Breaking News

भाजपा सरकार युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ कर रही : सुप्रिया श्रीनेत

लखनऊ। रेलवे भर्ती को लेकर पटना व प्रयागराज में छात्रों पर हुए लाठीचार्ज को लेकर कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जिस तरह से हमने पिछले 48 घंटों में छात्रों पर लाठियां बरसते हुए देखी हैं, छात्रों को खून से लथपथ देखा है, वह शर्मनाक है। यह सभ्य समाज, लोकतंत्र पर धब्बा जैसा है और युवा पीढ़ी के खिलाफ बहुत बड़ी साजिश रची जा रही है। 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले जब बेरोजगारी सिर चढ़कर बोल रही थी, जो आज भी व्याप्त है, तब आनन-फानन में रेलवे ने एक नोटिफिकेशन जारी किया कि ग्रुप डी की नौकरियां भरी जाएंगी।

इस देश के सवा करोड़ युवाओं ने उस फॉर्म को भरा, फीस दी, लेकिन तीन साल बाद भी आजतक भर्तियां नहीं हो पाई हैं। कहीं न कहीं सरकार की यह मंशा युवाओं को नौकरी देने की है ही नहीं। सरकार भर्तियों में पद ख़त्म करते जा रही है, परिणामस्वरूप आज युवा रेलवे ट्रैक पर बैठा है।

फ़रवरी 2019 में आए इस नोटिफिकेशन आधार पर सवा करोड़ युवाओं ने फॉर्म भरा, लेकिन फ़रवरी 2021 में तत्कालीन रेल मंत्री पियूष गोयल कहते हैं कि अभी एजेंसी नियुक्त की जा रही है और अब पता चलता है कि अब परीक्षा के नियम बदलने की बात चल रही है। परीक्षाओं को लटकाने का परिणाम युवा पीढ़ी भुगत रही है। यह सिर्फ बिहार और उत्तर प्रदेश का नहीं पूरे देश का मामला है कि भाजपा ने सिर्फ रोजगार को ख़त्म करने का काम किया है। -श्रीनेत

नोटिफिकेशन आते हैं, परीक्षा होती है और धांधली के चक्कर में परीक्षा रद्द कर दी जाती है और न्यायालय में मामला लटक जाता है। एक ज़माने में रेलवे इस देश का सबसे बड़ा एम्प्लॉयर होता था, आज परीक्षा कराने में असमर्थ है। भाजपा सरकार नौजवानों के साथ खिलवाड़ कर रही है। ये सिर्फ बिहार या उत्तर प्रदेश का मामला नहीं है, आप देश के किसी भी कोने में चले जाइए, आज युवाओं के पास नौकरी नहीं है, क्योंकि 2 करोड़ रोजगार हर साल देने वालों, जिन्होंने वायदा किया था कि हर साल 2 करोड़ रोजगार देंगे और अभी तक 14 करोड़ से ज्यादा रोजगार दे चुके होते, उन्होंने सिर्फ रोजगार को नष्ट करने का, एक इंस्टीट्यूशनल वे में रोजगार को खत्म करने का काम किया है। रोजगार उनकी विफलता से खत्म हुआ है।

छात्रों के मुद्दों से जुड़े हर एक शांतिपूर्ण आंदोलन को कांग्रेस का समर्थन है। मैं बच्चों का रोष समझती हूँ, यह युवा पीढ़ी है, इन लोगों ने पैसा दिया, युवाओं ने अपनी जिंदगी के तीन साल इस परीक्षा की तैयारी में इस विश्वास के साथ दिए कि नौकरी मिल जाएगी। और अब इनको बोला जा रहा है कि शायद परीक्षा रद्द हो जाएगी। लेकिन इन युवाओं से में कहना चाहती हूँ कि जैसा कि हमारे नेता राहुल गांधी ने कहा, यह गांधी का देश है, जो सत्य और अहिंसा से चलता है। शांतिपूर्ण आंदोलनों के सामने बड़े-बड़े तानाशाहों ने घुटने टेके हैं। इसका उदाहरण किसान आंदोलन है, शांतिपूर्ण आंदोलन के आगे प्रधानमंत्री मोदी को अपना हठ छोड़ना पड़ा, किसानों के आंदोलन के आगे झुकना पड़ा। उसी का नतीजा है कि उनको तीन काले कृषि कानून वापस लेने पड़े।

28 जनवरी को छात्रों का रेल रोको आंदोलन है, इसको कांग्रेस पार्टी का समर्थन है, इसको शांतिपूर्ण ढंग से करें क्योंकि गांधी के देश में हिंसा की लेशमात्र भी जगह नहीं है। सुप्रिया

भाजपा सरकार से मैं कहना चाहती हूँ कि जब आप बड़े-बड़े वादे करते हैं, जुमले करते हैं और उन वादों को पूरा नहीं करते हैं, तो आप वादा खिलाफी सिर्फ देश के खिलाफ नहीं बल्कि देश के युवाओं के साथ करते हैं। देश के युवा को सिर्फ और सिर्फ रोजगार चाहिए और भाजपा सरकार युवाओं के रोजगार की बात छोड़कर हर बात करती है। इस हांड़ कंपाने वाली ठंड में बिहार, उत्तर प्रदेश युवा दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार की सो रही सरकारों को जगाने के लिए रेलवे ट्रैक पर बैठे हैं। सरकार का काम लाठियां बरसाना, धमकाना, लहूलूहान करना नहीं, बल्कि संवाद स्थापित करना है।

उन्होंने कहा युवाओं को अपना आंदोलन शांतिपूर्ण ढंग से करना चाहिए, इसे कांग्रेस का समर्थन है। शांतिपूर्ण आंदोलन के आगे हार अंततोगत्वा दंभ की, अहंकार की और सरकार की ही होगी। यह देश के युवाओं के भविष्य का मामला है, भाजपा सरकार खिलवाड़ मत करे, इनके साथ हठ, अभिमान मत करे।

About Samar Saleel

Check Also

खेसारीलाल के बाद अब पंजाबी क्वीन शिप्रा गोयल, लिजेंड पंजाबी सिंगर बब्बू मान के साथ मचाएंगी धमाल

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें इस म्यूजिक ट्रैक में शिप्रा गोयल ने न ...