Breaking News

आकाश एजुकेशनल ने हिन्दी माध्यम में शुरू किया कोर्स

● उप्र. शिक्षा बोर्ड के छात्रों तथा एनईईटी एवं जेईई के प्रतिभागियों के लिये उठाया कदम

लखनऊ। छात्रों की पढ़ाई को सहज तरीके से जारी रखने के साथ-साथ ज़्यादा से ज़्यादा छात्रों को डॉक्टर एवं इंजीनियर बनने के अपने सपने को पूरा करने में मदद करने के लिए, भारत में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराने वाले अग्रणी संस्थान, आकाश एजुकेशनल सर्विसेज लिमिटेड ने उत्तर प्रदेश राज्य शिक्षा बोर्ड के उन सभी छात्रों के लिए हिंदी माध्यम में बैच की शुरुआत की है, जो जेईई एवं एनईईटी परीक्षाओं में सफलता पाना चाहते हैं। आकाश एजुकेशनल ने विभिन्न राज्यों के शिक्षा बोर्ड के छात्रों को क्षेत्रीय भाषाओं में शिक्षण प्रदान करने की योजना बनाई है। सीबीएइई से मान्यता प्राप्त स्कूलों के छात्रों के लिए अंग्रेज़ी माध्यम में डिज़ाइन किए गए कोर्स के अलावा, हिंदी माध्यम में नए कोर्स की शुरुआत करना आकाश एजुकेशनल सर्विसेज लिमिटेड द्वारा विभिन्न राज्यों के शिक्षा बोर्ड के छात्रों को भी क्षेत्रीय भाषाओं में एनईईटी एवं जेईई के लिए शिक्षण प्रदान करने के विज़न का हिस्सा है।

इस कार्यक्रम का उद्देश्य उन सभी छात्रों को एकीकृत तरीके से शिक्षण का अनुभव प्रदान करना है, जो अपने बोर्ड की परीक्षाओं के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी भी कर रहे हैं। गौरतलब है कि, उत्तर प्रदेश राज्य शिक्षा बोर्ड भारत में राज्य स्तर पर सबसे बड़ा शिक्षा बोर्ड है। इसके तहत, लगभग 28,000 मान्यता प्राप्त स्कूलों में 10वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों की संख्या लगभग 56 लाख है। वर्ष 2021 में, उत्तर प्रदेश से 71,676 छात्रों ने एनईईटी की परीक्षा और 91,783 छात्रों ने छम्म्ज् की परीक्षा में भाग लिया। इस नई पहल में प्रमुख विशेषताओं में पाठ्यक्रम को बेहद सोच-समझकर तैयार किया जाएगा, जो उत्तर प्रदेश राज्य शिक्षा बोर्ड के दिशा-निर्देशों के अनुरूप होगा।

उम्मीदवारों के लिए पढ़ाई का माध्यम हिंदी होगा, ताकि एनईईटी और जेईई की परीक्षाओं में भाषा की बाधा को दूर किया जा सके तथा हिंदी माध्यम के छात्र भी अंग्रेजी माध्यम के छात्रों के साथ समान रूप से प्रतिस्पर्धा के योग्य बन सकें। उच्च गुणवत्ता वाली अध्ययन सामग्रियों के साथ 11वीं एवं 12वीं कक्षा के पूरे पाठ्यक्रम को कवर किया जाएगा, जिससे छात्र यूपी राज्य शिक्षा बोर्ड के साथ-साथ छम्म्ज् और श्रम्म् जैसी राष्ट्रीय प्रतियोगी परीक्षाओं में भी सफलता पाने में सक्षम होंगे। जेईई में भाग लेने वाले छात्रों को भौतिकी, रसायन विज्ञान, वनस्पति-विज्ञान और जंतु-विज्ञान जैसे विषयों की अध्ययन सामग्री दी जाएगी, जबकि जेईई में भाग लेने वाले छात्रों के लिए भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित जैसे विषयों की अध्ययन सामग्री उपलब्ध होगी।

हिंदी भाषा के छात्रों को दी जाने वाली अध्ययन सामग्री, अंग्रेजी माध्यम के छात्रों के लिए उपलब्ध अध्ययन सामग्रियों का हिंदी अनुवाद होगा। इसी तरह छात्रों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए, सुबह और शाम के समय हिंदी माध्यम में पढ़ाई कर रहे यूपी राज्य शिक्षा बोर्ड के छात्रों के लिए अलग बैच की व्यवस्था की जाएगी। इसके साथ ही छात्रों को स्कूल बोर्ड परीक्षाओं के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं में शानदार सफलता हासिल करने में मदद के लिए आकाश एजुकेशनल ने छात्रों की अभिरुचि जगाने वाले द्विभाषी प्रश्न-पत्रों अंग्रेज़ी और हिंदी की एक सीरीज़ तैयार की है। हिंदी माध्यम में बैचों की शुरुआत के बारे में अपने विचार व्यक्त करते हुए, आकाश चौधरी, प्रबंध निदेशक, आकाश एजुकेशनल सर्विसेज लिमिटेड, ने कहा, हम पहले से ही सीबीएसई के छात्रों को शिक्षण उपलब्ध करा रहे हैं, और अब हमें उत्तर प्रदेश में राज्य शिक्षा बोर्ड के छात्रों के साथ-साथ एनईईटी और जेईई के उम्मीदवारों के लिए हिंदी माध्यम में कोचिंग की शुरुआत करते हुए खुशी का अनुभव हो रहा है। छात्रों को सर्वोच्च प्राथमिकता देने के अपने दृष्टिकोण के साथ, हमारे हिंदी माध्यम के बैच उन सभी छात्रों के लिए वरदान साबित होंगे जो प्रतियोगी परीक्षाओं में अपनी क्षमता के अनुरूप सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहते हैं। उत्तर प्रदेश राज्य शिक्षा बोर्ड भारत में राज्य स्तर पर सबसे बड़ा शिक्षा बोर्ड है, इसलिए सर्वश्रेष्ठ अध्ययन सामग्रियों तथा अत्यधिक कुशल विशेषज्ञों के मार्गदर्शन में हमारे हिंदी माध्यम के बैच हमें बड़ी संख्या में उम्मीदवारों तक पहुंचने का अवसर प्रदान करेंगे।

About Samar Saleel

Check Also

69 साल बाद टाटा समूह के हाथ में आई एयर इंडिया की कमान, बस इस चीज़ का हैं इंतजार…

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें एयरलाइंस कंपनी एयर इंडिया की कमान पूरी तरह ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *