Breaking News

सपा को छोड़ मिशन-2024 में जुटे शिवपाल यादव, क्या बन रहे हैं भतीजे अखिलेश के लिए टेंशन ?

माजवादी पार्टी से नाता तोड़ अलग हो चुके शिवपाल यादव ने अब अखिलेश यादव के खिलाफ खुलकर बगावत का बिगुल फूंक दिया है.  इसके जरिए वह मिशन-2024 को साधने में लग गए हैं।

अखिलेश यादव से पूरी तरह अलग होने के बाद अब वह किसी न किसी बहाने सपा के यादव मुस्लिम वोट बैंक में सेंध लगाने में जुट गए हैं।अखिलेश यादव जब मुख्यमंत्री थे, उन्होंने डीपी यादव की बाहुबली छवि का हवाला देते हुए सपा में लेने से इंकार कर दिया था। यह अलग बात है कि डीपी यादव सपा में रहते हुए सांसद बने थे।

चाचा शिवपाल यादव के एक कदम ने सियासी गलियारों में हलचल मचा दी है.  लखनऊ में आयोजित ‘यदुकुल’ कार्यक्रम के मंच पर यादव समुदाय के बड़े नेताओं को जुटाकर शिवपाल ने अपने सियासी मंसूबे जाहिर कर दिए हैं.खास बात यह कि भाजपा में शामिल हो चुके एक पूर्व विधायक रामपाल यादव भी इस मिशन में शामिल हुए हैं।

भरत गांधी कन्नौज लोकसभा उपचुनाव में डिंपल यादव के खिलाफ मुहिम चला चुके हैं। सपा के पूर्व विधायक रामपाल यादव (अब भाजपा में) का अवैध निर्माण भी सपा सरकार में ध्वस्त किया गया था। उन्होंने ‘यदुकुल पुनर्जागरण मिशन’ के मंच पर सूबे के दिग्गज यादव समुदाय के नेताओं को जुटाकर अपने भतीजे अखिलेश के साथ अब दो-दो हाथ करने का ऐलान कर दिया है.

About News Room lko

Check Also

लखनऊ विश्वविद्यालय को फार्मेसी कौंसिल ऑफ़ इंडिया ने प्रदान की बीफार्म की 100 और डीफार्म की 60 सीट के लिए मान्यता

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज, लखनऊ विश्वविद्यालय को ...