Breaking News

बसपा को लगा बड़ा झटका, बरेली और आंवला लोकसभा के प्रत्याशियों का नामांकन निरस्त

बरेली। उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी को बड़ा झटका लगा है।आंवला और बरेली लोकसभा के बसपा प्रत्याशियों का नामांकन निरस्त हो गया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक बरेली लोकसभा से बसपा प्रत्याशी छोटेलाल गंगवार के कागजात में कमी मिलने से जिला निर्वाचन अधिकारी ने नामांकन निरस्त कर दिया।

बच्चे समाज के भविष्य, इनको अनुशासित व अपने कार्य के प्रति जिम्मेदार बनाएं- विकास सिंह

आंवला लोकसभा से बसपा के दो प्रत्याशी होने से आबिद अली का पर्चा निरस्त कर दिया गया। दूसरे प्रत्याशी सत्यवीर सिंह के नामांकन की जांच चल रही है। बसपा ने सत्यवीर सिंह को अपना प्रत्याशी मानने से इनकार कर दिया है। इसलिए उनका भी नामांकन रद्द होना लगभग तय है।

बसपा को लगा बड़ा झटका, बरेली और आंवला लोकसभा के प्रत्याशियों का नामांकन निरस्त

बसपा मुखिया मायावती ने पत्र जारी कर कहा कि आंवला से आबिद अली उनकी पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी हैं। बसपा के आंवला जिलाध्यक्ष राजीव कुमार सिंह ने रिटर्निंग ऑफिसर सीडीओ को पत्र लिखकर मामले की शिकायत की है। उन्होंने फर्जी बसपा प्रत्याशी सत्यवीर सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की मांग की है।

मथुरा में त्रिकोणीय मुकाबले में फंस गईं हेमा मालिनी, टूट सकता है हैट्रिक का सपना

आंवला के बसपा प्रत्याशी आबिद अली ने इस सब के पीछे सपा प्रत्याशी नीरज मौर्य का हाथ होने का आरोप लगाया है। आबिद ने कहा कि ये सब सपा प्रत्याशी नीरज मौर्य का षड्यंत्र है। हम इस मामले को लेकर हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट तक जाएंगे। बसपा कार्यकर्ताओं ने नीरज मौर्य के खिलाफ नारेबाजी भी की।

फर्जी सिंबल और लेटर को लेकर बसपा के कथित प्रत्याशी सत्यवीर सिंह के खिलाफ बसपा जिलाध्यक्ष ने कोतवाली में तहरीर दी है। बसपा मुखिया मायावती के निर्देश के बाद बसपा नेता कोतवाली में डटे रहे। पुलिस ने जांच के बाद मुकदमा दर्ज करने का आश्वासन दिया है। बसपा का कहना है कि पार्टी ने आबिद अली को अधिकृत प्रत्याशी घोषित किया है।

अपनी पहचान की तलाश में है ‘रुस्लान’, आयुष शर्मा स्टारर फिल्म का ट्रेलर कर रहा है दर्शकों को इंप्रेस

बसपा जिलाध्यक्ष राजीव कुमार सिंह का आरोप है कि सत्ता के दवाब में यहां के प्रशासनिक अधिकारी काम कर रहे हैं। हमारी बात नहीं मानी जा रही है। हमने संबंधित अधिकारियों को इस संबंध में शिकायत की। सतबीर ने फर्जी तरीके से सिंबल लगाकर नामांकन दाखिल किया है। सतबीर बसपा के न तो प्रत्याशी हैं और न ही वो कभी पार्टी के सदस्य रहे हैं। वो पूरी तरह से फर्जी प्रत्याशी हैं।

About Samar Saleel

Check Also

पर्यावरण संरक्षा जागरूकता के लिए बस्ती स्टेशन पर रेल कर्मियों ने बोर्ड एवं बैनर के माध्यम से यात्रियों को किया जागरूक

लखनऊ। पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल में मिशन लाइफ के तहत पर्यावरण को अनुकूल करने हेतु ...