Breaking News

बिधूना : विद्यालय के आस-पास भरा गंदा पानी, ज्यादा बारिश के समय विद्यालय के अंदर घुस जाता पानी, पानी में घुसकर या दीवारों के सहारे विद्यालय जाते हैं बच्चे

औरैया/बिधूना। तहसील क्षेत्र के ग्राम पुरवा भारामल में प्राथमिक विद्यालय के गेट सामने जल निकासी के इंतजाम न होने की वजह से विद्यालय के आस-पास गंदा जल भराव रहता है। बरसात के समय स्थित बहुत खराब हो जाती है। ज्यादा बारिश होने पर विद्यालय के अंदर पानी भर जाता है। बच्चों को गंदे पानी से होकर विद्यालय आना-जाना पड़ता हैं। जिससे बच्चों को खासी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। जिम्मेदार लोग समस्या की ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं।

अछल्दा ब्लॉक के ग्राम पुर्वा भारामल में प्राथमिक विद्यालय के आस-पास गंदा पानी भरा हुआ है। जल निकासी के पुख्ता इंतजाम न होने और बारिश का मौसम होने कारण विद्यालय में भी पानी भर जाता है। छात्रों को घुटनों तक पानी में घुसकर या दीवार का सहारा लेकर विद्यालय तक पहुंचना होता है। इससे छात्रों को बहुत परेशानी हो रही है। जलभराव के कारण बीमारी फैलने का भी खतरा बढ़ गया है। लेकिन जिम्मेदार अभी तक मौन हैं।

विद्यालय में 39 बच्चे व तीन लोगों का स्टाफ – प्राथमिक विद्यालय पुर्वा भारामल में 39 छात्र/छात्राओं का पंजीकरण है। यहां पर प्रधानाध्यापक गुफरान अहमद के अलावा पवन कुमार सहायक अध्यापक व प्रेमलता शिक्षा मित्र के रूप में नियुक्त हैं।

अभिभावक व ग्रामीणों ने लगाये आरोप – बच्चों के अभिभावकों व ग्रामीणों ने बताया कि नालियों की सफाई समय से नहीं होने की वजह से नालियां चोक हो जाती है। जिसके चलते पानी नहीं निकल पाता है। अभिभावक गायत्री देवी ने बताया कि कोरोना काल में नालियों की सफाई हुई थी। तब से अभी तक नालियों की सफाई नहीं हुई है। सफाई कर्मी समय से नहीं आता है। जब आता भी है तो कुछ खास लोगों के दरवाजे की सफाई करके चला जाता है। ग्रामीण तिलक सिंह ने बताया कि सड़क नीचे में है और नालियां न होने से पानी का निकास नहीं है। जिस कारण मुख्य सड़क पर पानी भरा रहता है। बच्चों को स्कूल जाने के लिए पानी से गुजरना पड़ता है।

ग्रामीण नीलू चौहान ने कहा कि कई बार प्रधान से शिकायत करने के बाद भी जल निकासी की उचित व्यवस्था नहीं हो पा रही। इस जल भराव की वजह से बच्चों को स्कूल जाने के लिए पानी से होकर गुजरना पड़ता है। ग्रामीण निशार खान का कहना है कि रास्ते में घुटनो तक पानी भरा है। राहगीरों को निकलने में खासी दिक्कत होती है। कई बार शिकायत हुई पर समस्या का समाधान नहीं हो रहा है। ग्रामीण मान सिंह ने कहा कि इस जलभराव के कारण निकलने में तो परेशानी है ही। मगर इससे जो बीमारियां फैलेगी उनके परिणाम भयानक होंगे। इसलिए मैं चाहता हूँ कि जल्द से जल्द इस जल भराव के संकट का समाधान निकाला जाए।

प्रधानाध्यापक बोले प्रधानाध्यापक गुफरान अहमद ने बताया कि मेरे द्वारा इस समस्या के समाधान के लिए प्रधान आरती देवी समेत उच्चाधिकारियों को लिखित रूप से अवगत कराया गया है। पर अभी तक समस्या का कोई समाधान नही हो पाया है। मैं बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित रहता हूँ, कही बीमारियां और संक्रमण न फैलने लगे। समस्या के संबंध में वार्ता हेतु प्रधान पति शाक्येन्द्र कुमार को फोन मिलाया तो बंद था।

समस्या के संबंध में प्रधान पति शाक्येन्द्र कुमार ने बताया कि सड़क पीडब्ल्यूडी की है। उन्होंने नाली बनवाने का प्रयास किया मगर किसी की जगह में नाली बनवाने का विरोध होता है, तो कैसे बनवायी जा सकती। बताया कि प्रधानाध्यापक के पत्र को उच्चाधिकारियों के पास भेज कर समस्या का समाधान कराने हेतु कहा गया है।

रिपोर्ट-संदीप राठौर चुनमुन

About Samar Saleel

Check Also

पूर्वाेत्तर रेलवे अन्तर विभागीय आफीसर्स बैडमिंटन प्रतियोगिता के फाइनल में मंडल रेल प्रबंधक ने विजेताओं को किया पुरस्कृत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। पूर्वाेत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल क्रीडा संघ के ...