Breaking News

बिधूना पहली बारिश में नगर हुआ जलमग्न, सफाई व्यवस्था की खुली पोल

मानसून की पहली बारिश में ही गुरुवार को शहर के जलनिकासी व्यवस्था की पोल खोल दी। कई मोहल्लों में जगह-जगह पानी जमा हो गया, जिससे सड़कों पर लोगों का चलना मुश्किल हो गया।

बिधूना। झमाझम पहली बारिश से जहां एक तरफ लोगों को राहत मिली वहीं नगर पंचायत की पोल भी खुल गई। नगर के अंदर नालों और नालियों का पानी उफनकर सड़क पर आ गया तो कहीं पर गली की किनारे फट गए। जिसके चलते नगर की सड़के ताल तलैया में तब्दील हो गई। इससे लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी। सड़क पर काफी जल भराव से दो पहिया वाहनों व एवं पैदल चलने वाले राहगीरों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। नगर के मुख्य चौराहे पर नगर पंचायत के सामने भी पानी जमा हो गया। अधिकतर गलियां और सड़कें भी चलने लायक नहीं रह गईं। सड़कों पर इतना कीचड़ हो गया कि लोगों को घर से बाहर निकलने में काफी परेशानी हुई। नाली, नालों का पानी सड़कों के ऊपर से बहने लगा।

गुरुवार को भोर से बारिश होने लगी, जो 12 बजे तक चली। रुक-रुक कर हुई बारिश के कारण शहर के कई मोहल्लों में पानी जमा हो गया। जिससे मुख्यतः मोहल्लों में स्थित नाले ओवरफ्लो होकर बह रहे थे। इसके कारण सड़क पर पानी जमा हो गया था। सबसे अधिक दिक्कत शहर के गांधीनगर में सीओ कार्यालय के बगल वाली गली, एसडीएम आवास के पीछे वाली गली, नीम करोरी मंदिर वाली गली, अंबेडकर नगर, नवीन बस्ती पूर्वी में पेट्रोल पम्प वाली गली, बीआरसी परिसर के पीछे वाली गली, आर्यनगर में बालाजी मंदिर वाली गली आदि मोहल्लों के साथ-साथ सरकारी कार्यालय जिसमें ब्लाक परिसर, सीओ कार्यालय, तहसील परिसर, पशु अस्पताल में भी पानी का जमाव रहा। कस्बे के अन्य जगहों पर भी पूरे दिन भर जलभराव से लोगों को जूझना पड़ा। जिसके कारण बारिश में लोग अपने घरों में कैद रहे। दोपहर बाद जब बारिश खुली तो लोगों का घर से निकलना शुरू हुआ।

नवीन बस्ती के गौरव भदौरिया ने बताया कि मानसून की पहली ही बरसात में पूरी गली में पानी भर गया। जिससे निकलने में काफी दिक्कत का सामना करना पड रहा है।

गांधीनगर के विवेक त्रिपाठी, अंकुर तोमर ने बताया के हम लोगों को पूरी बरसात भर पानी के जलभराव की समस्या का सामना करना पडेगा। पहली ही बरसात में पूरी गली कीचड सी हो गई है। हम सभी गली वाले पिछले कई वर्षों से नगर पंचायत कार्यालय में शिकायत करते आ रहे है पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई।

आर्यनगर के अजय सेंगर ने बताया कि पहली ही बरसात में पूरी गली पानी से झमाझम हो गई है। जलनिकासी न होने के कारण पानी घरो में जाने लगता है।

इस संबंध में अधिशासी अधिकारी निषाद मघुरमय ने बताया कि नालों की सफाई कार्य चल रहा था, अचानक बारिश हुई है, जिससे नगर में जलभराव की समस्या आई है। नगर में टीमें लगा दी गई है जिन जिन जगह पर जलभराव की समस्या आई है वहां पर सफाई व जलनिकास की व्यवस्था की जा रही है। शीघ्र ही नगरवासियों को जलभराव की समस्या से निजात मिलेगी।

रिपोर्ट-शिव प्रताप सिंह सेंगर 

About Samar Saleel

Check Also

उत्तर रेलवे ने स्वतंत्रता दिवस हर्षाेल्लास और उत्साह के साथ मनाया

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। उत्तर रेलवे ने आज स्वतंत्रता दिवस 2022 ...