Breaking News

100 दिन पूर्ण होने पर महापौर ने किया 96 करोड़ की 282 परियोजनाओं व शिलान्यास व लोकार्पण

• इन 100 दिवसों में महापौर द्वारा किये गए ऐतिहासिक कार्य बोले उप मुख्यमंत्री

• दैनिक कार्यों की दिशा में गलियों से लेकर नाले नालियों की सफाई तक हुए तमाम उल्लेखनीय कार्य: बृजेश पाठक

• महापौर के नेतृत्व में नगर निगम लखनऊ के इतिहास में पहली बार सम्पन्न हुआ 100 दिन 100 कदम आयोजन

• प्रथम स्थान पर लाकर लखनऊ को बनाएंगे स्मार्ट सिटी, बोलीं महापौर

लखनऊ। सुषमा खर्कवाल के महापौर बनने के पश्चात आज विकास के 100 दिनों का उत्सव (100 दिन, 100 कदम लखनऊ नई प्रगति की ओर अग्रसर) वृहद रूप से मनाया गया।इस दिवस का उद्देश्य लोगों को ये संदेश देने का रहा कि इन 100 दिनों में जिस प्रकार विकास कार्यों को गति प्रदान की गई है,उसी प्रकार भविष्य में निरंतर विकास कार्य गतिमान रहेंगे और लखनऊ निश्चित रूप से स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित होकर सामने आएगा।

100 दिन पूर्ण होने पर महापौर ने किया 96 करोड़ की 282 परियोजनाओं व शिलान्यास व लोकार्पण

100 दिन का उद्देश्य 1 लक्ष्य जीरो वेस्ट और जीरो टोलरेंस के साथ लखनऊ नगर का विकास करना है।आज के इस सुनहरे अवसर पर 96 करोड़ की 282 परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण महापौर सुषमा खर्कवाल की उपस्थिति में मुख्य अतिथि उप मुख्यमंत्री बृजेश पाठक के द्वारा बटन दबा कर किया गया।

👉भारत मंडपम में राष्ट्राध्यक्षों का स्वागत कर रहे पीएम मोदी, जानिए अब तक कौन-कौन पहुंचा

महापौर ने कहा कि इस उपलब्धि के लिए मैं सभी 110 पार्षदों, कार्यकर्ताओं सहित नगर निगम के सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों का धन्यवाद देती हूं, जिन्होंने मेरी तैयार की गई योजनाओ को अमल में लाने के लिए मेरा पूर्ण सहयोग किया और इस ऐतिहासिक उपलब्धि को हासिल किया।उन्होंने कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि भविष्य में निरंतर आप सभी का सहयोग मुझे मिलता रहेगा, जिससे कि मुख्यमंत्री एवं रक्षामंत्री के निर्देशन में मैं विकास कार्यों को गति प्रदान करके लखनऊ को प्रथम स्थान पर लाकर स्मार्ट सिटी बनाने में सफल हो सकूंगी।इस दौरान उन्होंने विगत 100 दिनों की उपलब्धियों पर प्रकाश भी डाला, जोकि निम्नवत हैं।

100 दिन पूर्ण होने पर महापौर ने किया 96 करोड़ की 282 परियोजनाओं व शिलान्यास व लोकार्पण

1.कूड़ा कलेक्शन कार्यों हेतु आबद्ध कम्पनी मेसर्स इकोग्रीन द्वारा अपने दायित्वों का निर्वहन न किये जाने के कारण उसकी सेवाओं को तत्काल प्रभाव से समाप्त किया गया है।

2.मेसर्स इकोग्रीन की सेवाओं को समाप्त करने के पश्चात् प्राइमरी कूड़ा उठान हेतु संचालित 602 वाहनों में से लगभग 50% से अधिक खराब वाहनों तथा सेकेन्ड्री कूड़ा उठान हेतु संचालित वाहनों में से लगभग 50% खराब वाहनों को तत्काल युद्ध स्तर पर मरम्मत कराकर लखनऊ की जनता को समर्पित किया गया।

3. कूड़ा नीति के अन्तर्गत सालिड वेस्ट मैनेजमेन्ट नीति में “वेस्ट टू वेल्थ” की रणनीति रहेगी। कूड़े को रिसाइक्लि कराकर के बायों सी०एन०जी०, बिजली बनाने की कार्य योजना पर कार्य कर लिया गया है।

4.लगभग 8500 सफाई कर्मचारियों का दैनिक वेतन सितम्बर माह से रू0 308 से रू0 388 किया गया।

5.महापौर  के आवाहन पर छ स्कूलों को व्यापारियों द्वारा गोद लिया गया।

6.नौ क्लीनिकों का जीर्णोद्वार किया जाएगा।

7.नागरिकों की सुविधा के लिए हाउस टैक्स में छूट को बढ़ा दी जाएगी।

8.500 नये समर-सेविल लखनऊ शहर को माननीया महापौर जी द्वारा पस्वीकृत प्रदान की गई।

9. लखनऊ शहरवासियों का हर सरकारी पार्किंग में आधा घण्टे फ्री किया जाएगा।

10. नगर निगम के टैक्स क्लेक्शन को संशोधित किया गया है, जिसको 550 करोड़ का लक्ष्य दिया गया है।

100 दिन पूर्ण होने पर महापौर ने किया 96 करोड़ की 282 परियोजनाओं व शिलान्यास व लोकार्पण

11. मार्ग प्रकाश व्यवस्था के संचालन एवं सुदृढ़ीकरण हेतु 08 नये हाईड्रोलिक स्काई लिफ्ट प्लेटफार्म वाहनों की व्यवस्था की गयी।

12. पर्यावरण सुरक्षा के दृष्टिगत् 90 नये सीएनजी वाहनों को प्राइमरी कूड़ा कलेक्शन में संचालित करते हुए लखनऊ की जनता को समर्पित किया गया।

13. सीवर सफाई एवं अनुरक्षण के दृष्टिगत् 18 ग्रेव बकेट डी सिल्टिंग मशीन की आपूर्ति करते हुए लखनऊ नगर की जनता की समस्या के निदान हेतु समर्पित किया गया है।

14. निराश्रित गौवंश को कान्हा उपवन में संरक्षण प्रदान किये जाने हेतु 08 नये केटिल कैचिंग वाहनों को कैटिल कैचिंग विभाग में उपलब्ध कराया गया।

15. प्राइमरी कूड़ा कलेक्शन हेतु 1215 नये रिक्शा ट्राली, 300 गार्बेज टूइ साइकिल, 2605 स्पेड (फवडी) एवं 1000 हत्थू ठेलों की आपूर्ति प्राप्त करते हुए लखनऊ की जनता को समर्पित किया गया।

16. कर्मचारियों की सुरक्षा के दृष्टिगत कुड़ा/मलबा निस्तारण एवं सीवर सफाई के कार्य हेतु 4132 सेफ्टी हेलमेट, 4132 सेफ्टी गॉगल एवं 4132 रबर ग्लक्स की आपूर्ति प्राप्त कर लखनऊ की जनता को समर्पित किया गया।

17. सेकेन्ड्री कूड़ा कलेक्शन हेतु 600 विभिन्न क्षमता के डस्टबिन्स की आपूर्ति प्राप्त कर लखनऊ की जनता को समर्पित किया गया।

18. पार्कों व साइड पटरी पर उगने वाली झाडियो व घांस को काटई-छंटाई हेतु 2605 नई गार्डन स्वार्ड की आपूर्ति प्राप्त कर लखनऊ की जनता को समर्पित किया गया।

100 दिन पूर्ण होने पर महापौर ने किया 96 करोड़ की 282 परियोजनाओं व शिलान्यास व लोकार्पण

19. फैजुल्लागंज क्षेत्र में वर्षों पुरानी जलभराव की समस्या के निराकरण रू0 210.00 करोड़ की लागत से ट्रैक ड्रेन का निर्माण प्रारम्भ किया गया।

20. अहमामऊ में राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे वर्षों पुरानी जलभराव की समस्या के निराकरण हेतु पाइप ड्रेन का निर्माण कार्य किया गया, जनमानस को काफी सुविधा हुई है।

21. शहर में जनमानस की सुविधा के दृष्टिगत धनांक रू0-13.00 करोड़ की लागत से 23 सड़क व नाली के निर्माण कार्यों को पूर्ण कर जनता को समर्पित किया गया।

22. जनमानस की सुविधा के दृष्टिग्त 15 वें वित्त आयोग एवं नगर निगम विकास निधि से धनांक रू0 33.00 करोड़ से सड़क व नाली के 124 कार्यों की स्वीकृति प्रदान की गई है। कार्य चरणवार प्रगतिमान कराये जा रहे है।

👉बर्थडे पर महाकालेश्वर मंदिर के दर्शन करने पहुंचे अक्षय कुमार, महाकाल से की देश की तरक्की की कामना

23. वर्षाऋतु में जलभराव की समस्या के निराकरण हेतु 414 नालों की सफाई कराई गई।

24. जानकीपुरम् में जलभराव की समस्या के निराकरण हेतु जानकीपुरम पम्पिंग स्टेशन की क्षमता वृद्धि का कार्य कराया गया।

25. जनमानस की सुविधा के दृष्टिगत मा० महापौर प्राथमिकता से धनांक रू0 569.20 लाख के कुल 68 कार्यों की स्वीकृति प्रदान की गई है। कार्य शीघ्र ही प्रगतिमान कराये जायेंगे।

26. नगर निगम द्वारा जलभराव की समस्या के निस्तारण हेतु 42 नये डी-वाटरिंग पम्पों की व्यवस्था की गई जिससे निचले स्तरों पर जलभराव की समस्या का निराकरण कराया जाय।

27. पर्यावरण संरक्षण के दृष्टिगत् नगर निगम, लखनऊ द्वारा कूड़ा कलेक्शन की फ्लीट को सीएनजी वाहनों में परिवर्तित किया जा रहा है। जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता कम करने हेतु सीएनजी पम्प की स्थापना की जा रही है।

28. नगर निगम, लखनऊ के केन्द्रीय कार्यशाला का पुनरुद्धार किया जा रहा है तथा निकट भविष्य में नगर निगम, लखनऊ की केन्द्रीय कार्यशाला एक नये कलेवर के साथ दृष्टिगोचर होगी। साथ ही नई कार्यशाला का निर्माण भी कराया जाना प्रस्तावित है।

100 दिन पूर्ण होने पर महापौर ने किया 96 करोड़ की 282 परियोजनाओं व शिलान्यास व लोकार्पण

29. लखनऊ शहर को हरा-भरा किये जाने के उद्देश्य से मियावाकी पद्धति से वृक्षारोपण, आयुष वन, नन्दन वन, नगर वन का विकास कराया जायेगा जिसके अन्तर्गत अमौसी, ग्राम सेथा, ग्राम रसूलपुर कायस्थ, ग्राम समाज के आराजी की रिक्त भूमि (ग्रीन बेल्ट) एवं विभिन्न मार्गों पर ग्रीन बेल्ट विकसित किये जाने की कार्ययोजना तैयार कर ली गई है।

30. निराला नगर फ्लाईओवर से पुरनिया चौराहे तक व पुरनिया चौराहे से बेलीगारद, अलीगंज तक रोड के मध्य स्थित डिवाइडर पर ग्रीन बेल्ट तथा सीमेण्टेड गमले लगाकर सौन्दर्यीकरण किये जाने की कार्ययोजना तैयार कर ली गई है।

31. लखनऊ शहर की जनता को स्वच्छ वातावरण उपलब्ध कराये जाने के उद्देश्य से नगर निगम सीमान्तर्गत पुराने पार्कों का जीर्णोद्धार कराते हुए फाउन्टेन लगाने तथा नए पार्कों को विकसित किये जाने की कार्ययोजना तैयार कर ली गई है।

32. नगर निगम सीमान्तर्गत अनियंत्रित रूप से फैले ऊंचे वृक्षों की शाखा-तराशी हेतु 04 ट्री-प्रूनर / कटर एवं 01 ग्रेडर एण्ड चीपर मशीन क्रय कर लखनऊ की जनता को समर्पित किये जाने की कार्ययोजना तैयार कर ली गई है।

33. जानकीपुरम् सेक्टर जे एवं विस्तार योजना के से0 1 से 9 तक में स्थित 72 पार्कों एवं जानकीपुरम तृतीय वार्ड मेरी मेटस्थित पाकों के आधानिक सौन्दर्यीकरण व अनुरक्षण का कार्य तथा 15 वे वित्त आयोग के अन्तर्गत वायु गुणवत्ता सुधार हेतु नगर निगम सीमान्तर्गत स्थित 17 विभिन्न पार्कों के सौन्दर्यीकरण व अनुरक्षण का कार्य प्रस्तावित है।

34. नगर निगम, लखनऊ द्वारा विगत 03 माह में विभिन्न 06 स्थानों पर अवैध कब्जेदारों से ₹ 1,60,36,62,000 मूल्य की नगर निगम की 33.85 एकड़ भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराया गया।

35. 15 नग नये नलकूपों का अधिष्ठापन एवं 33 नलकूपों की रिबोरिंग का कार्य (स्वीकृत) प्रस्तावित है।

36. नव विस्तारित क्षेत्र में 04 नग्नये नलकूपों के निर्माण कार्य (स्वीकृत) प्रस्तावित है।

इन उपलब्धियों के ऊपर प्रकाश डालने के उपरांत मा.महापौर ने भविष्य में निरंतर विकास कार्यों को गति प्रदान किये जाने का दावा किया।

100 दिन पूर्ण होने पर महापौर ने किया 96 करोड़ की 282 परियोजनाओं व शिलान्यास व लोकार्पण

उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि 100 दिन 100 कदम और लखनऊ नई प्रगति की ओर अग्रसर हो चुका है। उन्होंने कहा कि महापौर सुषमा खर्कवाल की इन 100 दिनों की मेहनत धरातल पर सफल होती दिखाई दे रही है और 96 करोड़ की 282 परियोजनाएं भी उसी मेहनत का सफल परिणाम है। उन्होंने कहा कि नगर निगम ने इन 100 दिनों में अपनी अच्छी लोकप्रियता हासिल की है।दैनिक कार्यों की दिशा में आम जनता के साथ मिल कर नगर को सुंदर, स्वच्छ और निर्मल बनाने का काम जो महापौर जी के निर्देशन व नेतृत्व में कराया गया है वो निश्चित रूप से ऐतिहासिक है। इसके लिए उपमुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से महापौर, नगर निगम के अधिकारी व कर्मचारी एवं समस्त नगर वासियों को शुभकामनाएं भेंट की।

विधायक नीरज बोरा ने भी सभी को संबोधित करते हुए महापौर को इस ऐतिहासिक उपलब्धि की बधाई दी व लखनऊ में बीते 100 दिनों में हुए विकास कार्यों को ऐतिहासिक बताया। उन्होंने कहा कि इस प्रकार 100 दिनों की उपलब्धियों का आयोजन ऐतिहासिक इस लिए है क्योंकि आज से पहले कभी भी इस प्रकार का आयोजन नगर निगम में नही आयोजित किया गया। निश्चित ही महापौर के अथक प्रयासों से अब लखनऊ नम्बर एक पर आकर स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित होगा।

👉रूस-यूक्रेन संघर्ष के मुद्दे पर विपक्ष सरकार के पक्ष से सहमत

उक्त आयोजन में सदस्य विधान परिषद मुकेश शर्मा, सदस्य विधान परिषद ई. अवनीश कुमार, सदस्य विधान परिषद पवन सिंह चौहान, सदस्य विधान सभा नीरज बोरा, सदस्य विधान सभा योगेश शुक्ला, सदस्य विधान सभा लालजी प्रसाद निर्मल, उप सभापति गिरीश गुप्ता की गरिमामयी उपस्थिति रही। साथ ही समस्त पार्षदगण, भाजपा के कार्यकर्ता एवं नगर निगम के समस्त अधिकारी व कर्मचारीगण आयोजन में मौजूद रहे।

About Samar Saleel

Check Also

एलएलबी की परीक्षा में पकड़ा गया मुन्ना भाई, 10 हजार लेकर दे रहा था एग्जाम

अलीगढ़:  अलीगढ़ के श्री वार्ष्णेय कॉलेज में एलएलबी की परीक्षा हो रही थी, जिसमें आंतरिक ...