Breaking News

LU : लुआक्टा के शिक्षकों की लंबित मांगों और समस्याओं को लेकर कुलपति से वार्ता

विश्वविद्यालय में ग्रीष्मावकाश घोषित किये जाने के सम्बंध में लुआक्टा और लूटा की संयुक्त वार्ता हुई एव कुलपति प्रो. राय द्वारा ग्रीष्मावकाश घोषित किए जाने पर…..

लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर आलोक राय से कुलपति आवास पर, शनिवार को, लुआक्टा की शिक्षकों ने विभिन्न लंबित मांगों एवं समस्याओं को लेकर वार्ता हुई। महाविद्यालयो में प्रोफेसर सहित अन्य एजीपी की पदोन्नतियों के विषय में विशेषज्ञों को नामित किये जाने के लिए विश्वविद्यालय द्वारा समस्त अभिलेखों की मांग की जा रही थी, जिसका लुआक्टा द्वारा विरोध किया जा रहा था।

LU : लुआक्टा के शिक्षकों की लंबित मांगों और समस्याओं को लेकर कुलपति से वार्ता

कुलपति प्रो. राय से, दिनांक 23 अप्रैल 22 को, वार्ता में इसे परिनियम में उल्लिखित व्यवस्था के विपरीत बताया गया था, जिस पर कुलपति द्वारा शीघ्र ही सकारात्मक निर्णय लेने का।आश्वासन दिया गया था। दिनांक 12 मई 22 को, लखनऊ विश्वविद्यालय से सह्युक्त समस्त महाविद्यलयों के प्राचार्यों के साथ आहूत बैठक में कुलपति महोदय द्वारा विश्वविद्यालय के प्रोफेसर या अन्य किसी महाविद्यालय के शिक्षक द्वारा एपीआई की जांच कराए जाने के लिये निर्देश दिया था।

शनिवार को संगठन की वार्ता के उपरांत इस बात पर सहमति हुई कि संबंधित महाविद्यालय के प्राचार्य के द्वारा महाविद्यालय के आई क्यू ऐसी के माध्यम से सत्यापन के आधार पर दो विषय विशेषज्ञ नामित कर दिया जायेगा तथा एपीआई के सत्यापन के लिए विश्वविद्यालय के प्रोफेसर या अन्य किसी महाविद्यालय के शिक्षक की संस्तुति की आवश्यकता नहीं होगी तथा शीघ्र ही विषय विशेज्ञय नामित किये जाएंगे।

विश्वविद्यालय में ग्रीष्मावकाश घोषित किये जाने के सम्बंध में लुआक्टा और लूटा की संयुक्त वार्ता हुई एव कुलपति प्रो. राय द्वारा ग्रीष्मावकाश घोषित किए जाने पर सहमति व्यक्त की गई। कुलपति द्वारा कुलसचिव महोदय को दिनांक17 मई 22 तक अवकाश होने के उपरांत 18 मई 22 को लुआक्टा एवं लूटा से वार्ता कर अवकाश तिथि निश्चित करने का निर्देश दिया। अब दिनांक 18 मई 22 को लुआक्टा एव लूटा की कुलसचिव से संयुक्त वार्ता होगी तथा ग्रीष्मावकाश की तिथि निर्धारित की जाएगी।

इसके अतिरिक्त 6 जनवरी 22 को जारी शासनादेश के क्रम में बिना पीएचडी के उपाधि के नेट या जेआरएफ के आधार पर नियुक्त शिक्षकों को पीएचडी प्रवेश परीक्षा में 10% का आरक्षण दिये जाने के आदेश को शोध अध्यादेश में शामिल किए जाने की मांग पर इसे अध्यादेश में सम्मलित किये जाने पर सहमति बनी। अब शिक्षकों के पीएचडी के प्रवेश का मार्ग सुगम हो जायेगा। पीएचडी के रिक्त पदों की सूचना 7 मई 22 तक विश्वविद्यालय को महाविद्यालय द्वारा भेजने की तिथि बढ़ाये जाने पर नए सिरे से सूचना मंगाये जाने पर सहमति बनी। शीघ्र ही कुलसचिव द्वारा आदेश जारी कर दिया जायेगा।

चार नये जिले जुड़ने परीक्षाओ के संचालन में सहायक केंद्राध्यक्ष एवं उड़ाका दल बढ़ाये जाने तथा सुधार और संशोधन की लुआक्टा के मांग पर कमेटी बनाये जाने पर सहमति बनी। पूर्व में लुआक्टा की मांग के अनुसार, शिक्षको के पदनाम के अनुरूप TA /DA दिये जाने पर सहमति बनी। कुलसचिव महोदय द्वारा क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी लखनऊ को बायोमेट्रिक उपस्थित के निर्देश प्रदान करने के आदेश को विश्वविद्यालय के क्षेत्राधिकार से परे बताया गया एवं इसे निरस्त करने का प्रस्ताव रखा गया, जिस पर कुलपति द्वारा नियमो के अनुसार, कार्यवाही किये जाने का आश्वासन दिया गया।

वर्तमान में चार जिलों के जुड़ने के कारण शिक्षको की संख्या में वृद्धि के दृष्टिगत शिक्षक कल्याण कोष की धनराशि 60% से बढ़ाकर 80% किये जाने की मांग की गई है। छात्र हित में स्नातक के चौथे एव छठवें सेमेस्टर के विद्यार्थियों के लिए परीक्षा में 80 बहुविकल्पीय प्रश्न में सभी प्रश्न अनिवार्य किये जाने पर लुआक्टा द्वारा प्रश्नचिन्ह खड़ा किया गया। कुलपति ने परीक्षा समिति में उक्त विषय को रखकर छात्र हित में निर्णय लिये जाने का आश्वासन दिया। इसके अतिरिक्त स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों के कट ऑफ की आपत्ति पर छात्र हित में निर्णय लिये जाने पर सहमति बनी। अत्यंत सौहार्दपूर्ण वातावरण में सम्पन्न बैठक के बाद कुलपति को धन्यवाद ज्ञापित किया गया।

प्रतिनिधि मंडल में लुआक्टा अध्यक्ष डा मनोज पांडेय, महामंत्री डा अंशु केडिया, विद्यांत हिन्दू पी जी कालेज के शिक्षक संघ के महामंत्री डा रमेश यादव, लखनऊ क्रिश्चियन महाविद्यालय के शिक्षक संघ के अध्यक्ष डा एल्विन दाऊद, जयनारायण महाविद्यालय शिक्षक संघ के महामंत्री डा विक्रम सिंह, शिया महाविद्यालय शिक्षक संघ के महामंत्री डा परवेज मसीह, लुआक्टा संयुक्त सचिव डा नरेंद्र कुमार इस्लामिया महाविद्यालय के डा दिलशाद अहमद, मुमताज महाविद्यालय के डा अल्वी, डा इरशाद, डा लियाकत एवं अन्य शिक्षक उपस्थित रहे ।
सादर

About reporter

Check Also

पोषण पाठशाला 26 मई को : छह माह तक पानी नहीं केवल स्तनपान का दिया जाएगा संदेश

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Monday, May 23, 2022 औरैया। बाल ...