Breaking News

मंत्री स्वतंत्रदेव ने लापरवाह अधिकारियों को लगाई फटकार, जांचकर शीघ्र कार्यवाही के दिए निर्देश

  • मंत्री के गुणवत्ता पर सवाल पर सिंचाई विभाग के आला अधिकारियों के छूटे पसीने

  • नहरों में सिल्ट सफाई से असंतुष्ट मंत्री स्वतंत्र देव हुए नाराज़

  • लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर होगी सख्त कार्यवाही

  • बड़वार बांध भसनेह में निगम की बनाई जा रही पेयजल टंकियों का मौके पर किया निरीक्षण

झांसी। बेतवा नहर से बड़वार बांध भसनेह को भरे जाने के लिए प्रदेश और केंद्र की महत्वपूर्ण योजना को धरातल परउत्तर प्रदेश शासन के सिंचाई एवं जल शक्ति मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने मौक़े पर जाकर निरीक्षण किया। मौक़े पर पहुंच मंत्री स्वतंत्र देव सिंंह को कच्चा और पक्का दोनों काम अधूरे और गुणवत्ताविहीन मिले।

मंत्री स्वतंत्रदेव ने लापरवाह अधिकारियों को लगाई फटकार, जांचकर शीघ्र कार्यवाही के दिए निर्देश

बहुत ही खराब स्थिति में पाए जाने पर उन्होंने इस योजना से जुड़े बेतवा कैनाल के आला अधिकारियों से जब काम को निर्धारित समय पर पूरा न करने और काम में गुणवत्ता पर भी सवाल खड़े किए तो सिंचाई विभाग के आला अधिकारियों के पसीने छूटने लगे। जल शक्ति मंत्री ने कहा है कि इस योजना को भाजपा सरकार योगी कार्यकाल प्रथम में ही पूरा होकर किसानों और जनता के उपयोग के लिए अब से 6 माह पहले ही चालू होना था। लेकिन सिंचाई विभाग के अधिकारियों की लापरवाही के चलते भाजपा के दूसरे शासनकाल में भी चालू नहीं हो सकी है।

अधिकारियों की लापरवाही के चलते भाजपा के दूसरे शासनकाल में भी चालू नहीं हो सकी है।  

इस पर उनके साथ मौके पर मुख्य अभियंता महेश्वरी प्रसाद, अधीक्षण अभियंता संजीव झा, अधिशासी अभियंता उमेश कुमार को उन्होंने सख्त लहजे में कहां कि इस संबंध में काम पूरी तरह गुणवत्ता पूर्ण ढंग से होना चाहिए साथ ही इसकी अवधि भी निर्धारित थी। वह क्यों और कैसे निकली जिसके चलते इस परियोजना की लागत 48 करोड़ की थी और विभाग के अधिकारियों की लापरवाही के चलते 20 करोड़ रुपये और बढ़ गई है। हालांकि, यह काम 2016 से चालू है, बावजूद इसके पूरा ना होना और गुणवत्ता पर सवाल उठना अपने में जानबूझकर कमी रखना जाहिर होता है।

सिंचाई विभाग के अधिकारियों से मौके पर अतिशीघ्र काम कराने के भी निर्देश

उन्होंने इसकी भी उच्चस्तरीय जांच के लिए निर्देश दिए हैं वहीं दूसरी ओर सिंचाई विभाग के अधिकारियों से मौके पर अतिशीघ्र काम कराने के भी निर्देश दिए इस पर सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता से लेकर सभी अभियंताओं ने हर कीमत पर यह काम जुलाई 2022 तक पूरा कराने का भरोसा दिलाया। इसके बाद, स्वतंत्र देव सिंह का काफिला गुरसरांय रामनगर रोड पर हर घर नल जल योजना पर हो रहे काम को देखने पहुंचे तो काम अत्यंत धीमी गति पर चलने पर सख्त नाराजगी व्यक्त की।

स्वतंत्रदेव ने संबंधित अधिकारियों के विरुद्ध जांच कर शीघ्र कार्यवाही के निर्देश दिए।

इस दौरान, गरौठा क्षेत्रीय विधायक जवाहर लाल राजपूत ने बताया कि शासन द्वारा पर्याप्त धन आवंटन होने के बाद भी कार्यदायी संस्था के अधिकारी इस काम में लापरवाही दिखा रहे हैं जिससे काम की गति काफी ढीली है और गुणवत्ता पर भी सवाल उठ रहे हैं। इस पर मंत्री श्री सिंह ने शीघ्र एक्शन लेकर काम कराने को कहां वही बड़वार बांध जाते समय उन्होंने भसनेह माइनर पर सफाई काम को देखा तो मौके पर सफाई नहीं मिली और काफी गंदगी मिली।
इस पर स्वतंत्रदेव ने संबंधित अधिकारियों के विरुद्ध जांच कर शीघ्र कार्यवाही के निर्देश दिए।

वह बड़वार बांध के पहले भसनेह के आगे जल निगम द्वारा बनाई जा रही पेयजल टंकियों को भी मौके पर निरीक्षण करने पहुंचे जहां इस परियोजना के अधिकारियों के साथ बैठकर काम को तेज गति लाने के निर्देश दिए। इसके बाद मंत्री जी बड़वार बांध का भी स्थलीय निरीक्षण करने पहुंचे और पंप हाउस को भी देखा।

इस मौके पर गरौठा विधायक जवाहर लाल राजपूत, अपर जिलाधिकारी (नमामि गंगे) संजय कुमार पांडेय, भाजपा जिलाध्यक्ष जमुना प्रसाद कुशवाहा, महानगर जिलाध्यक्ष मुकेश मिश्रा, सिचाई, जल निगम ग्रामीण के अधिकारी सहित राज्य पेयजल स्वच्छता मिशन नमामी गंगे जल आपूर्ति विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहे।

About reporter

Check Also

आविष्कार : इंजीनियर युवाओं ने बनाया खास मोबाइल एप, एक क्लिक में मुश्किल में फंसी महिला भेज सकेगी पुलिस और परिवार को अपनी लोकेशन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें CMS Anti Theft and Women Safeti’ एप मोबाइल ...