PM नरेंद्र मोदी के नाम बनाया फर्जी ट्रस्ट, केंद्रीय मंत्रियों-सांसदों तक से मांगे फंड

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से फर्जी ट्रस्ट बनाने वाले तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. शुक्रवार को उप निबंधन सदर द्वितीय के शिकायत पर इस मामले में ट्रस्ट के प्रमुख अजय पांडेय समेत 10 लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज हुआ था. मुकदमा दर्ज होने का बाद पुलिस ने इस मामले में छानबीन शुरू की और दुर्गाकुंड स्थित दयाल टॉवर से ट्रस्ट के प्रमुख अजय पांडेय को गिरफ्तार कर लिया. उसके बाद पुलिस ने इस मामले में दो अन्य अभियुक्त रवींद्रनाथ पांडेय और शाहबाज को भी गिरफ्तार किया है.

जानकारी के मुताबिक अजय पाण्डेय ने पीएम मोदी के नाम बनाए गए फर्जी ट्रस्ट ‘आदर्श नरेंद्र दामोदर दास मोदी जन कल्याणकारी’ के लेटर हेड पर पीएमओ, कई केंद्रीय मंत्री के अलावा 100 से अधिक सांसदों को पत्र भेजा. पत्र में वाराणसी के पिंडरा में पीएम मोदी के नाम से विश्ववविद्यालय बनाने की बात कहकर उनसे फण्ड की डिमांड की गई थी.

Loading...

पुलिस सूत्रों की माने तो अजय पांडेय ने वाराणसी के डीएम को भी पत्र लिखकर पिंडरा विधानसभा में लगभग 160 एकड़ जमीन मांगी थी. ट्रस्ट के पत्र का उत्तर नहीं दिए जाने पर अजय पांडेय ने पीएमओ और सीएम पोर्टल पर इसकी शिकायत भी की थी. एनबीटी ऑनलाइन से बातचीत में कैंट इंस्पेक्टर राकेश कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में तीन शख्स को गिरफ्तार किया है जिनसे पूछताछ की जा रही है. सात अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस की टीम जुटी है.

पीएम ने नाम पर फर्जी ट्रस्ट बनाने में जितने दोषी अजय पांडेय है उतना ही गुनाह रजिस्ट्रार ऑफिस के कर्मचारियों का भी है. सवाल यह है कि आखिर अजय पांडेय ने रजिस्ट्रार ऑफिस के किन कर्मचारियों से मिलकर इतने बड़े फर्जीवाड़े को अंजाम दिया?

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

लव जिहाद कानून के तहत यूपी में पहली गिरफ़्तारी, बरेली से पकड़ में आया फरार आरोपी

उत्तर प्रदेश में लव जिहाद के खिलाफ कानून बनने के बाद इस संबंध में दर्ज ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *