Breaking News

नीति आयोग द्वारा योगी की सराहना

योगी सरकार ने अपने साढ़े चार वर्ष पूर्ण होने पर विकास उत्सव का आयोजन किया। यह संयोग था कि इसी दौरान नीति आयोग के उपाध्यक्ष लखनऊ आये। कोरोना आपदा प्रंबधन पर योगी मॉडल की प्रशंसा करने वालों में नीति आयोग भी शामिल रहा है। इसके अलावा विकास की अनेक योजनाओं का कुशल क्रियान्वयन भी सुनिश्चित किया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य सरकार सतत विकास के लक्ष्यों को पूरा कर रही है। इसके दृष्टिगत नीति आयोग के साथ सहयोग को जारी रखा जाएगा। नीति आयोग के मानकों के अनुसार सभी क्षेत्रों में प्रगति व सुधार के विशेष प्रयास सुनिश्चित किये गये हैं।

औद्योगिक विकास एवं अवस्थापना, शिक्षा,बालिका शिक्षा, सूक्ष्म,लघु एवं मध्यम उद्यम,पोषण,कृषि, सिंचाई एवं जल संसाधन आदि क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य किये गये हैं। राज्य सरकार की नीतियों और कार्यक्रमों के क्रियान्वयन से उद्यमशीलता,रोजगार, नवाचार तथा मेक इन यूपी को बढ़ावा मिला है। जन साधारण के जीवनस्तर में सुधार लाये जाने की दिशा में राज्य सरकार द्वारा निरन्तर प्रयास किये गये हैं। ईज ऑफ डुइंग के अलावा ईज ऑफ लिविंग का लक्ष्य प्राप्त किया जाना विभिन्न कार्यक्रमों और योजनाओं का केन्द्र बिन्दु है। प्रत्येक घर में जल,बिजली,हर गांव में सड़क,हर क्षेत्र में बैंकिंग की सुविधा उपलब्ध कराने के दिशा में तेजी से कार्य किये गये हैं। निवेश के संबन्ध में उत्तर प्रदेश एक आकर्षक गन्तव्य के रूप में उभरकर सामने आया है। प्रत्येक जनपद में एक मेडिकल कॉलेज की स्थापना की कार्यवाही प्रगति पर है।

मुख्यमंत्री के साथ नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ राजीव कुमार सहित अन्य अधिकारियों के साथ एक उच्चस्तरीय बैठक सम्पन्न हुई। इस बैठक में पोषण,शिक्षा स्वास्थ्य,ग्रामीण विकास, स्वच्छता एवं पेयजल, सिंचाई एवं जल संसाधन,उद्योग,कृषि, ऊर्जा नमामि गंगे एवं ग्रामीण जल आपूर्ति, ग्राम्य विकास, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, नगर विकास,आवास एवं शहरी नियोजन, चिकित्सा शिक्षा सहित प्रदेश में संचालित विभिन्न विकास योजनाओं की प्रगति के सम्बन्ध में विचार।विमर्श किया गया।

मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार के अधिकारियों को प्रत्येक तिमाही नीति आयोग के अधिकारियों के साथ बैठक कर प्रदेश के विकास व प्रगति के सम्बन्ध में संबंधित मंत्रालयों के स्तर पर बेहतर सामंजस्य स्थापित करने के निर्देश दिए। पांच वर्ष पहले उत्तर प्रदेश में बेसिक शिक्षा बदहाल थी। वर्तमान सरकार ने इसमें सुधार का संकल्प लिया। इसके लिए ऑपरेशन कायाकल्प चलाया गया। इसके अंतर्गत ढांचागत विकास किया गया। साथ ही बालक बालिकाओं को निःशुल्क यूनीफॉर्म,पुस्तकें,बैग, जूता मोजा आदि उपलब्ध कराया गया है। इसके लिए डीबीटी के माध्यम से खातों में धनराशि अन्तरित की जा रही है।

राज्य सरकार का प्रयास है कि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रहे। निराश्रित गोवंश की देखभाल के लिए प्रति गोवंश नौ सौ रुपये प्रतिमाह उपलब्ध कराया जा रहा है। सहजन के वृक्षों के रोपण को बढ़ावा दिया गया है। इससे कुपोषण को दूर करने में मदद मिलेगी। प्रदेश में गौ आधारित तथा जैविक कृषि को प्रोत्साहित किया जा रहा है। बुन्देलखण्ड में सिंचाई सुविधाओं में वृद्धि की गयी है। किसानों को उनकी उपज का एमएसपी के तहत भुगतान सुनिश्चित किया गया है।

दलहन तिलहन सहित ज्वार बाजरा आदि के उत्पादन को प्रोत्साहित किया गया है। नमामि गंगे परियोजना के तहत सभी परियोजनाओं को समयबद्ध ढंग से पूर्ण किये जाने के निर्देश दिए गये हैं। प्रदेश और गंगा जी के तटवर्ती क्षेत्रों में फलदार वृक्षों और ऑर्गेनिक खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है। डॉ राजीव कुमार ने उत्तर प्रदेश में विगत साढ़े चार वर्षाें की प्रगति को सराहनीय बताया। कहा कि प्रदेश में आठ आकांक्षात्मक जनपदों में हुई उल्लेखनीय प्रगति हुई है। विकास कार्यक्रम लागू किये जाने के पश्चात व्यापक सुधार हुए हैं। विभिन्न क्षेत्रों में राज्य सरकार की नीतियों व कार्यक्रमों के क्रियान्वयन के परिणामस्वरूप प्रदेश में विकास और प्रगति सुनिश्चित हुई है।

नीति आयोग द्वारा तैयार किये गये एक्शन प्लान पर राज्य सरकार द्वारा सकारात्मक कार्यवाही की गयी है। स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्रों में व्यापक सुधार दिखाई दिए हैं। विकास कार्यक्रमों के क्रम में योगी आदित्यनाथ ने जौनपुर में एक सौ पन्द्रह परियोजनाओं का लोकार्पण तथा चवालीस परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इसके अलावा उन्होंने गाजीपुर में एक हजार पच्चीस विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश अब एक भारत श्रेष्ठ भारत।बनने की दिशा में तेजी से प्रगति कर रहा है। आधारभूत संरचना के विकास के क्षेत्र में रोज नए कीर्तिमान बन रहे हैं। राज्य सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश को देश की नम्बर एक अर्थव्यवस्था बनाने की कार्ययोजना पर अमल किया जा रहा है। प्रदेश सरकार के विगत साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में प्रदेश की छवि बेहतर हुई है। आज उत्तर प्रदेश विकास व सुरक्षा के नये मानक स्थापित कर रहा है।

प्रदेश सभी जनपदों में मेडिकल कॉलेज स्थापित करने का अभियान चलाया गया। केवल सोलह जनपद ऐसे है जिनमें मेडिकल कॉलेज नहीं है। इनमें भी मेडिकल कॉलेज बनने की कार्यवाही को आगे बढ़ाया जा रहा है। गाजीपुर मेडिकल कॉलेज का नामकरण महर्षि विश्वामित्र किया गया है। काशी से गाजीपुर होते हुए गोरखपुर चार लेन सड़क मार्ग का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे गाजीपुर से जुड़ रहा है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सात वर्षों में देश की तस्वीर बदलने का कार्य किया है। बिना भेदभाव के विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ पात्र लोगों को प्रदान किया जा रहा है। केन्द्र व प्रदेश सरकार अन्त्योदय के लक्ष्य के लिए प्रतिबद्ध है। समग्र विकास के लिए निरन्तर कार्य किए जा रहे हैं।

देश के लगभग पचास करोड़ लोगों को आयुष्मान योजना से जोड़ा गया है। जिसके तहत पांच लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया जा रहा है। देश में अब तक ढाई करोड़ लोगों को निःशुल्क आवास उपलब्ध कराए जा चुके हैं। जिससे उत्तर प्रदेश के बयालीस लाख परिवार शामिल है। प्रत्येक ग्राम पंचायत में ग्राम सचिवालय भवन निर्मित कराए जा रहे हैं, जिनमें कम्प्यूटर ऑपरेटर की नियुक्ति कर ग्राम पंचायत के विकास कार्यों को आगे बढ़ाया जा रहा है। प्रदेश सरकार प्रत्येक गांव में बैंकिंग कॉरेस्पॉन्डेन्ट सखी की नियुक्ति करने जा रही है। जिससे गांव में ही बैंकिंग कार्य का कार्य हो सकेगा। लोक कल्याण के लिए विकास योजनाओं द्वारा आधारभूत अवसंरचना को लगातार मजबूत किया जा रहा है।

About Samar Saleel

Check Also

मेडिकल स्टोर कर्मचारी के हत्याकांड में लापरवाही बरतना इंस्पेक्टर को पड़ा भारी, हुआ ये…

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें कानपुर के दर्शनपुरवा में हुए मेडिकल स्टोर कर्मचारी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *