गौ-वंश आश्रय के लिए तहसील प्रशासन की ओर से हुई ज़मीनों की पैमाईश

मोहम्मदी खीरी। मोहम्मदी के जिलाधिकारी पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि तहसील प्रशासन द्वारा गौ-वंश आश्रय हेतु तहसील में भिन्न ग्रामों में चारागाह की भूमियों को चिन्हित किया गया, जिसके क्रम में ग्राम बंजरिया में क्षेत्रीय लेखपाल द्वारा पैमाईश कर चारागाह की भूमि गाटा संख्या 519 रकवा 0.567 हे0 को ग्राम प्रधान को गौ-वंश आश्रय हेतु सुपुर्द किया गया।

गौ-वंश आश्रय के लिए तहसील प्रशासन की ओर से हुई ज़मीनों की पैमाईश

ग्राम रामपुर मिश्र में चारागाह की भूमि गाटा संख्या 69, 70 को पैमाइस कर खाली करवाया गया। ऐसे ही ग्राम सिसोरा निकूमपुर में भी चारागाह की गाटा संख्या 425 रकवा 3.832 हे0 की निशानदेही कर ग्राम प्रधान को सुपुर्द किया गया। ग्राम उधन्नापुर के चारागाह की गाटा संख्या 2 रकवा 6.297 हे0 की पैमाइस कर ग्राम प्रधान के सुपुर्द किया गया। ग्राम गोकन में चारागाह की गाटा संख्या 1024 की पैमाइस कर पंचायत मिश्र के सुपुर्द किया गया।

ऐसी ही ग्राम फरेन्दा नवीन परती की भूमि गाटा संख्या 219 की पैमाइस की गयी। ग्राम गुरैला, बिजौलिया सहासपुर में भी भूमि की पैमाइस की गयी। इसके अतिरिक्त ग्राम भानपुर में गाटा संख्या 137 चकमार्ग व गाटा संख्या 138 नाली की भूमि की पैमाइस कर खाली करवाकर ग्राम प्रधान के सुपुर्द किया गया। ग्राम हरिहरापुर मजरा दिलावरपुर में भी चकमार्ग की पैमाइस कर मिट्टी पटाई कार्य हेतु ग्राम प्रधान के सुपुर्द किया गया।

रिपोर्ट – सुखविंदर सिंह कम्बोज

About reporter

Check Also

सौ दिन की पृष्टभूमि

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Tuesday, July 05, 2022 सौ दिन ...