पं० दीनदयाल प्रखर राष्ट्रवादी, उत्कृष्ट संगठनकर्ता, एकात्म मानववाद और अंत्योदय के प्रणेता थे : डॉ. दिनेश शर्मा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा आज यहां अटल बिहारी बाजपेई साइंटिफिक कन्वेंशन सेंटर केजीएमयू में पंडित दीनदयाल उपाध्याय के 105वे जन्मदिवस के अवसर पर आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में सम्मिलित हुए।इस अवसर पर कोरोना योद्धाओं एवं कोरोना शहीदों के परिजनों का सम्मान समारोह भी आयोजित किया गया।

उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर पंडित जी को शत्-शत् नमन करते हुए कहा कि प० दीनदयाल उपाध्याय जी प्रखर राष्ट्रवादी, उत्कृष्ट संगठनकर्ता, एकात्म मानववाद और अंत्योदय के प्रणेता थे। उन्होंने भारत की सनातन विचारधारा को युगानुकूल रूप में प्रस्तुत करते हुए देश को एकात्म मानववाद की विचारधारा दी। वे एक समावेशित विचारधारा के समर्थक थे वे एक मजबूत और सशक्त भारत चाहते थे। प० जी का लखनऊ से घनिष्ठ संबंध था। लखनऊ उनकी कर्मस्थली रही है।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि पण्डित दीनदयाल उपाध्याय जी का जीवन कठिन परिस्थितियों में व्यतीत हुआ था उन्होंने सतत अध्ययन से जीवन की उपलब्धियों को प्राप्त किया। उनका सपना था की एक भेदभाव एवं जातिवादी रहित समाज की स्थापना हेतु अथक प्रयास किया जाए। उन्होंने कहा कि राजनीति के अतिरिक्त साहित्य में भी उनकी गहरी अभिरुचि थी।

उन्होंने हिंदी और अंग्रेजी भाषाओं में कई लेख लिखे, जो विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हुए। वे राष्ट्र के सजग प्रहरी व सच्चे राष्ट्र भक्त के रूप में भारतवासियों के प्रेरणास्त्रोत रहे हैं। राष्ट्र की सेवा में सदैव तत्पर रहने वाले दीनदयालजी का यही उद्देश्य था कि वे अपने राष्ट्र भारत को सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक, शैक्षिक क्षेत्रों में बुलंदियों तक पहुंचा देख सकें।

केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के 105वे जन्मदिवस के अवसर पर कहा कि प० दीनदयाल उपाध्याय जी के उद्देश्यों को गांव गांव तक तक पहुंचाने पर विशेष बल दिया गया और यह भी बताया गया की माननीय प्रधानमंत्री जी तथा उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पंडित जी के सपनो को साकार करने हेतु युद्ध स्तर पर कार्य किए जा रहे हैं।

पंडित दीनदयाल उपाध्याय के 105वे जन्मदिवस के अवसर पर प्रदेश के विधायी एवं न्याय मंत्री बृजेश पाठक, नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, महापौर लखनऊ संयुक्ता भाटिया, कुलपति केजीएमयू डा. विपिन पुरी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने इसके उपरांत ममता मॉर्डन स्कूल राजाजीपुरम में बने अटल टिंकरिंग लैब का उद्घाटन किया। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि विद्यालयों में कोरोना गाइडलाइन का अक्षरशः पालन करते हुए भौतिक रूप से पठन–पाठन कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित संभ्रांत नागरिकों पार्षदों शिक्षकों एवं संगठन के पदाधिकारियों से विचार विमर्श किया और कराएं जा रहे विकास कार्यों के बारे में जानकारी भी ली।

इस अवसर पर पार्षदगण नागेंद्र सिंह, संतोष राय, विजय गुप्ता, शिवपाल सावरिया, राजीव त्रिपाठी, संतोष राय, अरविंद मिश्रा, अनुराग मिश्रा, योगेश शुक्ला, पूर्व पार्षद जितेन्द्र उपाध्याय तथा ममता मॉर्डन स्कूल के प्रबंधक ईशान शर्मा सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

About Samar Saleel

Check Also

डॉ. आंबेडकर के विचारों पर वर्तमान सरकार का अमल

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें डॉ. भीमराव रामजी आंबेडकर की प्रतिष्ठा में सर्वाधिक ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *