Breaking News

यूपी में रविवार को सम्पूर्ण लॉकडाउन, मास्क न लगाने पर 10 हजार रुपये तक जुर्माना

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में लगातार कोरोना के बढ़ते मामलो को देखते हुए योगी सरकार ने सख्त कदम उठाते हुए रविवार को संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया है। रविवार को लॉकडाउन के फैसले के अलावा मास्क को लेकर भी सख्त फैसला लिया गया। कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर की चपेट में आने के बावजूद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रोजाना टीम-11 और फील्ड के अफसरों के साथ वर्चुअली बैठक कर रहे हैं। शुक्रवार को टीम-11 के साथ समीक्षा बैठक के बाद सीएम योगी ने प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए हर रविवार शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में कंपलीट लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है।

उत्तर प्रदेश में अब सभी शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में रविवार को पूर्णतया बंदी रहेगी। प्रदेश में बिना मास्क के कोई नहीं चल सकेगा। पहली बार मास्क न लगाने पर एक हजार रुपये तक का जुर्माना देना पड़ेगा। वहीं अगर दूसरी बार बिना मास्क के पकड़ा गया तो उसे 10 हजार रुपये तक का जुर्माना देना पड़ेगा। यूपी सरकार ने हर रविवार को राज्य को पूरी तरह से बंद रखने का आदेश दिया है। हालांकि इसे साप्ताहिक बंदी का नाम दिया गया है। इसमें आवश्यक सेवाओं के अलावा सब कुछ बन्द रहेगा। प्रदेश के सर्वाधिक संक्रमित जिलों में व्यापक सैनिटाइजेशन अभियान चलाया जाएगा। लॉकडाउन की अवधि शनिवार रात 8 बजे शुरू हो जाएगी और सोमवार सुबह 7 बजे तक लागू रहेगी।

गौरतलब है अभी गुरुवार को ही राज्य में घोषणा हुई थी कि राज्य में सारे स्कूल 15 मई तक बंद रहेंगे। यूपी बोर्ड की परीक्षाएं भी टाल दी गई हैं। बता दें कि गुरुवार को ही राज्य में महामारी की शुरुआत के बाद से एक दिन में सबसे ज्यादा नए मामले सामने आए थे। यहां एक दिन में 22,439 मामले दर्ज हुए थे और 104 मौतें हुई थीं। बुधवार को एक दिन में 20,510 केस दर्ज हुए थे। राज्य के 10 जिलों में नाइट कर्फ्यू की भी घोषणा की गई थी। जिन 10 जिलों में शाम को 7 बजे से सुबह 8 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है इनमें लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गौतम बुद्ध नगर, गाजियाबाद, मेरठ और गोरखपुर शामिल हैं। लखनऊ, वाराणसी और प्रयागराज राज्य में कोविड से सबसे ज्यादा प्रभावित जिले हैं।

वाराणसी में अभी कल बाहर से आने वालों से अपील की गई है कि बहुत जरूरी न हो तो वो न आएं। वहीं शहर के मंदिरों में प्रवेश करने के लिए निगेटिव RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट भी अनिवार्य कर दिया गया है। बता दें कि शुक्रवार को पूरे देश में कोरोना के मामले सबसे ज्यादा हाई आए हैं।

भरण-पोषण भत्ता सूची अपडेट करने के निर्देश

बैठक के दौरान सीएम योगी ने भरण-पोषण भत्ता की सूची अपडेट करने के भी निर्देश दिए हैं। इससे जल्द ही गरीबों को राहत राशि मिल सकेगी। वहीं विधायक निधि का उपयोग भी कोविड केयर फंड में किया जाएगा। सीएम योगी ने उन जिलों में कोविड हॉस्पिटल बनाने का निर्देश दिया है, जहां कोरोना संक्रमितों की संख्‍या 2 हजार से अधिक हैं। निजी अस्पतालों को भी कोविड-19 अस्पताल के रूप में परिवर्तित करने का आदेश दिया गया है।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

भाजपा सरकार की कुरीतियां प्रदेशवासियों को पड़ रहीं भारी: अखिलेश यादव

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *