Breaking News

चुनाव हारने के बाद अब छवि बचाने का खेला शुरू: लोकदल

लखनऊ। लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह ने “आयरन लेडी” ममता बनर्जी को जीत की बधाई दी है और देश के प्रधानमंत्री पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि बंगाल में पूरी ताकत झोंकने के बाद भी प्रधानमंत्री एक मुख्यमंत्री से बुरी तरह हार गया। दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री लफंगों की भाषा और लहजे में ‘दीदी ओ दीदी’ कहते घूम रहे थे। प्रधानमंत्री को अब ये समझने के लिए दूसरा जन्म लेना पड़ेगा कि सरकार पूरे देश की सरकार होती है।

प्रधानमंत्री पूरे देश का होता है। वे अपने गृहमंत्री के साथ 23-24 अप्रैल तक उस समय भी रैली करते रहे जब देश में रोजाना मौतों का आंकड़ा दो से ढाई हजार था। प्रधानमंत्री को सरकार की और खुद अपने पद की मर्यादा को तार-तार कर दिया है। एक राज्य में चुनाव जीतना। पूरी केंद्र सरकार की ताकत झोंकने जैसे भ्रष्टाचार के बाद भी वह मकसद हासिल नहीं हो पाया।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को हराने के लिए जान लगा दी। भारत के प्रधानमंत्री एक मुख्यमंत्री के हाथों विधानसभा चुनाव हार गए इससे शर्म की बात हो ही नही सकती। दिल्ली में विदेशी दूतावासों के अधिकारी लड़कों से आक्सीजन सिलेंडर के लिए मदद मांग रहे हैं। बीजेपी ने साबित किया है कि वह एक ऐसी पार्टी है जो चुनाव जीतने के लिए किसी हद जा सकती है।

उसके लिए लाखों लोगों के जीवन का कोई मोल नहीं है। उसके लिए अपने संवैधानिक दायित्यों का कोई मोल नहीं है। उसके लिए भारत की छवि का कोई मोल नहीं है। उसपर रोजाना लाखो मौतों से कोई फर्क नहीं पड़ता। इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं है कि मोदी की अगुवाई में बीजेपी ने भारत देश की पवित्र भूमि को नरक बना दिया है।

सुनील सिंह ने कहा है कि खबर आ रही है कि मोदी कोरोना पर एक्शन प्लान बनाने के लिए आपात बैठक कर रहे हैं। लगता है चुनाव हारने के बाद अब छवि बचाने का खेला शुरू कर दिया गया ह। उनको सिर्फ अपनी छवि की चिंता है। अब आज से मीडिया कुछ इस टाइप की हेडिंग लगाएगा-‘पीएम मोदी एक्शन में, अब मोदी मंत्र से हारेगा कोरोना।’ ये हर नागरिक के दिमाग में स्पष्ट होना चाहिए कि देश के प्रधानमंत्री से क्या मिला सिर्फ मौत।

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

औरैया में 152 ने जीती कोरोना जंग, दो की मौत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें औरैया। जिले में शनि को दो और संक्रमितों ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *