Breaking News

आपदा प्रबंधन में सेना की सहभागिता

डॉ. दिलीप अग्निहोत्री

वर्तमान संकट में कोरोना योद्धा अपने कर्तव्यों का बखूबी निर्वाह कर रही है। इसमें चिकित्सा सेवा से जुड़े लोगों के साथ ही सेना भी शामिल है।ऑक्सीजन तथा अन्य मेडिकल सामग्री की आपूर्ति में वायु सेना सक्रिय है। देश के अनेक क्षेत्रों में सैन्य विशेषज्ञों ने अल्प समय में ही सभी सुविधाओं से युक्त कोविड़ अस्पतालों के निर्माण किया। इससे अन्य अस्पतालों का दबाब कम हुआ है। बीमार लोगों को उपचार उपलब्ध हो रहा है। कोरोना के वर्तमान संकट के दौरान भी सेना के तीनों अंग अपने अपने स्तर से योगदान दे रहे है।

सशस्त्र सेनाओं ने इस महामारी से युद्ध स्तर पर निपटने की खातिर आप्रेशन को-जीत प्रारंभ किया तथा अपने अपने क्षेत्रों में रहते हुए राज्य सरकारों और प्रशासन की मांग के अनुसार तुरंत ही एक्शन मोड पर आकर दिन-रात एक कर हर किस्म की सहायता प्रदान करने में व्यस्त हो गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले महीने की शुरुआत में सबसे पहले वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर के भदौरिया से मुलाकात की। इस दौरान ऑक्सीजन व अन्य सामग्रियों की न्यूनतम समय में आपूर्ति पर विचार किया गया था। जिसको वायु सेना पूरा कर रही है।

कोविड़ अस्पतालों के निरीक्षण

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने डीआरडीओ द्वारा लखनऊ में भी पांच सौ बेड का कोविड़ चिकित्सालय का निरीक्षण किया। उनके साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह भी थे। इसको भी अल्प समय में बनाया गया था। इसमें वेंटिलेटर युक्त डेढ़ सौ बेड तथा शेष बेड ऑक्सीजन सुविधा युक्त हैं। योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ के अवध शिल्प ग्राम में भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी कोविड हॉस्पिटल का लोकार्पण किया। इस कोविड हाॅस्पिटल के होल्डिंग एरिया,आईसीयू वन आईसीयू टू तथा ऑक्सीजन बेडेड वाॅर्ड एवं फार्मेसी आदि है। इसका निर्माण उत्तर प्रदेश सरकार और डीआरडीओ ने मिलकर किया है। सेना के चिकित्सकों की देखरेख में चल रहे इस हॉस्पिटल में कोविड के मरीज़ों का उपचार पिछले सप्ताह से ही चल रहा है। राजनाथ सिंह व योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ हज हाउस में एचएएल द्वारा बनाए गए कोविड का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि यह कोविड हॉस्पिटल निश्चित रूप से कोरोना संक्रमित मरीजों के समुचित उपचार हेतु सुलभता प्रदायक होगा।

विविध राहत कार्य

राजनाथ सिंह ने कुछ दिन पहले समाचार पत्रों में लेख लिखा था। इसमें उन्होंने वर्तमान संकट के दौरान सेना के योगदान का उल्लेख किया था। आर्म फोर्स मेडिकल सर्विस,रक्षा खोज एवं विकास संगठन डी.आर.डी.ओ. कैंटोनमैंट बोर्ड तथा कुछ और रक्षा विभागों ने कोविड देखभाल के लिए मैडीकल सहूलियतों की तुरंत सप्लाई के लिए अस्पतालों और बाकी अन्य व्यवस्था की है। मैडीकल ऑक्सीजन की सप्लाई में वृद्धि करने के लिए वायुसेना और नौसेना की ओर से हजारों मीट्रिक टन की समर्था वाले कंटेनर्स एयर लिफ्ट किए जा रहे हैं। रक्षा मंत्री ने सशस्त्र बलों के कमांडरों को आपातकाल वित्तीय शक्तियां भी प्रदान की हैं। ताकि वे क्वारंटाइन सहूलियतों,उपकरणों की खरीद में बिलंब ना हो।

सियासत नहीं सुझाव

लखनऊ में राजनाथ सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार और डीआरडीओ ने मिलकर लखनऊ में बहुत कम समय में अटल बिहारी वाजपेयी कोविड हॉस्पिटल तैयार किया है। सेना के चिकित्सकों की देखरेख में चल रहे इस हॉस्पिटल में कोविड के मरीज़ों का उपचार पिछले सप्ताह से ही चल रहा है। आज वहाँ जाकर मौजूदा स्थिति की जानकारी प्राप्त की। इस हॉस्पिटल को तैयार करने में उत्तर प्रदेश सरकार,भारतीय सेना और डीआरडीओ की महती भूमिका रही है।
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने विपक्ष का नाम लिए बिना कहा कि यूपी के कोरोना प्रबंधन की डब्ल्यूएचओ ने भी तारीफ की है। लोगों को संकट के इस काल में आलोचना करने के बजाए सुझाव देना चाहिए।

योगी की प्रशंसा

राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदम सराहनीय हैं। इसके लिए खुद सीएम योगी आदित्यनाथ ने जो कदम उठाए हैं उसकी जितनी प्रशंसा की जाए कम है। उन्होंने बेहतरीन काम किया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी योगी आदित्यनाथ के आपदा प्रबंधन को सराहनीय बताया है। राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुन‍िया में जो राजनयिक संबंध बनाए हैं,उसी का पर‍िणाम है क‍ि आज जब भारत पर संक्रमण काल हैं तो सभी तरफ से मदद करने को तैयार हैं।

About Samar Saleel

Check Also

उत्तर प्रदेश और दिल्ली का सफर होगा महंगा, इन रूटाें पर होगा इतना किराया

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें यूपी ने रोडवेज बसों का किराया बढ़ा दिया ...