Breaking News

पुरानी पेंशन बहाली सहित 11 सूत्रीय मांगों को लेकर धरना, सीएम को ज्ञापन

• पर्यवेक्षकों की देखरेख में सम्पन्न हुआ धरना

लखनऊ। कई राज्यों में पुरानी पेंशन बहाली से उत्साहित प्रदेश राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने पुरानी पेंशन बहाली सहित 11 सूत्रीय मांगों को लेकर एक बार फिर आन्दोलन का रूख अख्तियार किया है। परिषद के शीर्ष नेतृत्व निर्णय के अनुसार प्रदेश की राजधानी सहित सभी जनपद मुख्यालयों पर एक दिवसीय धरना प्रेरणा स्थल (स्व. बीएन की प्रतिमा स्थल) जिलाधिकारी आवास के सामने पार्क में किया गया।

इस धरनें में राजधानी के समस्त विभागों की शत प्रतिशत भागीदारी सुनिश्चित रही। इस दौरान धरने को कई शीर्ष पदाधिकारियों ने सम्बोधित किया। रैली से पूर्व ही 2.45 बजे एसीपी नेहा त्रिपाठी अपने सहयोगियों के साथ धरना स्थल पहुची और धरना दे रहे पदाधिकारियों और सदस्यों को यातायात का हवाला देते हुए धरना स्थल पर ही इस वायदे के साथ ज्ञापन लिया कि प्रबल संस्तुति के साथ उनका ज्ञापन मुख्यमंत्री तक पहुंचा दिया जाएगा। धरने की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष अमिता त्रिपाठी और संचालन सुभाष चन्द्र तिवारी ने किया।

धरने की समीक्षा शिवबरन सिंह यादव, प्रान्तीय महामंत्री, राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद, उप्र अविनाश चन्द्र श्रीवास्तव, का. महामंत्री, राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद, उप्र इं. दिवाकर राय पूर्व का. अध्यक्ष, उप्र डिप्लोम इंजी संघ, इं. एनडी द्विवेदी, अध्यक्ष, उप्र डिप्लोमा इंजी संघ, इं. जीबी पटेल, प्रान्तीय अध्यक्ष, राज्य विद्युत परिषद, जू.इंजी संगठन उप्र, इं. नितेन्द्र श्रीवास्तव, प्रान्तीय महासचिव, सिविल डिप्लो इंजी संघ (सिंचाई विभाग उप्र), इं गजेन्द्र सिंह, प्रान्तीय महासचिव, वि/.यॉ. इंजी संघ (सिंचाई विभाग) इं साहबलाल सोनकर, प्रान्तीय अध्यक्ष, डिप्लोमा इंजी0 संघ (ग्रामीण विभाग) उप्र अमरजीत मिश्रा, महासचिव, सिंचाई विभाग ड्राइंग स्टाफ एसो. उप्र, किरन दुबे, प्रदेश महामंत्री, मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उप्र रजनीश अरोड़ा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष,उप्र औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान कर्मचारी संघ, बृजेन्द्र कुमार सिंह, प्रान्तीय महामंत्री राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थन प्राविधिक कर्मचारी संघ उप्र, परशुराम कश्यप, प्रदेश अध्यक्ष, चतुर्थ श्रेणी पुलिस परिवार वेलफेयर एसोसिएशन उप्र, अरून सिंह, महामंत्री, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण महासंघ, अमिता त्रिपाठी एवं सुभाष चन्द्र तिवारी ने बताया कि राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उप्र के प्रान्तीय नेतृत्व द्वारा राज्य कर्मचारियों के सेवाहितों को बनाये रखने व पुरानी #पेंशन व्यवस्था बहाली, राज्य कर्मचारियों को केन्द्र के समान भत्तों की मांग, पं. दीनदयाल उपाध्याय कर्मचारी कैशलेस चिकित्सा योजना एवं वेतन विसंगतियों का निस्तारण एवं शासनादेष के निर्देशानुसार सेवा संगठनों से नियमित बैठक करने व अन्य मांगों के समर्थन में आज प्रातः 11ः00 बजे से अपरान्ह 3ः00 बजे तक प्रेरणा स्थल (स्व. बीएन सिंह की प्रतिमा स्थल) जिलाधिकारी आवास के सम्मुख शन्तिपूर्ण धरना किया गया। धरने को जेबी पटेल, राजर्षि त्रिपाठी, अवधेश यादव, लोकेश गुप्ता, जितेन्द्र कुमार सिंह आदि ने सम्बोंधित किया।

परिषद से सम्बद्ध संगठनों के कर्मचारियों द्वारा भाग लिया गया। उन्होनेे बताया कि परिषद की मुख्य मांगों में 01 अप्रैल, 2005 से पूर्व चयनित प्रषिक्षणाधीन राजस्व लेखपाल व अन्य संवर्ग को पुरानी पेंषन व्यवस्था से आच्छादित किया जाय। धर्मेन्द्र सिंह वरिष्ठ उपाध्यक्ष, फईम अख्तर ने बताया राज्य कर्मचारियों और शिक्षकों के रोके गए तथा समाप्त किये गये महंगाई व अन्य भत्ते बहाल किए जायें। विभागीय पदोन्नति किये जाते समय पोषक पद पर कार्यरत कार्मिक को पदोन्नति हेतु पात्र माने जाने एवं किन्तु विभागीय कार्यवाही प्रचलित होने के कारण पदोन्नति का पद नही दिया जाता है लेकिन पदोन्नति सवंर्ग में एक पद रिक्त रखा लिया जाता है, तथा परिणाम बन्द लिफाफा में रखा जाता है, ऐसी स्थिति में कार्मिक का एक साथ दो पदों पर धारणाधिकार रहता है। इस कारण जहां पोषक संवर्ग में एक पद तथा पदोन्नति संवर्ग में भी एक पद संरक्षित रहता है, इस विसंगति को दूर किया जाय। विभिन्न विभागों में चल रहे रिक्त पदों पर विभागवार अभियान चलाकर निर्धारित पदों के सापेक्ष तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मियों की भर्ती की जाये।

About Samar Saleel

Check Also

गुरु तेग बहादुर की जीवनी पर आधारित अमर चित्र कथा पुस्तिका का विमोचन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। गुरु श्री तेग बहादुर जी के शहीदी ...