पूर्वोत्तर रेलवे के आधारभूत ढाँचे के विस्तार एवं सुदृढ़ीकरण के लिए स्वीकृत की गई कई परियोजनायें

लखनऊ। रेल यात्रियों के बेहतर सुविधा एवं माँग के अनुरूप ट्रेनों की संख्या में वृद्धि के लिए, भारतीय रेल द्वारा आधारभूत ढाँचे के विस्तार एवं सुदृढ़ीकरण हेतु अनेक निर्माण परियोजनाएं जैसे कि दोहरीकरण, तीसरी लाइन, यातायात सुविधा सम्बन्धी कार्यों को विशेष प्राथमिकता दी जा रही है। क्षेत्रीय रेलों द्वारा महत्वपूर्ण निर्माण परियोजनाओं को चिन्हित किया जा रहा है एवं रेलवे बोर्ड में उच्च स्तर पर इन्हें स्वीकृति प्रदान की जा रही है।

इसी क्रम में रेलवे बोर्ड द्वारा पूर्वोत्तर रेलवे की तीन निर्माण परियोजनाओं के फाइनल लोकेशन सर्वे (एफ.एल.एस.) हेतु स्वीकृति प्रदान करने के साथ ही धन का आवंटन भी किया गया है। पूर्वोत्तर रेलवे के अन्तर्गत दो व्यस्ततम खण्डों में तीसरी लाईन के लिए ‘फाइनल लोकेशन सर्वे‘ के कार्य को स्वीकृति मिली है।

  • 29.73 किमी. लम्बे कुसम्ही-बैतालपुर तीसरी लाइन के फाइनल लोकेशन सर्वे की स्वीकृति के साथ ही इस कार्य हेतु लगभग 59 लाख रुपए का आवंटन किया गया है।
  • जगतबेला स्टेशन पर डाउन लूप लाइन के विस्तार के साथ ही डोमिनगढ़-खलीलाबाद के बीच 30 किमी. लम्बी तीसरी लाइन के निर्माण हेतु फाइनल लोकेशन सर्वे के लिये लगभग 60 लाख रुपये आवंटित किये गये हैं।
  • 19.31 किमी. लम्बे भोजीपुरा-बरेली ट्विन सिंगल लाइन के फाइनल लोकेशन सर्वे हेतु लगभग 39 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

इन तीनों परियोजनाओं का फाइनल लोकेशन सर्वे उच्च प्राथमिकता के आधार पर सम्पादित किया जायेगा। बता दें कि पूर्वोत्तर रेलवे पर डोमिनगढ़-गोरखपुर-गोरखपुर छावनी-कुसम्ही पर एवं गोण्डा-बुढ़वल पर तीसरी लाइन का कार्य प्रगति पर है।

रिपोर्ट – दया शंकर चौधरी

About reporter

Check Also

एसपी के नेतृत्व में निकली तिरंगा यात्रा, लोगों ने की पुष्प वर्षा

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें हर घर तिरांगा लगाने का दिया गया संदेश, ...