Breaking News

सेना चिकित्सा सेवा महानिदेशालय के तत्वावधान में आयोजित की गयी मोटरसाइकिल रैली

इस रैली ने 20 दिनों की अवधि में 10,000 किमी (जंगलों और पहाड़ों में 5,500 किमी) की दूरी तय की। अभियान में जंगली व दुर्गम क्षेत्रों सहित पूर्वोत्तर राज्यों के पहाड़ों में ड्राइविंग शामिल थी।

लखनऊ। आजादी का अमृत महोत्सव के एक हिस्से के रूप में और सेना चिकित्सा सेवा महानिदेशालय के तत्वावधान में 258 वें सेना चिकित्सा कोर स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में, एक मोटरसाइकिल रैली का आयोजन किया गया। यह रैली 7 पूर्वोत्तर राज्यों सहित 4 कमांड और 12 राज्यों से होते हुए निकली।

सेना चिकित्सा सेवा महानिदेशालय के तत्वावधान में आयोजित की गयी मोटरसाइकिल रैली

रैली को सेना चिकित्सा कोर केंद्र एवं कॉलेज के वीर नायक दीपक सिंह, वीआरसी परेड ग्राउंड, लखनऊ में 23 अप्रैल को सेना चिकित्सा कोर केंद्र एवं कॉलेज के कार्यकारी सेनानायक एवं एएमसी अभिलेख प्रमुख मेजर जनरल जेपी प्रसाद द्वारा झंडी दिखाकर फ्लैग इन किया गया। एएमसी के इतिहास में अद्वितीय, यह मोटरसाइकिल रैली विशेष रूप से आर्मी मेडिकल कोर की स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े सैन्य अधिकारियों द्वारा चलाई गई थी। अभियान के दौरान टीम ने कोरोना योद्धाओं (जिनमें डॉक्टर और पैरामेडिक्स शामिल हैं) को प्रेरित करने के लिए 75 से अधिक सेना और नागरिक चिकित्सा प्रतिष्ठानों का दौरा किया।

इस रैली ने 20 दिनों की अवधि में 10,000 किमी (जंगलों और पहाड़ों में 5,500 किमी) की दूरी तय की। अभियान में जंगली व दुर्गम क्षेत्रों सहित पूर्वोत्तर राज्यों के पहाड़ों में ड्राइविंग शामिल थी। रैली दल में 3 विशेष अधिकारी, 2 चिकित्सा अधिकारी, 3 गैर-तकनीकी अधिकारी और 2 अन्य रैंक के साथ-साथ सेना चिकित्सा कोर के 2 आरक्षित सदस्य शामिल थे। ये बाइक्स जावा मोटर्स के स्पेशल क्लासिक आर्मी फ्लीट एडिशन की हैं।

इस रैली ने 20 दिनों की अवधि में 10,000 किमी (जंगलों और पहाड़ों में 5,500 किमी) की दूरी तय की।

टीम का नेतृत्व कर्नल राजेश डब्ल्यू अधाऊ, एसएम ने किया, जो एक पर्वतारोही, साहसिक उत्साही और कारगिल युद्ध के पूर्व सैन्य अधिकारी हैं। टीम के अन्य सदस्यों में कर्नल संजय कुमार, जो एक उत्सुक पर्वतारोही रहे हैं, लेफ्टिनेंट कर्नल विशाल चोपड़ा एक उत्साही मनोचिकित्सक, लेफ्टिनेंट कर्नल वीरभद्रप्पा, एक अनुभवी बाइक सवार और नेत्र विशेषज्ञ, लेफ्टिनेंट कर्नल मृगांक चौबे बाल रोग विशेषज्ञ, एक प्रसिद्ध बाइकर, लेफ्टिनेंट कर्नल महेश महतो एक अनुभवी सवार और पिछले एएमसी मोटरसाइकिल अभियान से लिम्का बुक रिकॉर्ड धारक, मेजर गिरीश लंबी दूरी के साइकिल चालक और मेजर श्रीनिवास पैरा मोटर पायलट हैं जिन्हें 33,000 किमी से अधिक मोटरसाइकिल अभियानों का अनुभव है।

टीम का नेतृत्व कर्नल राजेश डब्ल्यू अधाऊ, एसएम ने किया, जो कारगिल युद्ध के पूर्व सैन्य अधिकारी हैं।

हवलदार विनायक डी धमाले और एनके दीपक कुमार सिंह 45,000 किमी से अधिक बाइक की सवारी के अनुभव के साथ अनुभवी सवार हैं, जो एएमसी मोटरसाइकिल रैली का भी हिस्सा थे और उन्होंने भारतीय सेना के लिए इंडिया बुक और लिम्का बुक रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया था, शामिल थे । हवलदार योगेश मटवा और एनके सतीश डी रिजर्व के रूप में टीम का हिस्सा बने।

इस अभियान दल को 23 अप्रैल 2022 को सेना चिकित्सा कोर केंद्र एवं कॉलेज के कार्यकारी सेनानायक एवं एएमसी अभिलेख प्रमुख मेजर जनरल जेपी प्रसाद द्वारा ओटीसी परेड ग्राउंड से दिल्ली की आगे की यात्रा के लिए रवाना किया गया था। अद्वितीय प्रयास न केवल सेना के सभी रैंकों के बीच एस्पिरिट डी कॉर्प्स और दुस्साहस की भावना को मजबूत करेगा, बल्कि एएमसी योद्धाओं के कठिन और मजबूत पक्ष को प्रदर्शित करने में भी मदद करेगा। आर्मी मेडिकल कोर (एएमसी) जो देश का सबसे बड़ा स्वास्थ्य देखभाल संगठन है, पिछले सात दशकों से वर्दी में कर्मियों और दूरदराज के क्षेत्रों में नागरिकों को चिकित्सा देखभाल प्रदान कर रहा है।

रिपोर्ट-दयाशंकर चौधरी

About reporter

Check Also

नाॅन इण्टरलाॅकिंग कार्य के चलते 23 मई को कुछ ट्रेनें निरस्त

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Monday, May 23, 2022 लखनऊ। परिचालनिक ...