Breaking News

आपस में टकराए सुखोई-30 और मिराज, हादसे में घायल दो पायलट को सुरक्षित बाहर निकाला गया, एक शहीद

मध्य प्रदेश के मुरैना में सुखोई-30 और मिराज 2000 एयरक्रॉफ्ट आपस में टकराकर क्रैश हो गए। डिफेंस सूत्रों ने जानकारी दी है कि मध्य प्रदेश के मुरैना में वायुसेना का एक सुखोई-30 MKI और एक मिराज-2000 क्रैश हो गया है। दोनों एयरक्राफ्ट्स ने ग्वालियर एयरबेस से उड़ान भरी थी। वायुसेना और जिला प्रशासन के अफसर मौके पर पहुंच गए हैं।

रक्षा सूत्रों ने कहा, “एक सुखोई -30 और मिराज 2000 विमान मध्य प्रदेश के मुरैना के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गए हैं। खोज और बचाव अभियान शुरू कर दिया गया है।” IAF ने कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दिए हैं।

मध्य प्रदेश के मुरैना में शनिवार सुबह बड़ा हादसा हो गया, जिसमें एयरफोर्स के दो लड़ाकू विमान सुखोई-30 और मिराज 2000 दुर्घटनाग्रस्त हो गए। सूचना मिलते ही मौके पर राहत बचाव दल पहुंचा और आगे की कार्रवाई में जुट गया। इस हादसे में एक पायलट शहीद  हो गया। रक्षा सूत्रों के मुताबिक दोनों विमानों ने मध्य प्रदेश के ग्वालियर एयरबेस से उड़ान भरी थी, जहां अभ्यास चल रहा था। रक्षा मंत्री ने एयरफोर्स चीफ से इस हादसे को लेकर बातचीत की है। विमानों में तीन पायलट सवार थे। विमान का मलबा मुरैना और राजस्थान के भरतपुर में मिला है। इससे पहले तक कयास लगाए जा रहे थे कि भरतपुर में भी एक हेलिकॉप्टर क्रैश हुआ है, हालांकि बाद में पुष्टि हुई कि भरतपुर में इन्हीं दो लड़ाकू विमानों का मलबा गिरा है। वहां कोई अलग एयरक्राफ्ट या हेलिकॉप्टर क्रैश नहीं हुआ है।

मुरैना के कलेक्टर ने जानकारी देते हुए बताया कि जेट विमान सुबह साढ़े पांच बजे दुर्घटनाग्रस्त हुए थे। दो पायलट सुरक्षित बाहर निकल गए। हादसे के बाद वायुसेना ने मामले की जांच के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी बैठा दी है, जो यह देखेगी कि क्या दोनों विमान आपस में टक्कर से दुर्घटनाग्रस्त हुए हैं या फिर किसी और कारण से। जानकारी के मुताबिक दुर्घटना के दौरान सुखोई 30 में 2 पायलट थे जबकि मिराज 2000 में एक पायलट था। दो पायलट सुरक्षित हैं, जबकि एक की मौत हो गई।

About News Room lko

Check Also

उत्तर रेलवे ने स्टेशनों पर पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए प्रयास तेज किए

नई दिल्ली। गर्मी के मौसम में संभावित गर्मी की लहरों की आशंका को देखते हुए, ...