Breaking News

15 जनवरी को मनाया जाएगा मकर संक्रांति (खिचड़ी) का पर्व : ज्योतिषाचार्य पंडित आत्मा राम पाण्डेय

पौष मास की शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि को 14 जनवरी की रात्रि 8 बजकर 49 मि. पर सूर्य का मकर राशि में परिवर्तन होगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य जब मकर राशि में आते हैं तो इसे मकर संक्रांति भी कहा जाता है।अत:15 जनवरी को ( खिचड़ी) मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाएगा।

इस दिन सूर्य देव की विशेष पूजा की जाती है. इसे सूर्य पूजन का सबसे बड़ा पर्व भी माना गया है।

इस दिन सूर्य देव जहां मकर राशि में गोचर करेंगे, वहीं मकर राशि में पहले से मौजूद बुध ग्रह मार्ग से वक्री हो जाएगा. ज्योतिष शास्त्र में मकर राशि को शनि की राशि माना गया है. शनि, सूर्य देव के पुत्र हैं और इस दिन सूर्य अपने पुत्र के घर आते हैं. सूर्य और शनि देव के आपस में संबंध अच्छे नहीं माने जाते हैं. लेकिन वर्ष में एक माह के लिए पिता पुत्र सभी बातों को भूला देते हैं. पुत्र के घर आकर सूर्य देव प्रसन्न होते हैं और पुत्र को आशीर्वाद प्रदान करते हैं।

शनि देव ने तिल से किया था पिता का स्वागत : पौराणिक कथा के अनुसार जब सूर्य देव शनि देव के घर पर पधारे तो शनि देव ने उनका स्वागत काले तिल से किया. तिल सेहत के लिए बहुत ही उपयोगी माना गया है. तिल से स्वागत करने से सूर्य देव अत्यंत प्रसन्न हुए और उत्तम स्वास्थ्य, सुख-समृद्धि का आशीर्वाद प्रदान किया. मान्यता है कि इसीलिए इस दिन काले तिल का दान शुभ माना गया है.

मकर संक्रांति पर करें ये उपाय : मकर संक्रांति पर दान का विशेष महत्व है. इस दिन जिन लोागें की कुंडली में शनि और सूर्य अशुभ हैं. वे इस दिन काले तिल का दान कर सकते हैं. काले तिल का दान करने से शनि की साढ़े साती और ढैय्या से राहत मिलती है. वर्तमान समय में मिथुन, तुला पर शनि की ढैय्या. धनु, मकर और कुंभ राशि पर शनि की साढ़े साती चल रही है।

मकर संक्रांति पर करें इन चीजों का दान

1- तिल का दान
मकर संक्रांति पर सबसे ज्यादा तिल का दान करने की परंपरा होती है। शास्त्रों में मकर संक्रांति को तिल संक्रांति भी कहा जाता है। काले तिल और तिल से बनी चीजों को दान करने से पुण्य लाभ मिलता है। शनिदेव को विशेषकर प्रसन्न करने के लिए तिल का दान किया जाता है। इसके अलावा सूर्यदेव और भगवान विष्णु भी तिल दान करने से प्रसन्न होते हैं। मकर संक्रांति पर तिल दान करने के पीछे एक कथा है दरअसल शनि देवता ने अपने क्रोधित पिता सूर्य देवता की पूजा करने के लिए काले तिल का ही प्रयोग किया था। इससे प्रसन्न होकर सूर्य देव ने वरदान दिया था कि जब भी वह मकर राशि में आएंगे तो तिल से उनकी पूजा करने और तिल का दान करने से वह प्रसन्न होंगे। इस दिन तिल का दान करने से शनि दोष भी दूर होता है।

2- खिचड़ी का दान
मकर संक्रांति को खिचड़ी भी कहा जाता है। इस दिन खिचड़ी का दान करना और खिचड़ी करने से विशेष पुण्य प्राप्त होता है। मकर संक्रांति पर चावल और काली उड़द की दाल खिचड़ी रे रूप में दान किया जाता है। काली उड़द के दान से शनिदेव प्रसन्न होते हैं जिससे व्यक्ति के ऊपर से शनि दोष दूर होता है और चावल के दान करने पर अक्षय फल की प्राप्ति होती है।

3- गुड़ का दान
मकर संक्रांति पर गुड़ का दान करना और गुड़ से बनी चीजों को खाने से विशेष लाभ प्राप्त होता है। ज्योतिष शास्त्र में गुड़ का संबंध गुरु ग्रह से होता है। मकर संक्रांति पर गुड़ दान करने पर शनि, गुरु और सूर्य तीनों प्रसन्न होते हैं।

4- नमक का दान
मकर संक्रांति पर नमक का भी दान करने की प्रथा है। नमक दान करने से विशेष तरह का लाभ मिलता है। शास्त्रों में बताया गया है कि मकर संक्रांति पर नमक के दान से अनिष्टों और बुरी ऊर्जाओं का नाश होता है और आपका बुरा वक्त भी टल जाता है। इसलिए नमक का दान मकर संक्रांति के दिन शुभ माना जाता है।

5- ऊनी कपड़े का दान
कुंडली से शनि और राहु के दोष को खत्म करने के लिए मकर संक्रांति पर ऊनी कपड़े का दान करना भी बेहद शुभ माना जाता है। इस दिन किसी गरीब जरूरतमंद या फिर किसी आश्रम में ऊनी कपड़े, कंबल का दान जरूर करना चाहिए।

6- देशी घी का दान
मकर संक्रांति के दिन देशी घी और इससे बनी मिठाईयों का दान करना बहुत ही शुभ होता है। घी का संबंध गुरु और सूर्य से होता है, इसी कारण से मान-सम्मान, यश और भौतिक सुविधाओं की प्राप्ति के लिए मकर संक्रांति पर देशी धी का दान किया जाता है।

7- रेवड़ी का दान
मकर संक्रांति के दिन गंगा स्नान के बाद गरीबों को रेवड़ी का दान करना बेहत शुभ होता है।

8- नए वस्त्रों का दान
मकर संक्रांति पर गरीबों और जरूरमंदों का नए कपड़ों का दान करना चाहिए।

9- पक्षियों को दाना डालें
मकर संक्रांति के दिन पक्षियों को दाना खिलाना शुभ माना गया है।

10- गाय को हरा चारा खिलाएं
मकर संक्रांति के दिन गाय को हरा चारा खिलाने से पुण्य की प्राप्ति होती है।

11- तेल का दान
मकर संक्रांति के दिन सूर्य देव की पूजा के बाद शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए तेल का दान करें।

💫जातक संपर्क सूत्र 09838211412, 08707666519, 09455522050 से अपॉइंटमेंट लेकर संपर्क करें।

पं. आत्माराम पांडेय

About Samar Saleel

Check Also

तुला और मकर राशि वाले इन बातों का रखें खास खयाल, देखिए अपना राशिफल

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें मेष- मेष राशि वालों को खुद पर भरोसा ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *