RBI के फैसलों से शेयर बाजार में आई बहार: Sensex ने पहली बार छुआ 45000 का स्तर

RBI ने ब्याज दरों में भले ही बदलाव नहीं किया हो। लेकिन आर्थिक ग्रोथ को लेकर अनुमान बढ़ा दिया। इन्हीं संकेतों से बाजार खुश हो गया है। सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन यानी शुक्रवार को शेयर बाजार में जोरदार बढ़त देखी जा रही है। साथ ही, इस साल बैंकों को डिविडेंड नहीं देना होगा। ऐसे में बैंकों के पास ज्यादा लिक्विडिटी रहेगी। इसीलिए बैंक निफ्टी में खरीदारी लौटी है जिसका असर दोनों प्रमुख इंडेक्स पर दिख रहा है। BSE का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 400 अंक बढ़कर 45,000 के पार पहुंच गया है। वहीं, NSE का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 110 अंक बढ़कर 13,244 के रिकॉर्ड स्तर पर है।

गुरु नानक जयंती के उपलक्ष्य पर सोमवार को भारतीय शेयर बाजार, बॉन्ड और मुद्रा बाजार बंद थे। अगले कुछ महीने अर्थव्यवस्था के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण है।वहीं दिग्गज शेयरों की बात करें, तो आज शुरुआती कारोबार के दौरान गेल, अडाणी पोर्ट्स, भारती एयरटेल और अल्ट्राटेक सीमेंट के शेयर तेजी पर थे। वहीं ओएनजीसी, टेक महिंद्रा, टाटा स्टील और एशियन पेंट्स के शेयर लाल निशान पर खुले। सेक्टोरियल इंडेक्स पर नजर डालें, तो आज आईटी के अतिरिक्त सभी सेक्टर्स हरे निशान पर खुले। इनमें फाइनेंस सर्विसेज, प्राइवेट बैंक, बैंक एफएमसीजी, रियल्टी, ऑटो, फार्मा, पीएसयू बैंक, मेटल और मीडिया शामिल हैं।

बता दें कि प्री ओपन के दौरान सुबह 9.03 बजे सेंसेक्स 84.06 अंक यानी 0.19 फीसदी की बढ़त के बाद 44716.71 के स्तर पर था। वहीं निफ्टी 27.90 अंक यानी 0.21 फीसदी ऊपर 13161.80 के स्तर पर था।

Loading...

पिछले कारोबारी दिन सेंसेक्स-निफ्टी रिकॉर्ड ऊंचाई पर खुले थे। सेंसेक्स 148.91 अंक (0.33 फीसदी) ऊपर 44766.95 के स्तर पर खुला था और निफ्टी की शुरुआत 47.50 अंकों की तेजी (0.36 फीसदी) के साथ 13161.30 पर हुई थी।

गौर हो कि गुरुवार को शेयर बाजार मामूली बढ़त पर बंद हुआ था। सेंसेक्स 0.03 फीसदी की तेजी के साथ 14.61 अंक ऊपर 44632.65 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 0.15 फीसदी (20.15 अंक) की तेजी के साथ 13133.90 के स्तर पर बंद हुआ था।

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

बंगाल: ममता सरकार कृषि कानूनों के खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव लाएगी, दो दिवसीय विशेष सत्र आज से शुरू

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें देश की राजधानी दिल्ली में नए कृषि कानूनों ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *