Breaking News

केंद्र सरकार का चीन को एक और झटका, सेमी हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेन का ठेका सिर्फ स्वदेशी कंपनियों को

भारत सरकार ने चीन को एक और झटका दिया है. भारत में सेमी हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेन प्रोजेक्ट से अब चीनी कंपनियां बाहर हो गई हैं. अब सिर्फ भारत की कंपनियों को यह टेंडर दिया जाएगा. सरकार ने पुराने टेंडर को रद्द कर नया टेंडर जारी कर दिया है.

जानकारी के मुताबिक, भारतीय रेलवे ने 44 सेमी हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेन सेट्स के लिए संशोधित टेंडर जारी किया है. यह टेंडर ट्रेन सेट्स के लिए बोगियों के साथ-साथ थ्री-फेज प्रोपल्शन, कंट्रोल और अन्य उपकरणों के लिए है. इस टेंडर को www.ireps.gov.in पर अपलोड किया गया है.

संशोधित टेंडर मेक इन इंडिया नीति के लिए भारत सरकार की प्राथमिकता के अनुरूप है. न्यूनतम स्थानीय सामग्री के प्रतिशत को संशोधित करके अब 75 प्रतिशत कर दिया गया है. यह आत्मनिर्भर भारत के संशोधित डीपीआईआईटी शर्तों के तहत जारी पहला बड़ा टेंडर है.

इसमें कम से कम 75त्न घरेलू घटक को शामिल किया गया है. यह टेंडर अब एक घरेलू टेंडर है. इसके लिए केवल भारत में पंजीकृत कंपनियां ही आवेदन कर सकती हैं और उन्हें लागत भारतीय रुपये में बतानी होगी. बता दें, इससे पहले भारत ने चीनी मोबाइल ऐप पर बैन लगाकर पड़ोसी देश को चेतावनी जारी की थी. इसके बाद भी सीमा पर चीन की हरकतें जारी रहें तो एक के बाद एक और कदम उठाए गए.

About Aditya Jaiswal

Check Also

RSS प्रमुख मोहन भागवत की इस टिप्पणी पर शुरू हुई आलोचना, शंकराचार्य ने कही ये बात

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें रामचरितमानस पर जारी विवाद के बीच हिंदू समाज ...