भाजपा सरकार ने शिक्षामित्रों की पीठ में मारा छुरा-संजय सिंह

मुजफ्फरनगर। भाजपा ने चुनाव के दौरान शिक्षामित्रों को परमानेंट करने का वादा किया था लेकिन सरकार बनने के बाद भाजपा ने उनके साथ विश्वासघात कर दिया। योगी सरकार ने शिक्षमित्रों के पीठ पर छुरा मारा है। यह बात आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कही। श्री सिंह तमाम मुद्दों को लेकर आम आदमी पार्टी के सैंकड़ों कार्यकताओं से साथ प्रदेश भर में जनअधिकार पदयात्रा कर रहे हैं। इसी क्रम में दूसरे चरण की पदयात्रा सहारनपुर से गौतमबुद्ध नगर तक की जा रही है। यात्रा आज सहारनपुर से चलकर शामली होते हुए मुजफ्फरनगर जनपद में खिताबी तक पहुंच गयी। मंगलवार को ख़ितावी से यात्रा शरू होकर मेरठ के लिए रवाना होगी। यात्रा के दौरान जगह-जगह पर शहर के दुकानदारों और स्थानीय नागरिकों ने सांसद संजय सिंह का जोरदार स्वागत किया और यात्रा को समर्थन दिया।

भाजपा सरकार गन्ना किसानों का दस हजार करोड़

सांसद संजय सिंह ने कहा कि आम आदमी पार्टी गन्ना किसानों का दस हजार करोड़ रुपये के बकाया भुगतान कराने के लिए सड़क पर उतर कर संघर्ष करेगी। जिलाधिकारी, कमिश्नर, विधायक, मंत्रियों का घेराव करेगी। सांसद संजय सिंह ने घोषणा की है कि मुजफ्फरनगर में किसान मसीहा महेंद्र सिंह टिकैत की प्रतिमा लगवाई जाएगी। उन्होंने पश्चिमी उत्तर की जनता से अपील की है कि लोकसभा चुनाव आने वाला हैं लोग फर्जी वीडियो बनाकर हिन्दू-मुस्लिम दंगा करवाने वाले भाजपाई नेताओं से सावधान रहें। उन्होंने मांग किया कि सरकारी विभागों में 2005 के बाद की नियुक्ति वाले कर्मचारियों को पुरानी पेंशन दी जाए,आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों,सभी विभागों के संविदा कर्मचारियों को परमानेंट किया जाए,बेटियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए,प्रदेश में बेरोजगारों को रोजगार मिले,किसानों की खुशहाली के लिये स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू हो और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट बेंच की स्थापना हो।

महिला शिक्षकों ने सिर मुड़वाया

श्री सिंह ने कहा शिक्षामित्र राजधानी लखनऊ में काफी दिनों से अपनी मांगों को पूरा करवाने के लिए आंदोलन कर रहे है, महिला शिक्षकों ने अपना सिर मुड़वा लिया। यह योगी सरकार के लिए ये बेहद शर्मिंदगी की बात है। योगी सरकार शिक्षमित्रों को स्थायी करने के बजाय उनके ऊपर बर्बरतापूर्वक लाठियां चलवाकर आंदोलन को खत्म करना चाहती है। उन्होंने बताया कि शिक्षमित्रों की परमानेंट की मांग को सदन के पटल पर रखी है साथ ही बताया कि जब अन्य राज्य कानून में कुछ बदलाव कर उनको स्थाई कर सकते हैं तो मुख्यमंत्री योगी जी उनको स्थाई क्यों नही कर रहे हैं। इससे भाजपा की कथनी और करनी में अंतर साफ नजर आता है।

भाजपा गाय-गोबर,लव-जेहाद जैसे मुद्दों पर राजनीति

उन्होंने कहा कि देश में कालाधन नही आया बल्कि विदेश की बैंकों में काला धन दुगुना बढ़ गया है। भाजपा गाय, गोबर, लव जेहाद, एंटीरोमियों जैसे मुद्दों पर राजनीति कर रही है। जब जनता भाजपा सरकार से शिक्षा, रोजगार, महगाई, सुरक्षा पर सवाल करती है तो उन्हें देशद्रोही घोषित करने का प्रयास करते हैं। हिन्दू और मुसलमानों को आपस में लड़ाकर नफरत फैलाने का काम किया जा रहा है। बीजेपी नफरत की राजनीति करके समाज को तोड़ने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा बीजेपी को अफवाह फैलाने और जुमलेबाजी करने में महारत हासिल है।

उत्तर प्रदेश की जनता को भी बुनियादी सुविधाएं

प्रदेश प्रवक्ता महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश की तकदीर और तस्वीर बदलने के लिए आम आदमी पार्टी दिन रात मेहनत कर रही है। जिस तरह से दिल्ली में केजरीवाल सरकार दिल्ली की जनता को सबसे सस्ती बिजली दे रही है,सरकारी स्कूलों में पढ़ाई का बेहतर माहौल बना दिया जिसकी आज देश विदेश सभी जगह इसकी चर्चा हो रही है। स्वास्थ्य सेवाओं के तहत दिल्ली की जनता का फ्री में उपचार हो रहा है। मोहल्ला क्लीनिक से लोगों को अपने ही मोहल्ले में इलाज मिल रहा है। इसी तरह से आम आदमी पार्टी चाहती है कि उत्तर प्रदेश की जनता को भी बुनियादी सुविधाएं मिलनी चाहिए। उन्होंने बताया जनअधिकार पदयात्रा को जनता और मुद्दों से जुड़े हुए लोगों का जबरदस्त समर्थन मिल रहा है। जगह-जगह पर लोग सांसद संजय सिंह का स्वागत कर रहे है और पार्टी से भी जुड़ रहे हैं। पदयात्रा में प्रमुख रूप से पश्चिम प्रांत के अध्यक्ष सोमेंद्र ढाका,सचिव पंकज पाठक,प्रदेश प्रवक्ता महेंद्र प्रताप सिंह,यूपी एवं बिहार कोर्डिनेटर समर कुमार सिंह,अंकुश कुमार,अवध प्रांत छात्र विंग अध्यक्ष जिला वंशराज दुबे,अरविंद बालियान,रमेश सिंह, विनय पटेल, सौरभ वर्मा, शैलेश, अरविंद यादव, विवेक यादव सहित सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल हुए।

About Samar Saleel

Check Also

दिल्ली सरकार का 10वीं-12वीं के छात्रों तोहफा- नहीं देनी होगी बोर्ड परीक्षा की फीस

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) के 10वीं और 12वीं बोर्ड की फीस बढ़ाने के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *