Breaking News

जन आक्रोश यात्रा को मिल रहा जनता का भरपूर समर्थन : अखिलेश यादव

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में महान दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव देव मौर्य के नेतृत्व में जन आक्रोश यात्रा को जनता का भरपूर समर्थन मिल रहा है। ‘‘महान दल ने ठाना है, सपा सरकार बनाना है‘‘ के नारे के उद्घोष से जनता जनार्दन में अभूतपूर्व उत्साह है। कोरोना काल में सरकार की लापरवाही से आक्सीजन एवं जीवन-रक्षक दवाओं की कालाबाजारी, अस्पतालों में लूट, डीजल-पेट्रोल एवं रसोई गैस की बढ़ती कीमतों के कारण कमरतोड़ मंहगाई, किसानों के साथ अन्याय, जाति और धर्म के आधार पर उत्पीड़न एवं फर्जी एनकाउण्टर, प्रदेश में व्याप्त अराजकता, पुलिसिया उत्पीड़न, भाजपाई गुण्डागर्दी, सरकारी विभागों में खुलेआम भ्रष्टाचार, शिक्षक भर्ती एवं निजी मेडिकल काॅलेजों में पिछड़े-दलित वर्गों का आरक्षण घोटाला, महिलाओं का शोषण और उत्पीड़न, रोजगार विरोधी नीतियों से जनता आक्रोशित है।


महान दल की जन आक्रोश यात्रा 16 अगस्त को पीलीभीत से शुरू हुयी जिसको हरी झण्डी समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने दिखायी। जनाक्रोश यात्रा पीलीभीत के बीसलपुर चीनी मिल से प्रारम्भ होकर, बरखेड़ा, गजरौला होते हुए रामलीला मैदान में समाप्त हुयी। 17 अगस्त को यात्रा बरेली के जहानाबाद से शुरू होकर बहेड़ी, भोजीपुर, बिथरी चैनपुर होते हुए आंवला के केशव धाम में समाप्त हुयी।

18 अगस्त को बदायूं में बड़ानवादा उठी मोड़ से शुरू होकर रसूलपुर, बिनावर, खेड़ा नवादा, लालपुर चौराहा, तिलहरी, सैदपुर, रिसौलीगंज, परौली, मुथनी, अम्बिकापुर चौराहा, सिरसौल, संजरपुर बरी बाईपास, उझानी, खिरिया, ककोड़ा होते हुये कादर चौक पर समाप्त हुयी। 19 अगस्त को जनाक्रोश यात्रा का कछला पुल से नगरिया होते हुए कासगंज से नदरई में समापन हुआ। यह यात्रा 27 अगस्त 2021 तक जारी रहेगी। इसका समापन 27 अगस्त 2021 को इटावा में होगा।

भाजपा हटाओं-प्रदेश बचाओं अभियान के तहत जनवादी पार्टी सोशलिस्ट के संस्थापक डाॅ. संजय चौहान के नेतृत्व में जनक्रांति यात्रा 16 अगस्त को बलिया से शुरू हुयी। जनक्रांति यात्रा को नेता विरोधी दल श्री राम गोविन्द चौधरी ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। यह यात्रा बलिया समाजवादी पार्टी जिला कार्यालय से शुरू हुयी। सिकन्दरपुर में जनवादी पार्टी के कार्यक्र्ताओं की बैठक में अपार भीड़ उमड़ी। उसके बाद बलुआ बंगला में आयोजित चौहान सम्मेलन में एक मत से 2022 में अखिलेश यादव को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाने का संकल्प लिया गया।

जनक्रांति यात्रा का गड़वार, नगरा, रसड़ा में भव्य स्वागत कार्यक्रम हुआ। 17 अगस्त को नदौली मऊ बार्डर और रतनपुरा में जनता ने उत्साह के साथ प्रदेश में सरकार बदलने के लिए यात्रा को समर्थन दिया। 18 अगस्त को गाजीपुर में जनक्रांति यात्रा के तहत चौहान सम्मेलन के आयोजन स्थल पर जिला प्रशासन ने मनमानी करते हुए कार्यक्रम कराने पर रोक लगा दिया। लेकिन कार्यकर्ताओं के जोश को देखते हुए चौहान सम्मेलन दूसरी जगह आयोजित किया गया। उपस्थित भारी भीड़ ने भाजपा को सत्ता से बेदखल करने के लिए जी-जान से जुटने का संकल्प लिया।

गाजीपुर में समाजवादी पार्टी कार्यालय समता भवन में जनक्रांति यात्रा का स्वागत करने के लिए हजारों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे। यात्रा का नंदगंज, सहेड़ी, सैदपुर, सिधौना, कौड़िहार और कैथी में भव्य स्वागत हुआ। 19 अगस्त को जनक्रांति यात्रा का बनारस की जनता ने विशाल स्वागत एवं अभिनंदन किया। सारनाथ के चौहान धर्मशाला में चौहान समाज के वरिष्ठ नागरिकों, महिलाओं, जनप्रतिनिधियों ने समाजवादी सरकार बनाने के लिये बूथस्तर तक सक्रियता बढ़ाने का संकल्प लिया। यह यात्रा 31 अगस्त 2021 को अयोध्या में समाप्त होगी।

जनाक्रोश और जनक्रांति यात्रा में जनता की भागीदारी ने यह स्पष्ट कर दिया कि उत्तर प्रदेश से भाजपा की विदाई तय है। भाजपा के जन आशीर्वाद यात्रा को जनता ने खारिज कर दिया है। यूपी की जनता भाजपा सरकार के असली चरित्र को जान गयी है। जनता का भरोसा एवं विश्वास अखिलेश यादव के नेतृत्व पर है।

About Samar Saleel

Check Also

प्रधानमंत्री की अमेरिका यात्रा

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा कई सन्दर्भो ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *