Breaking News

कोरोना संक्रमण की रोकथाम में मददगार साबित होगा ‘‘हैल्पिंग हैंड बीकानेर’’ एप्प

बीकानेर। विश्व स्वास्थ्य संगठन तथा संयुक्त राष्ट्र द्वारा कोरोना संक्रमण को महामारी घोषित करने तथा इसे रोकने के लिए केंद्र व राज्य सरकार की और से लाॅकडाउन की घोषणा के बाद आम जनता को राशन सहित अन्य आवश्यक सामग्री की परेशानी ना हो इसके लिए राजस्थान राज्य अभिलेखागार की और जिला कलेक्टर के कहने पर ‘‘हैल्पिंग हैंड बीकानेर’’ एप्प बनाई गई है।


21 दिवस के देशव्यापी लॉक डाउन के अवसर पर आम जनता को घर बैठे परचून सामान, डेयरी का सामान,मेडिसिन शॉप इत्यादि की बीकानेर जिले के 80 वार्डस के वार्ड के अनुसार दुकानो, जनता की सहायता के लिए सोसियल वर्कर, सामाजिक संस्थाओं का एप्प 24 घण्टो में तैयार कर जिला कलेक्टर, बीकानेर को सौप दिया। बीकानेर के जनता किसी भी दुकानदार या सामाजिक कार्यकर्ता को फोन कर अपने घर पर कोई भी दैनिक आवस्यकता की वस्तु मंगवा सकते हैं।

लाॅकडाउन की स्थिति में यह एप्प आमजन के लिए मददगार साबित होगी। राजस्थान राज्य अभिलेखगार इससे इससे पहले भी डिजिटल तकनीक में अपना लौहा दुनिंयाभर में मनवा चुका है। जिसमें रियासतकालीन दस्तावेज व पटटों के डिजिटेलाइजेशन का काम प्रमुख है। जरुरत का सामान मिलेगा हैल्पिंग हैंड बीकानेर पर राजस्थान राज्य अभिलेखागार के निदेशक डॉ.महेद्र खड़गावत ने बताया कि शहरी क्षेत्र में कंही से एंड्रॉयड एप्प ‘‘हैल्पिंग हैंड बीकानेर’’ की मदद से घरेलू जरुरत का सामान उचित दर पर आर्डर किया जा सकेगा। इसमें राशन सामग्री, मेडिसिन, डेयरी उत्पाद को शामिल किया गया है।

इसके साथ इसमें सर्च का आप्शन भी दिया गया है। जिसमें जरुरत के हिसाब से सर्च किया जा सकेगा। ऐप के जरिए वार्ड वार प्रमुख जनरल स्टोर, उनके संचालकों के नाम तथा मोबाइल नम्बर उपलब्ध करवाए गए हैं। कोई भी व्यक्ति व्हाट्सऐप या फोन के जरिए जनरल स्टोर संचालक से बात कर अपनी आवश्यकतानुसार सामान लाने के लिए होम डिलीवरी की सुविधा का प्रयोग कर सकता है। इसमें आर्डर करने के बाद सामान की डिलिवरी के दौरान उपभोक्ता को आर्डर के सामान का भुगतान करना होगा। एप्प की भाषा व सामान की सूची साधारण भाषा में तैयार की गई है, जिसेे कोई भी आसानी से हैंडल कर सकेगा।

Loading...

सुझाव भी दे सकेंगे : डॉ.खड़गावत ने बताया कि इस एप्प में सुझाव का भी आप्शन दिया गया है, जिसके माध्यम से कोई भी दुकानदार व ग्राहक दोनों ही सुझाव दे सकेंगे और यदि कोई आवश्यक सामग्री वंहा पर लिस्टेड नही है तो वह भी इसमें जुड़वा सकेंगे। वंही दुकानदार यदि इसमें अपनी दुकान को लिस्टेड करवाना चाहे तो वे भी अपना नाम लिस्टेड करवा सकतें है। इसमें शहर के सामाजिक संगठन, पार्षद, राजनैतिक व अन्य जानकारियां फोन नंबर सहित आमजन की सहायता के लिए दी गई है।

एक दिन में तैयार हुई एप्प : उन्होने बताया कि राजस्थान में इस तरह की यह पहली एप्प है, जिसे राजस्थान राज्य अभिलेखगार ने तैयार करवाया है। इसे तैयार करने में मात्र एक दिन का समय लगा है। अभिलेखागार के निदेशक डॉ. खड़गावत बतातें है कि अभिलेखागार में 1953 से पहले के 1 करोड़ 30 लाख रियासतकालीन दस्तावेज का डिजिटेलाइजेशन करवाकर उसे आनलाइन कर दिया गया है। इसमें रियासतों के प्रमुख दस्तावेज व बीकानेर रियासत के पटटे भी शामिल है।

उन्होने बताया कि इस एप्प से शहर में लोग दुकानों पर नही पहुचेंगे और उन्हे उचित दाम पर घर के पास ही सामान मिल सकेगा। इससे कोरोना संक्रमण का खतरा भी कम होगा। इस स्थिति में यह एप्प शहर के लोगों व जिला प्रशासन के लिए मददगार साबित हेागी। जिला कलेक्टर, बीकानेर कुमार पाल गौतम, निदेशक, राजस्थान राज्य अभिलेखागार डॉ.महेन्द्र खड़गावत एंव नगर निगम आयुक्त खुशाल यादव की मौजूदगी में यह एप्प लांच किया गया।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

राज्यसभा: 18 सीटों के लिए इस दिन होंगे चुनाव, EC ने किया तारीखों का ऐलान

चुनाव आयोग ने राज्यसभा की 18 सीटों के लिए होने वाले चुनाव की तारीखों का ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *