Breaking News

प्रियंका नहीं, Priyadarshini करेंगी कांग्रेस का उद्धार

लखनऊ। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने महिला विंग को मजबूत करने के लिए Priyadarshini  प्रियदर्शिनी कांग्रेस के गठन की तैयारी कर ली है। राहुल गांधी की टीम ने इसका प्रस्ताव तैयार करके दे दिया है। जानकारी के मुताबिक राहुल गांधी 19 नवंबर को इंदिरा गांधी की जयंती के मौके पर प्रियदर्शिनी कांग्रेस के गठन का आधिकारिक ऐलान कर सकते हैं। क्योंकि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को देखते हुए सपा-बसपा और भाजपा के साथ कांग्रेस ने भी सारे गणित लगाने शुरू कर दिए हैं। कांग्रेस अब अपनी राजनीतिक जमीन मजबूत को करने के लिए युवतियों की ताकत को भी पार्टी से जोड़ने में जुट गई है।

राहुल गांधी की Priyadarshini कांग्रेस

राहुल गांधी की Priyadarshini कांग्रेस में स्कूल और कॉलेज की उन छात्राओं को जोड़ने की तैयारी है जिनका कांग्रेस की विचारधारा में विश्वास है। प्रियदर्शिनी कांग्रेस में जुड़ने के लिए युवतियों की उम्र सीमा 18 से 30 साल की रखी गई है।

सभी युवतियों को उनकी काबिलियत के मुताबिक विंग में पद दिया जाएगा। जबकि 30 साल की उम्र पूरी करते ही इन्हें महिला कांग्रेस के मुख्य संगठन में भेजा जाएगा। यहां पर भी उनका पद प्रियदर्थिनी कांग्रेस के मुताबिक ही रहेगा।

राहुल गांधी के इस मिशन को कांग्रेस लगातार जारी रखेगी। दरअसल ऐसा करने के पीछे राहुल गांधी की सोच ये है कि इससे महिला कांग्रेस को नई नेता मिलेंगी और उन्हें राजनीति की मुख्य धारा से जोड़ा जा सकेगा। जिससे पार्टी भी मजबूत होगी।
प्रियदर्शिनी कांग्रेस में
राहुल गांधी की प्रियदर्शिनी कांग्रेस हर तरह से हाईटेक होगी। प्रियदर्शिनी कांग्रेस में महिला नेता साड़ी या शूट में नहीं बल्कि जींस और टी-शर्ट में दिखेंगी। प्रियदर्शिनी कांग्रेस में युवतियां टी शर्ट के साथ नीले और काले रंग की जीन्स या ट्राउजर पहनेंगी। इसके अलावा युवतियों की टी शर्ट का रंग प्रयदर्शिनी कांग्रेस में उनकी वरिष्ठता के मुताबिक तय किया जाएगा। पार्टी सूत्रों के मुताबिक टी-शर्ट के रंग को लेकर जल्द ही राहुल गांधी और प्रियंका गांधी अपनी टीम के साथ बैठक करके रंगों को तय करेंगे।

Loading...

महिला कांग्रेस की तरह

राहुल गांधी की प्रियदर्शिनी कांग्रेस को महिला कांग्रेस की ही तरह राष्ट्रीय से ब्लॉक स्तर तक तैयार करने की प्लामिंग है। प्रियदर्शिनी कांग्रेस में जुड़ने वाली युवतियों को राष्ट्रीय स्तर की जिम्मेदारी भी दी जाएंगी। इसके साथ ही महिला कांग्रेस की तरह प्रियदर्शिनी कांग्रेस में भी राष्ट्रीय स्तर पर अध्यक्ष, प्रभारी महासचिव, उपाध्यक्ष, सचिव, कोषाध्यक्ष और सदस्य होंगे। जबकि प्रदेश, जोन, जिला, तहसील और ब्लॉक स्तर पर भी प्रियदर्शिनी कांग्रेस का संगठन बनेगा।

अतुल मोहन
अतुल मोहन

 

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

जामिया मामले के विरोध में नदवा के छात्रों ने किया पथराव, प्रशासन हुआ सख्त

लखनऊ। जामिया मिलिया और अलीगढ़ यूनिवर्सिटी में हुए छात्रों की पिटाई और सीएबी के विरोध ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *