Breaking News

अमेरिका-ब्रिटेन गठबंधन ने यमन पर फिर की एयरस्ट्राइक, लाल सागर क्षेत्र में बढ़ सकता है तनाव

अमेरिका-ब्रिटेन की गठबंधन सेना ने यमन में फिर से एयरस्ट्राइक की है। यह एयरस्ट्राइक हूती विद्रोहियों द्वारा नियंत्रित इलाके में की गई है। हूती विद्रोहियों द्वारा संचालित टीवी की रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया है। हालांकि अभी तक अमेरिका-ब्रिटेन के गठबंधन वाली सेना ने इस बारे में कोई बयान जारी नहीं किया है।

हूती विद्रोहियों ने भी अमेरिकी पोत को बनाया निशाना
यमन मीडिया के अनुसार, हमला लाल सागर के तटीय जिले अल्लुहयाह में हुआ। इस हमले में नुकसान की कोई जानकारी नहीं दी गई है। अमेरिका-ब्रिटेन गठबंधन के यमन में हमले के बीच रविवार को हूती विद्रोहियों ने दावा किया कि उन्होंने इस्राइल के उत्तरी हाइफा बंदरगाह पर चार जहाजों को निशाना बनाया था। साथ ही हूती विद्रोहियों ने लाल सागर में अमेरिका के विमानवाहक पोत आइजनहावर को निशाना बनाया। हूती विद्रोहियों ने पोत पर बैलेस्टिक मिसाइल से हमला किया।

लगातार जारी हैं दोनों तरफ से हमले
शुक्रवार को भी अमेरिका-ब्रिटेन गठबंधन की सेना ने लाल सागर में हूती विद्रोहियों की चार ड्रोन नौकाएं और दो ड्रोन विमान को निशाना बनाकर तबाह कर दिया था। इस साल जनवरी में भी अमेरिका-ब्रिटेन के गठबंधन वाली सेना ने यमन में हूती विद्रोहियों के ठिकानों पर बमबारी की थी। उस बमबारी में हूती विद्रोहियों को काफी नुकसान होने की आशंका जताई गई थी। अब ताजा हमले के बाद लाल सागर इलाके में तनाव बढ़ने की आशंका बढ़ गई है।

लाल सागर में बढ़ेगा तनाव

इस्राइल हमास युद्ध शुरू होने के बाद से फलस्तीनियों के समर्थन में हूती विद्रोही लाल सागर इलाके में इस्राइली वाणिज्यिक जहाजों को निशाना बना रहे हैं। हालांकि बाद में उन्होंने लाल सागर से गुजरने वाले अन्य देशों को जहाजों को भी निशाना बनाना शुरू कर दिया, जिससे अंतरराष्ट्रीय शिपिंग रूट बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। अब अमेरिका-ब्रिटेन गठबंधन सेना के हमले के बाद हूती विद्रोही अमेरिका और ब्रिटेन के जहाजों पर हमले तेज कर सकते हैं, जिससे इलाके में तनाव बढ़ने की आशंका बढ़ गई है।

About News Desk (P)

Check Also

भूस्खलन में बह गई दो बसों के यात्रियों की खोज जारी, छह दिन बाद मिले 19 यात्रियों के शव

पिछले सप्ताह भूस्खलन से नदी में बह गई दो बस गई थीं। इसमें सवार 54 ...