Breaking News

रफी की यादें: सुरों के सरताज रफी साहब, जिनके ब‍िना संगीत अधूरा है

सुरों के सरताज मोहम्मद रफी साहब का 31 जुलाई 1980 को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था. आज उनकी 40वीं पुण्‍यतिथि है. पद्म श्री के साथ, एक राष्ट्रीय पुरस्कार और छह फिल्मफेयर पुरस्कारों से सम्मानित मोहम्मद रफी साहब को शास्त्रीय संगीत,देशभक्ति गाने, मधुर दर्दभरे गीतों ,रोमांटिक गाने, ग़ज़लें और यहां तक कि भजनों के लिए जाना जाता है. उन्होंने अपने फैंस के लिए दिलों को छू जाने वाले कई सदाबहार गाने गाए हैं. इनमें ‘बहारों फूल बरसाओं’ से लेकर ‘तुम्हारी नज़र क्यों खफा हो गई’, ‘आज मौसम’ जैसे गाने शामिल हैं.

मोहम्मद रफी को पार्श्वगायन करने की प्रेरणा एक फकीर से मिली थी. पंजाब के कोटला सुल्तान सिंह गांव में 24 दिसंबर 1924 को एक मध्यम वर्गीय मुस्लिम परिवार में जन्में रफी एक फकीर के गीतों को सुना करते थे, जिससे उनके दिल में संगीत के प्रति एक अटूट लगाव पैदा हो गया.

लाहौर मे रफी संगीत की शिक्षा उस्ताद अब्दुल वाहिद खान से लेने लगे और साथ हीं उन्होंने गुलाम अलीखान सें भारतीय शास्त्रीय संगीत भी सीखना शुरू कर दिया. एक बार हमीद रफी को लेकर केएल सहगल संगीत के कार्यक्रम में गये लेकिन बिजली नही रहने के कारण केएल सहगल ने गाने से इंकार कर दिया.

Loading...

हमीद ने कार्यक्रम के संचालक से गुजारिश की वह उनके भाई रफी को गाने का मौका दें. संचालक के राजी होने पर रफी ने पहली बार 13 वर्ष की उम्र मे अपना पहला गीत स्टेज पर दर्शको के बीच पेश किया. दर्शको के बीच बैठे संगीतकार श्याम सुंदर को उनका गाना अच्छा लगा और उन्होंने रफी को मुंबई आने के लिये न्यौता दिया.

श्याम सुंदर के संगीत निर्देशन में रफी ने अपना पहला गाना सोनिये नी हिरीये नी पार्श्वगायिका जीनत बेगम के साथ एक पंजाबी फिल्म गुल बलोच के लिए गाया. वर्ष 1944 मे नौशाद के संगीत निर्देशन मे उन्हें अपना पहला हिन्दी गाना हिन्दुस्तान के हम है पहले आप के लिये गाया.

30 जुलाई 1980 को आस पास फिल्म के गाने शाम क्यूं उदास है दोस्त गाने के पूरा करने के बाद जब रफी ने लक्ष्मीकांत प्यारेलाल से कहा शूड आई लीव जिसे सुनकर लक्ष्मीकांत प्यारे लाल अचंभित हो गए क्योंकि इसके पहले रफी ने उनसे कभी इस तरह की बात नहीं की थी. अगले दिन 31 जुलाई 1980 को रफी को दिल का दौरा पड़ा और वह इस दुनिया को ही छोड़कर चले गए.

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में रिया चक्रवर्ती की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी, आदेश सुरक्षित

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में रिया चक्रवर्ती की याचिका पर आज सुनवाई ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *