Breaking News

पुष्पक विमान प्रेरणा का व्यापक विकास

डॉ. दिलीप अग्निहोत्री

पुष्पक विमान प्राचीन भारत के ज्ञान विज्ञान का प्रतीक है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके व्यापक विचार का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि कुशीनगर में जापान,सिंगापुर,श्रीलंका के विमान आने की कल्पना भी किसी ने नहीं की थी। भगवान राम ही पुष्पक विमान से आए थे,अब हर नागरिक आ जा सकता है। पूरे प्रदेश में एयर और रोड कनेक्टिविटी का शानदार विस्तार हुआ है। पहले गोरखपुर से एक भी हवाई सेवा नहीं थी, आज मुंबई,दिल्ली समेत आठ प्रमुख शहरों के लिए यहां से फ्लाइट है। कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय विमान सेवा शुरू होने जा रही है। पहले गोरखपुर से लखनऊ जाने का एक ही मार्ग था,अब लिंक एक्सप्रेस वे के जरिए एक और विकल्प मिल रहा है। उतनी ही दूरी को मात्र तीन घण्टे में पूरा किया जा सकता है। फोरलेन सड़कों के होने से आज गोरखपुर से नेपाल की यात्रा महज डेढ़ घण्टे में पूरी हो जाती है। अब किसी मंत्री व विधायक के घर तक ही सड़क नहीं बन रही बल्कि हर व्यक्ति को इसका लाभ मिल रहा है। क्योंकि हमारे लिए हर व्यक्ति का वही मूल्य है।

लोकार्पण व शिलान्यास

सरकार विकास संकल्प पर निरंतर कार्य कर रही है। योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में करोड़ो  रुपये विकास परियोजनाओं का लोकार्पण शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि विकास की परियोजनाओं से बुनियादी सुविधा व  प्रदेश आर्थिक समृद्धि बढ़ेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज प्रदेश में ऐसा कोई जनपद,लोकसभा, विधानसभा,विकास खण्ड या गांव नहीं है जहां विकास की बड़ी परियोजनाओं का लाभ न मिला हो।

संयंत्र के सुधरेगी तस्वीर

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि तीन दशक से बंद गोरखपुर का खाद कारखाना जुलाई तक पूर्ण हो जाएगा। इससे किसानों को सही,सस्ती व गुणवत्तापूर्ण खाद मिलेगी तो नौजवानों को बड़ी संख्या में रोजगार व नौकरी। खाद कारखाने से जब धुंआ उठेगा तो नए भारत की तस्वीर में अपना गोरखपुर चमकता हुआ दिखाई देगा। खाद कारखाने में युवाओ को कौशल विकास का प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार उन्मुख बनाया जाएगा।

औद्योगीकरण पर प्रगति

पहले यूपी की गिनती बीमारू प्रदेश के रूप में होती थी। यहां निवेश के लिए उद्योगपति उत्साहित नहीं रहते थे। चार वर्ष में स्थिति बदल गई है। हजारों करोड़ के निवेश प्रस्तावों पर कार्य प्रगति पर है।  पिपराइच में लगी पचास हजार कुंतल गन्ना प्रतिदिन पेराई की क्षमता वाली चीनी मिल चल रही है।

प्लास्टिक पार्क 

गोरखपुर में शीघ्र ही प्लास्टिक पार्क स्थापित होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पार्क में सौ से अधिक प्लास्टिक यूनिटस लगेंगी। इसमे पच्चीस हजार से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा। कुछ समय पहले नरेंद्र मोदी ने टॉय फेस्टिवल का शुभारंभ किया था,प्लास्टिक पार्क खिलौना उद्योग के क्षेत्र में क्रांति ला सकता है।

गांव गरीब कल्याण

मुख्यमंत्री ने पिछली सरकारों पर गांव,गरीब की उपेक्षा का आरोप लगाया। कहा कि इनका इलाज पिछली सरकारों के एजेंडे में नहीं था। लोगों को तीन घण्टे भी बिजली नहीं मिल पाती थी,मोबाइल की बैटरी तक चार्ज नहीं होती थी। आज गांव गांव बिजली की कमी नहीं है। गोरखपुर बस्ती मंडल में हर साल इंसेफेलाइटिस से हजारों बच्चों की असमय मौत हो जाती थी। मरने वाले नब्बे प्रतिशत बच्चे अल्पसंख्यक व दलित होते थे। लेकिन इन्हें अपना वोट बैंक बनाने वाले मौन रहते थे। वर्तमान सरकार ने इस समस्या का समाधान किया है।

चिकित्सा सुविधा

योगी ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए हमने  प्रधानमंत्री से में एम्स मांगा था। 2016 में नरेंद्र  मोदी ने इसका शिलान्यास किया। इस वर्ष के अंत मे विश्व स्तरीय सुविधाओं वाले एम्स का लोकार्पण हो जाएगा।  एम्स बनने तक इलाज की बेहतरीन सुविधा के लिए प्रधानमंत्री ने मेडिकल कॉलेज में सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक की सौगात दी जहां कोरोना काल में कोविड रोगियों की शानदार चिकित्सा सुविधा मिली। यहां हर बेड के साथ वेंटिलेटर है। जल्द ही गोरखपुर में आयुष विश्विद्यालय की स्थापना भी होने जा रही है।

पर्यटन प्रगति

योगी आदित्यनाथ ने बीस साल पहले गोरखपुर की पहचान अपराध के केंद्र के रूप में थी। यहां के रामगढ़ ताल में शहर की गंदगी गिरती थी। आज रामगढ़ ताल खूबसूरती के लिए जाना जाता है। सार्वजनिक कार्यक्रम के लिए जगह नहीं होती थी और आज महंत दिग्विजय नाथ पार्क और चंपा देवी पार्क जैसे दो बड़े सार्वजनिक स्थान हैं। इसी माह यहां बड़ी क्षमता का एक अत्याधुनिक प्रेक्षागृह समर्पित करने जा रहे हैं। जिस राजघाट पर गंदगी देख लोगों का मन खिन्न होता था आज वहां हर प्रकार की सुविधा के साथ शानदार प्लेटफार्म और स्नान की बेहतरीन व्यवस्था है। लाखों की संख्या में लोग बाबा गोरखनाथ की धरती पर आस्था निवेदित आते हैं।  गोरखपुर बौद्धिस्ट पर्यटन व सनातन संस्कृति के अनुनायियों का प्रमुख केंद्र है। यहां से होकर ही पर्यटक कुशीनगर,कपिलवस्तु, श्रावस्ती,अयोध्या, मगहर और काशी आते जाते हैं। ऐसे में यहां रोजगार की बड़ी संभावनाएं हैं। स्थानीय युवक इन पर्यटकों के लिए गाइड का कार्य कर सकते हैं।

स्वनिधि व गौ संरक्षण

योगी आदित्यनाथ ने पटरी व्यापारियों के व्यवस्थापन का भी लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इससे पटरी व्यापारियों के व्यवस्थित पुनर्वास के साथ ही सड़कों पर अतिक्रमण की समस्या दूर होगी।  पटरी व्यापारियों के व्यवस्थापन के लिए नगर पंचायत स्तर पर भी कार्ययोजना बनाई जाएगी। पटरी व्यापारियों को पीएम स्वनिधि योजना से भी जोड़कर सस्ते दर पर लोन दिलाया गया है। उन्हें डिजिटल मोड़ में लाकर अतिरिक्त लाभ भी मिलेगा। अधिकारियों को हर न्याय पंचायत में गो आश्रय स्थल के निर्माण की कार्ययोजना बनाने और उसमें एनजीओ को जोड़ने का निर्देश भी दिया। साथ ही बताया कि उनकी सरकार ने निराश्रित गोवंश के पालन के लिए हर इच्छुक को नौ रुपए प्रतिमाह धनराशि उपलब्ध कराई है। कुपोषित परिवारों के लिए एक दुधारू गाय प्रतिमाह नौ सौ रुपए पशु के भरण पोषण के लिए देने का कार्य किया है।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

यूपी में 20 मई तक के लिये स्थगित हुई हाईस्कूल व इंटर की परीक्षायें, यूनिवर्सिटी के एग्जाम भी टले

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने यूपी बोर्ड ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *