Breaking News

मंत्रिमंडल विस्तार में अपना दल(एस) ने फंसाया पेंच

लखनऊ।  मोदी 1.0 की सरकार में अपना दल(एस) कोटे से मंत्री रहीं अनुप्रिया पटेल को मोदी 2.0 के मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है। भाजपा ने गठबंधन धर्म को निभाते हुए पांच साल साथ तो रखा पर जब चुनाव की बारी आयी तो पार्टी ने भाजपा के सिम्बल से अपना दल(एस) के दो उम्मीदवारों को संसद भेज दिया।

मंत्री पद के दावेदार हुए सक्रिय

केंद्रीय मंत्रिमंडल में

केंद्रीय मंत्रिमंडल में अनुप्रिया पटेल के शामिल न करने से भाजपा में उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल में उचित स्थान देकर अपना दल(एस) की दिल्ली के निराशा को दूर करने की कोशिशें परवान चढ़ीं हैं। मंत्री पद देने से एक तो डैमेज कंट्रोल होगा तो दूसरी और केंद्रीय मंत्रिमंडल में कई साथी दलों को स्थान नहीं मिलने से जो गलत संदेश गया है उसे भी मिटाने का मौका मिलेगा। अनुप्रिया पटेल के पति और विधान परिषद् सदस्य आशीष पटेल को योगी मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है।

इसे अंतिम रूप दिया जा चुका है लेकिन विभाग को लेकर संगठन में सहमति नहीं बन पायी है। सूत्रों के अनुसार अपना दल(एस) ने प्रदेश में स्वास्थ्य मंत्रालय की डिमांड पेश की है किन्तु भाजपा नेताओं में इसकी सहमति नहीं बन सकी है कारण कि स्वास्थ्य विभाग भाजपा के कद्दावर नेता सिद्धार्थ नाथ सिंह के पास है जो इस विभाग को छोड़ना नहीं चाहते।

वर्तमान में मुख्यमंत्री समेत 22 कैबिनेट और 9 स्वतंत्र प्रभार वाले मंत्री हैं जबकि 13 राज्यमंत्री हैं। जिस तरह 57 विभागों में ही पुनर्गठन की चर्चा है, उससे यह अंदाजा है कि विभागों का बंटवारा भी इसी अनुरूप होगा। भले पुनर्गठन के क्रियान्वयन में थोड़ा और समय लगे लेकिन, उसके प्रस्ताव के अनुरूप मंत्रियों को विभाग आवंटित किए जा सकते हैं।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

मतदान कर्मी समय से पहुंचे रवानगी स्थल, वरना दर्ज होगी एफआईआर: रेखा एस चौहान

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें औरैया। जिले में तीसरे चरण में होने वाले ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *