Breaking News

रूपाणी का गुजरात में फ‍िर शुरू हुआ राज

गुजरात में आज एक बार फ‍िर व‍िजय रूपाणी का राज शुरू हो गया है। उन्‍होंने गुजरात के मुख्‍यमंत्री के रूप में शप‍थ ग्रहण की है। वह दूसरी बार मुख्‍यमंत्री पद संभालने जा रहे हैं। इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी के अलावा भाजपा के वर‍िष्‍ठ नेता मौजूद रहे। बीजेपी के व‍िजय रूपाणी के इस नए कैब‍िनेट और उनके बारे में…
कुछ ऐसा रूपाणी का मंत्रिमंडल
व‍िजय रूपाणी को गांधीनगर में राज्‍यपाल ओपी कोहली ने शपथ द‍िलाई। रूपाणी सरकार के मंत्रिमंडल में लगभग 20 मंत्री शामिल रहे। जिसमें नौ कैबिनेट मंत्री भी मौजूद रहे। इस दौरान सौरभ पटेल, दिलीप ठाकोर, कौशिक पटेल, ईश्वर परमार, भूपेंद्र सिंह चूड़ास्मा ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। वहीं राज्य मंत्री के रूप में प्रदीप सिंह जडेजा, बच्चू भाई खाबड़, परबत पटेल, पुरुषोत्तम सोलंकी ने पद और गोपनीयता की शपथ ली।
दूसरी बार सीएम बने रूपाणी
इस दौरान देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह, वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी, राजनाथ सिंह समेत कई राज्‍यों के मुख्‍यमंत्री भी समारोह में पहुंचे। कांग्रेस शासित राज्‍यों के मुख्‍यमंत्री भी कार्यक्रम में शामिल हुए। इतना ही नहीं बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार भी मौजूद रहे। मुख्‍यमंत्री के रूप में रूपाणी ने दूसरी बार शपथ ली है।
करोडप़त‍ि उम्‍मीदवार को हराया
गुजरात के व‍िधान सभा चुनाव में इनका मुकाबला राजकोट वेस्‍ट से राज्‍य के सबसे अमीर उम्‍मीदवार इंद्रनील राजगुरु से था। इंद्रनील राजगुरु की कुल संपत्‍त‍ि 141.22 करोड़ रुपये थी। वहीं सीएम रूपाणी की कुल संपत्‍त‍ि 9.08 करोड़ रुपये थी। इस दौरान इनका प्रदर्शन शानदार रहा। रूपाणी ने 53755 वोटों के बड़े अंतर से राजगुरु को हराया था। रुपाणी को 131586 वोट मिले। वहीं राजगुरु को 77831 वोट मिले थे।
कुछ ऐसा रहा रूपाणी का सफर
2 अगस्त, 1956 को जैन परिवार में म्यांमार में जन्‍में विजय गुजरात के 17वें मुख्यमंत्री बने हैं। 1960 में रूपाणी का पर‍िवार गुजरात में आकर बस गया था। आर्ट्स में ग्रेजुएशन और एलएलबी की डिग्री करने वाले रूपाणी 2014 में वह पहली बार विधायक बने थे। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ता के रूप में कर‍ियर की शुरुआत करने वाले व‍िजय रूपाणी गुजरात में ट्रांसपोर्ट, जल आपूर्ति, लेबर और रोजगार मंत्री भी रह चुके हैं।

Loading...
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

वर्ष 2020 में 71वे ‘गणतंत्र दिवस’ का कार्यक्रम इस बार होगा कुछ ख़ास, जरुर पढ़े

जैसा की आप सभी जानते है कि, ‘गणतंत्र दिवस’ भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है, जो ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *