Breaking News

कोरोना टेस्टिंग प्रक्रिया में तेजी

रिपोर्ट-डॉ. दिलीप अग्निहोत्री

कोरोना से मुकाबले के लिए लोग सरकार के अलावा कई संस्थान अपनी क्षमता के अनुरूप प्रयास कर रहे है। लखनऊ विश्वविद्यालय के फैकल्टी ऑफ इंजीनियरिंग संकाय के ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल ने कोरोना टेस्टिंग प्रक्रिया में तेजी लाने की दिशा में प्रयास किया है। इसके द्वारा डे ऑप्स : कल्चर ट्रांसफॉरमेशन मोरदेन टेक्नोलॉजी विषय पर वेबिनार का आयोजन किया गया। इसमें बी.टेक, एम.सी.ए और बी.सी.ए के छात्रों की आन लाइन सहभागिता रही। वेबिनार मे एच.पी कंपनी बेंगलुरु की स्पेशलिस्ट सॉफ्टवेयर इंजीनियर जैस्मीन कंबोज ने बताया की इस समय आईटी उद्योग में सबसे अधिक ट्रेंडिंग शब्द डे ऑप्स है। शब्द डेवलपमेंट और ऑपरेशन्स दो शब्दों का एक संयोजन है।

यह एक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट अप्रोच है। जिसकी मदद से बेहतर क्वालिटी के सॉफ्टवेयर को जल्दी और अधिक विश्वसनीयता के साथ विकसित किया जा सकता हैं। इसमें सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट के विभिन्न चरणों जैसे निरंतर विकास, निरंतर एकीकरण निरंतर परीक्षण, निरंतर तैनाती और निरंतर निगरानी शामिल हैं। इसकी मदद से एक सिंगल टीम एप्लीकेशन डेवलपमेंट लाइफ साइकिल की पूरी प्रक्रिया विकास, परीक्षण, परिनियोजन और निगरानी का प्रबंधन करने में सक्षम होती है। इसका मुख्य उद्देश्य सिस्टम डेवलपमेंट लाइफ साइकिल की अवधि को कम करना है।

ऑटोमोबाइल्स के डिजिटलाइजेशन में इसकी अहम भूमिका है। चालक रहित कार की परिकल्पना मजबूत नेविगेशन सिस्टम के कारण ही पूरी हो पायी है। कार को रास्ते की जानकारी नेविगेशन सिस्टम द्वारा मिलती है। सही रास्ता चुनने में नेविगेशन सिस्टम को लगातार लेटेस्ट अपडेशन की जरूरत होती है जो इसी ऐप के द्वारा ही संभव है। डिजिटल जगत में डेटा बेहद महत्वपूर्ण है। बैंक, अस्पताल,परिवहन आदि अधिकांश क्षेत्रों अपना डेटा खोने का जोखिम नहीं उठा सकते है। किसी आपदा की स्थिति में वर्कलोड और डेटा को पोर्ट करने की आवश्यकता के समय स्टैंडबाय पर होने के कारण डेटा की रिकवरी में बहुत समय लगता है।

यह ऑटोमेशन ऐसे मामलों में डेटा की तेजी से रिकवरी में मदद करता है। डेव ऑप्स से कोविड नाइन्टीन की टेस्टिंग प्रक्रिया को तेज करने में सहायक है। इसके टूल ओपनट्रोंस की मदद से कोरोना की टेस्टिंग तेज की जा रही है। इस टूल का उपयोग कैलिफ़ोर्निया और यू.एस की लैब में हो रहा है। इस टूल की सहायता से लैब्स की क्षमता चौबीस सौ टेस्ट प्रतिदिन बढ़ गई है।

ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट इंचार्ज डॉ हिमांशु पांडे ने कहा कि मेडिकल क्षेत्र में डेव ऑप्स के ऑटोमेटिंग नेचर के कारण स्वास्थ्य सेवा प्रदाता तेजी से असाध्य रोगों के इलाज ढूंढने में सफल हो पा रहे हैं। इसके व बिग डेटा के उपयोग से कैंसर जैसी असाध्य बीमारियों के लिए तेजी से नए समाधान विकसित करने और चिकित्सीय खर्च को कम करने में सहायता मिल रही है।

About Samar Saleel

Check Also

पर्यावरण संरक्षा जागरूकता के लिए बस्ती स्टेशन पर रेल कर्मियों ने बोर्ड एवं बैनर के माध्यम से यात्रियों को किया जागरूक

लखनऊ। पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल में मिशन लाइफ के तहत पर्यावरण को अनुकूल करने हेतु ...