Breaking News

दिल्ली के जंतर-मंतर पर पहलवानों और पुलिस के बीच हुई धक्कामुक्की , कैमरों के सामने रोने लगी विनेश फोगाट

दिल्ली के जंतर-मंतर पर पहलवानों और पुलिस के बीच हुई इस धक्कामुक्की के बाद शीर्ष पहलवान विनेश फोगाट रोने लगीं। मीडिया के कैमरों के सामने रोते-रोते विनेश फोगाट ने कहा कि क्या हमने इसी दिन के लिए मेडल जीते थे?

प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि शराब के नशे में धुत एक पुलिस अधिकारी ने दो पहलवानों पर हमला किया। विनेश फोगाट ने कहा कि पुलिसवाले सभी को धक्का दे रहे थे। विनेश फोगाट ने कहा, ‘हम क्रिमिनल्स नहीं है जो हमारे साथ वो ऐशा व्यवहार कर रहे हैं। विनेश फोगाट ने मौके पर महिला पुलिसकर्मियों के नहीं होने का मुद्दा भी उठाया। विनेश फोगाट ने कहा, ‘मुझे पुलिसवाले ने धक्का दिया और गाली दी, महिला पुलिसकर्मी कहां हैं?’

जंतर-मंतर पर हुए इस हंगामे के बाद दिल्ली पुलिस ने भी अपनी बात रखी है। पुलिस से जब बिस्तरों को लेकर सवाल पूछा गया तब पुलिस ने कहा आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती को इस हंगामे के बाद हिरासत में लिया गया। सोमनाथ भारती प्रदर्शन स्थल पर फोल्डिंग बेड के साथ बिना अनुमति के आए थे। यहां आने के बाद उनके समर्थक आक्रामक हो गए और अनुमति नहीं होने के बावजूद उन्होंने ट्रक के जरिए इन बेड्स को यहां लाने की कोशिश की। जिसके बाद सोमनाथ भारती और दो अन्य लोगों को हिरासत में लिया गया। पुलिस ने इस घटना के बाद जंतर-मंतर इलाके को सील कर दिया है। किसी को भी प्रदर्शन स्थल पर जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है।

इधर पहलवान बजरंग पूनिया कैमरे के सामने भावुक हो गए। उन्होंने सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि सरकार उनके सारे मेडल वापस ले ले। बता दें कि बजरंग पूनिया ने विश्व कुश्ती प्रतियोगिता में देश को 4 मेडल दिलवाए हैं। 23 अप्रैल से ही बजरंग पूनिया दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। बजरंग पूनिया ने कहा कि बारिश की वजह से हमारे बिस्तर भींग गए थे। इसलिए हम फोल्डिंग औऱ बिस्तर ला रहे थे लेकिन पुलिस ने हमें अनुमति नहीं दी।

 

About News Room lko

Check Also

अच्छी फिल्में बच्चों को अच्छा इंसान बनाती हैं- अनूप जलोटा

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, कानपुर रोड ऑडिटोरियम में चल रहे सात-दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव ...