Breaking News

कोरोना महामारी ने करीब 15 लाख बच्चों के जीवन से हटाया माता-पिता का साया, अध्ययन में हुआ खुलासा

भारत के 1,19,000 बच्चों सहित दुनिया भर में 15 लाख से ज्यादा बच्चों ने कोविड के कारण कम से कम एक माता-पिता, कस्टोडियल दादा-दादी या दादा-दादी को खो दिया है। इसकी जानकारी द लांसेट में प्रकाशित एक नए अध्ययन के अनुसार साझा की गई है।

मेडिकल जर्नल लैंसेट (medical journal Lancet) में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक मार्च 2020 से अप्रैल 2021 के बीच भारत में 1.19 लाख से अधिक बच्चों ने अपनी प्राइमरी या सेकंडरी देखभाल करने वालों को खो दिया.

प्राथमिक देखभाल करने वाले माता-पिता को संदर्भित करते हैं, जबकि सेकंडरी में दादा-दादी शामिल होते हैं. कुल संख्या में से 90,751 बच्चों ने अपने पिता को खो दिया जबकि 25,500 बच्चों ने अपनी माताओं को कोरोना वायरस संक्रमण से खो दिया. अध्ययन से पता चला है कि बारह बच्चों ने अपने माता-पिता दोनों को खो दिया.

अध्ययन का अनुमान है कि उनमें से, 10 लाख से ज्यादा बच्चों की महामारी के पहले 14 महीनों के दौरान एक या दोनों माता-पिता की मौत हो गई, और अन्य 5 लाख बच्चों ने अपने ही घर में रहने वाले दादा-दादी की मौत देखी है।

 

About News Room lko

Check Also

राहुल गांधी ने अमित शाह से मांगा इस्तीफा

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें नई दिल्ली।  कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *