी

About Samar Saleel

Check Also

बांग्लादेश हिंसा: भारत ने जारी की एडवाइजरी, यात्रा से बचने की सलाह

नई दिल्ली। बांग्लादेश में सरकारी नौकरियों में आरक्षण के खिलाफ विरोध प्रदर्शन ने अब हिंसक ...