Breaking News

गुजरात-मध्य प्रदेश के बाद उत्तराखंड और हरियाणा सरकार ने भी 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द की

देश में कोरोना वायरस से उत्पन्न हुई परिस्थितियों की वजह इस साल केंद्रीय सीबीएसई की 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द किए जाने के बाद अब कई राज्यों ने अपने यहां परीक्षाएं रद्द कर दिए हैं। मध्य प्रदेश और गुजरात के बाद उत्तराखंड और हरियाणा सरकार ने भी बुधवार को 12वीं बोर्ड परीक्षा को लेकर बड़ा फैसला किया है। यूपी बोर्ड भी परीक्षा पर विचार करेगा। उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि 12वीं की बोर्ड परीक्षा निरस्त कर दी गई है। उन्होंने यह भी कहा है कि किसी भी छात्र को फेल नहीं किया जाएगा।

बीएसई ने जहां 12वीं की परीक्षा को निरस्त किया तो वहीं अब उत्तराखंड बोर्ड की बारहवीं की परीक्षा को निरस्त कर दिया गया है। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने बताया कि छात्रों के स्वास्थ्य और उनके परिजनों की चिंता को देखते हुए सीबीएसई की तर्ज पर ही उत्तराखंड बोर्ड की भी 12वीं की परीक्षा को निरस्त किया गया है।

वहीं सीबीएसई के बाद मध्यप्रदेश की 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यह फैसला लिया है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्य प्रदेश में 12 वीं बोर्ड की परीक्षाएं इस बार आयोजित नहीं की जाएंगी। जब पूरा देश कोरोना का प्रकोप झेल रहा है ऐसे में बच्चों पर परीक्षा का मानसिक बोझ उचित नहीं है। बच्चों की जिन्दगी हमारे लिए अनमोल है।10 वीं बोर्ड की परीक्षाएं न कराने का निर्णय पहले ही किया गया था। अगर 12 वीं का कोई बच्चा बेहतर परिणाम के लिए परीक्षा देना चाहेगा तो विकल्प खुला रहेगा, कोरोना संकट की समाप्ति के बाद वो 12वीं की परीक्षा दे सकेगा।

इससे पहले गुजरात माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने भी कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द करने का फैसला लिया है। राज्य के शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चूडासमा ने खुद इसकी जानकारी दी है। उधर मंगलवार को सीबीएसई की 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं रद्द की जा चुकी हैं। मंगलवार को पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। प्रधानमंत्रीने मंगलवार को सीबीएसई की बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। सीबीएसई के साथ ही आईसीएसई ने भी 12वीं की बोर्ड परिक्षाएं रद्द करने का निर्णय लिया है। बैठक में निर्णय लिया गया कि बारहवीं कक्षा के छात्रों का परिणाम बेहतर मानदंड के अनुसार समयबद्ध तरीके से घोषित किया जाएगा।

About Samar Saleel

Check Also

वैक्सीन लोड किए बगैर ही युवक को लगा दिया इंजेक्शन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें पटना। बिहार के छपरा में कोरोना टीकाकरण के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *