Breaking News

सामने शारीरिक संबंध बनाने को कहा, प्राइवेट पार्ट में उड़ेली फेविक्विक की बोतल

हत्या मामले में गिरफ्तार तांत्रिक भालेश कुमार ने पूछताछ में चौंकाने वाला खुलासा किया है। 55 साल के तांत्रिक ने प्रेमी जोड़े के प्राइवेट पार्ट में फेविक्विक डालकर दोनों को मार डाला था।

राजस्थान के उदयपुर से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। जिले के #केलाबावाड़ी इलाके में प्रेमी जोड़े की हत्या मामले में गिरफ्तार तांत्रिक भालेश कुमार ने पूछताछ में चौंकाने वाला खुलासा किया है। 55 साल के तांत्रिक ने प्रेमी जोड़े के प्राइवेट पार्ट में फेविक्विक डालकर दोनों को मार डाला था।

उदयपुर पुलिस ने 18 नवंबर को राजस्थान के उदयपुर में केलाबावाड़ी के फॉरेस्ट एरिया से महिला और पुरुष की न्यूड डेड बॉडी बरामद की थी। दोनों की पहचान 30 वर्षीय शिक्षक राहुल मीणा और 28 वर्षीय सोनू कुंवर के रूप में हुई। दोनों की जातियां अलग-अलग थी और हत्या के तरीकों को देखते हुए पहले पुलिस को जांच की शुरुआत में ऑनर किलिंग का मामला होने का संदेह था। हालांकि, पुलिस ने जब तांत्रिक को गिरफ्तार किया तो मामले का खुलासा होने लगा और उसने कपल की हत्या की बात स्वीकर कर ली।

राहुल की पहले ही शादी हो चुकी थी। जानकारी के मुताबिक, राहुल और सोनू के परिवार भादवी गुदाह में इच्छापूर्ण शेषनाग भावजी मंदिर में तांत्रिक के पास जाते थे और यहीं दोनों की मुलाकात हुई थी। मुलाकात के बाद दोनों के बीच शारीरिक संबंध बन गए, जिसकी वजह से राहुल का अपनी पत्नी से अक्सर झगड़ा होने लगा। इसके बाद उसकी पत्नी ने गिरफ्तार तांत्रिक भालेश कुमार से मदद मांगी।

पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार किया गया तांत्रिक भालेश पिछले सात-आठ साल से यहां रह रहा है और लोगों के लिए ताबीज बनाता था। तांत्रिक खुद मृतका सोनू के करीब हो गया था, जिसके चलते उसने राहुल की पत्नी को दोनों के अवैध संबंधों की जानकारी दी थी।

जल्द ही राहुल को पता चला कि #तांत्रिक ने उसकी पत्नी को उसके और सोनू के रिश्ते के बारे में बताया था। इसके बाद राहुल और सोनू ने तांत्रिक को दुष्कर्म का झूठा केस दर्ज कर बदनाम करने की धमकी दी। धमकी के बाद तांत्रिक को डर हो गया कि झूठे आरोप की वजह से वह वर्षों से अपने लिए बनाई गई प्रतिष्ठा को खो सकता है, इसलिए तांत्रिक ने उनसे बदला लेने के लिए एक साजिश रची।

पुलिस ने बताया कि तांत्रिक ने #फेविक्विक की करीब 50 ट्यूब खरीदी और उन्हें एक बोतल में डाल दिया। 15 नवंबर की शाम को उसने राहुल और सोनू को जंगल के सुनसान इलाके में बुलाया और अपने सामने शारीरिक संबंध बनाने को कहा। पुलिस के मुताबिक, जब दोनों हरकत में थे तो तांत्रिक ने उनके ऊपर फेवीक्विक की बोतल उड़ेल दी।

पुलिस ने कहा कि तांत्रिक का मकसद था कि राहुल और सोनू की उस वक्त हत्या की जाए जब दोनों शारीरिक संबंध बना रहे हो, ताकि जब लोगों को उनके शव मिले तो वे आपत्तिजनक स्थिति में हों और वह आसानी से भाग निकले।

पुलिस ने कहा कि फेवीक्विक डालने की वजह से राहुल और सोनू काफी देर तक एक-दूसरे से चिपके रहे। दरअसल, पुलिस ने बताया कि एक-दूसरे से दूर होने की कोशिश में उनकी चमड़ी उखड़ने लगी। राहुल का प्राइवेट पार्ट उसके शरीर से अलग कर दिया गया और सोनू के प्राइवेट ऑर्गन में भी चोटें आईं।

पुलिस ने बताया कि इसी दौरान तांत्रिक ने राहुल और सोनू दोनों पर हमला कर दिया। उसने राहुल का गला रेत दिया और चाकू से गोदकर सोनू की हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद वह मौके से फरार हो गया।

उदयपुर के पुलिस अधीक्षक (एसपी) विकास कुमार ने कहा कि पुलिस को शव मिलने के बाद उन्होंने इलाके के आसपास लगे 50 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को स्कैन किया और पूछताछ के लिए लगभग 200 लोगों को हिरासत में लिया।

जांच के दौरान मिले सबूतों के आधार पर पुलिस को तांत्रिक भालेश कुमार पर दंपति की मौत में भूमिका होने का संदेह था। उसे हिरासत में ले लिया गया और पूछताछ के दौरान उसने हत्या करना कबूल किया। पुलिस ने उसे अदालत में पेश किया, जहां से उसे तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।

पुलिस को भालेश कुमार के फोन पर सोनू से बात करने के सबूत मिले हैं और इस संबंध में उससे और पूछताछ की जाएगी। पुलिस मामले में प्रेम त्रिकोण के एंगल से भी जांच करेगी।

About News Room lko

Check Also

युद्ध मुक्त हो यह युग

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें इस समय दुनिया में रूस यूक्रेन युद्ध का ...