Breaking News

कॉपीराइट एक्ट के 17 वर्ष पुराने मामले में दो आरोपी बरी

अदालत ने 20 जून 2005 के इस मामले में आरोपियों की दुकान से एचपी का इंकजेट व कार्टेज नकली बरामदगी का आरोपी रहा वादी संतोष द्विवेदी ने तहरीर दी थी।

वाराणसी। एसीजेएम (तृतीय) नितेश कुमार सिन्हा की अदालत ने भेलूपुर थाने के कॉपीराइट एक्ट के 17 वर्ष पुराने मामले में दो आरोपियों ब्रह्मदेव पाण्डेय और विकास गुप्त को आरोप साबित नही होने पर बरी कर दिया है। आरोपियों की तरफ से अलख राय, अपूर्व सिंह व अमनराज गुप्त ने पैरवी की।

कॉपीराइट एक्ट के 17 वर्ष पुराने मामले में दो आरोपी बरी

अदालत ने 20 जून 2005 के इस मामले में आरोपियों की दुकान से एचपी का इंकजेट व कार्टेज नकली बरामदगी का आरोपी रहा वादी संतोष द्विवेदी ने तहरीर दी थी। तहरीर में कहा कि एचपी कम्पनी के नकली पैकेजिंग, लोगो ट्रेडमार्क के आधार पर इंकजेट कार्टेज के विक्रय की सूचना पर रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। अदालत में अभियोजन साक्षी बयान से मुकर गए, जिसके बाद, जुर्म साबित ना होने की सूरत में आरोपियों को बरी कर दिया गया।

रिपोर्ट-जमील अख्तर

 

About reporter

Check Also

अवैध कब्जे पर चला बुल्डोजर : शमशान भूमि पर दबंगों का था कब्जा, दो दिन का समय देने पर भी नहीं हटा अतिक्रमण

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Monday, May 23, 2022 बिधूना। क्षेत्र ...