Breaking News

महिला व उसके रिश्तेदारो की पिटाई से बुजुर्ग की हुई मौत

6 माह पूर्व खेलते समय बुजुर्ग के नाती द्वारा फेंका गया कंकड महिला के पुत्र की आंख में लगा, बुजुर्ग चित्रकूट से करा रहा था उपचार

बिधूना। कोतवाली क्षेत्र के गांव भटौली में 6 माह पूर्व बच्चों के खेल-खेल में एक बच्चे के आंख में लगे कंकड ने सोमवार को झगड़ा का रूप ले लिया। दो पक्षों के बीच हुए झगड़े में महिला व उसके रिश्तेदारों ने एक वृद्ध व्यक्ति को इतना पीटा कि जब वह दवा लेने थाने सामने मेडीकल स्टोर पर गया तो वहीं गिर पड़ा। आसपास के लोग अस्पताल ले गये तो डाटरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इससे पूर्व सुबह महिला की ही शिकायत पर पुलिस ने मृतक के पुत्र व दो दामादों को थाने में बैठाया लिया था।

जानकारी के अनुसार भटौली गांव निवासी जगदीश (62) पुत्र लक्ष्मण शाक्य के बड़ी पुत्री रीना का पुत्र रोहित एवं आरोपी महिला साधना का पुत्र प्रतीक 6 माह पहले गांव में खेल रहे थे। खेलते समय रोहित ने एक कंकड़ फेंका जो प्रतीक की आंख में जाकर लगा। जिससे प्रकीक की आंख में काफी चोट आयी थी। जिसके बाद रीना अपने बेटे को लेकर ससुराल सौरिख चली गयी थी।

इधर जगदीश आसपास के डाक्टरों को दिखाने के बाद प्रकीक का चित्रकूट से इलाज करा रहा था। बताया कि डाक्टरों ने प्रतीक की आंख का आपरेशन करने को कहा था। जिसके लिए साधना जगदीश से एक लाख रूपए मांग रही थी। जिस पर जगदीश इतने ज्यादा रूपए देने में आनाकानी कर रहे थे।

उधर श्राद्ध के मौके पर रीना अपने पति मुकेश व उसकी बहन रीता अपने पति अरविन्द के साथ गांव आयी हुई थी। जहां पर सोमबार की सुबह मुकेश व अरविन्द के रास्ते में निकले रास्ते में निकलते समय साधना उसके बहनोई व दो अन्य लोगों ने मिलकर मुकेश व अरविन्द के साथ्ज्ञ चप्पलों से पिटाई शुरू कर दी।

इस बात की जानकारी होते ही जगदीश उनका बेटा मकरन्द व बहू नीरज मौके पर पहुंच गये और अपने रिश्तेदारों को किसी तरह बचाया। इसी बीच साधना उसके बहनोई व दो अन्य ने मिलकर जगदीश, मकरन्द व नीरज के साथ जमकर मारपीट कर दी। जिससे जगदीश के सीने आदि में गंभीर चोटें आ गयी। मारपीट करने के बाद महिला साधना ने थाने में आकर उल्टी जगदीश, उसके पुत्र व दामादों की शिकायत कर दी कि वह उसके साथ मारपीट कर रहे हैं।

शिकायत के आधार पर पुलिस गांव गयी और गांव से मकरन्द व उसके दो बहनोई मुकेश व अरविन्द को थाने लाकर बंद कर दिया। इस बीच थाने में भी महिला ने एक लाख रूपए की मांग की। उधर मारपीट से गंभीर चोटिल जगदीश भी कोतवाली के बाहर पहुंच गया। इसी दौरान उसे दिक्कत लगी तो वह थाने के सामने स्थित एक मेडीकल पर दवा लेने जा रहा था तभी वहीं बेहोश होकर गिर गया। बुजुर्ग के गिरते ही वहां पर भीड़ लग गयी। भीेड़ देख पुलिस आनन-फानन बुजुर्ग को उठाकर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले गयी। जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पिता की मौत के बाद पुलिस ने मकरन्द को छोड़ दिया। जो रोता हुआ अस्पताल पहुंचा। जहां पर उसने आरोप लगाया कि साधना उसके बहनोई दो अन्य की मारपीट से उसके पिता की मृत्यु हो गयी है। कहा कि पुलिस ने हमारी कोई बात नहीं सुनी। मुझे व मेरे दोनों बहनोईयों को पकड़कर थाने ले आयी। जो अभी भी थाने में बैठे हैं। कहा कि साधना उससे एक लाख रूपया मांग रही थी। हम लोग शुरू से इलाज करा रहे थे। गरीब है इतना पैसा कहां से देते।

बुजुर्ग की मौत की जानकारी होते ही परिजनों में कोहराम मच गया। पत्नी कौशिल्या देवी, पुत्रियों रीना व रीता, बहू नीरज आदि का रो-रोकर बुरा हाल हो रहा है। उधर पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस संबंध में कोतवाली प्रभारी जीवाराम ने बताया कि दोनों का आपसी विवाद चल रहा था। उसी में आज सुबह विवाद हुआ जिसमें पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया था और उनसे पूछताछ कर रही थी। तभी दोपहर बाद एक वृद्ध की कोतवाली के सामने तबियत बिगड़ने पर वह जमीन पर गिर पड़े जिन्हें पुलिस ने सीएचसी बिधूना में इलाज के लिए भर्ती कराया।

जहां डाक्टरों ने बुजुर्ग को मृत घोषित कर दिया है। जिसके बाद मृतक के पुत्र ने आरोप लगाया कि महिला एवं उसके रिश्तेदारों ने मिलकर मेरे पिता के साथ की जिससे उनकी मौत हो गयी है। पुलिस सभी बिन्दुओं पर जांच करेगी। पीएम रिपोर्ट आने पर मौत का कारण स्पष्ट हो सकेगा।

रिपोर्ट-राहुल तिवारी/संदीप राठौर चुनमुन

About Samar Saleel

Check Also

पेड़ से लटका मिला बाघ का शव, स्निफर डॉग की मदद से शुरू सर्चिंग

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें मध्यप्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व में एक हैरान ...