Breaking News

डिफेन्स एक्सपो : यूपी 2020 में तमिलनाडु 2018 से घटा खर्च, बड़ी आय और बढे डेलीगेट्स

लखनऊ। एक साल पहले यूपी की राजधानी लखनऊ में आयोजित हुआ डिफेन्स एक्सपो 2020 उससे दो साल पहले तमिलनाडु में आयोजित हुए डिफेन्स एक्सपो 2018 के मुकाबले कई मायनों में अधिक सफल साबित हुआ है. इस बात का खुलासा लखनऊ के राजाजीपुरम क्षेत्र की निवासी आरटीआई एक्टिविस्ट उर्वशी शर्मा की आरटीआई पर डिफेन्स एक्सपो की आयोजक संस्था रक्षा प्रदर्शनी संगठन के प्रदर्शनी
अधिकारी अरुण कुमार द्वारा दी गई सूचना से हुआ है।

दरअसल उर्वशी शर्मा ने बीते साल के 31 दिसम्बर को भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय में एक आरटीआई अर्जी देकर इन दोनों डिफेन्स एक्सपो के सम्बन्ध में 10 बिन्दुओं पर सूचना माँगी थी। अरुण ने समाजसेविका उर्वशी शर्मा को बीती 27 जनवरी को पत्र भेजकर बताया है कि डिफेन्स एक्सपो की आयोजक संस्था रक्षा प्रदर्शनी संगठन का कार्यालय नई दिल्ली के चाणक्यपुरी स्थित होटल ‘द अशोका’ के कमरा संख्या 102 से 107 में स्थित है। उर्वशी को दी गई सूचना के अनुसार तमिलनाडु में आयोजित हुए डिफेन्स एक्सपो 2018 के आयोजन के लिए केंद्र सरकार ने 121 करोड़ 38 लाख रुपये खर्चे थे तो वहीं यूपी की राजधानी लखनऊ में आयोजित हुए डिफेन्स एक्सपो 2020 के लिए केंद्र सरकार को 115 करोड़ 60 लाख रुपये ही खर्च करने पड़े।

अरुण ने उर्वशी को बताया है कि तमिलनाडु में आयोजित हुए डिफेन्स एक्सपो 2018 के आयोजन से केंद्र सरकार को 77 करोड़ 39 लाख रुपये का राजस्व ही मिला था जबकि यूपी की राजधानी लखनऊ में आयोजित हुए डिफेन्स एक्सपो 2020 से केंद्र सरकार को 95 करोड़ 70 लाख रुपये के राजस्व की प्राप्ति हुई। अरुण द्वारा दी गई सूचना के अनुसार तमिलनाडु में आयोजित हुए डिफेन्स एक्सपो 2018 में 284 देशी-विदेशी डेलीगेट्स आये थे जबकि यूपी की राजधानी लखनऊ में आयोजित हुए डिफेन्स एक्सपो 2020 में दसियों गुना अधिक 3000 देशी-विदेशी डेलीगेट्स और 600 मीडिया प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

उर्वशी को यह भी बताया गया है कि एचएएल ( हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड) ने डिफेन्स एक्सपो 2018 में 284 देशी-विदेशी डेलीगेट्स और पत्रकारों को दिए जाने वाले बैग्स और प्रिंटेड सामग्री पर Rs. 34,59,032/- खर्चे थे तो वहीं डिफेन्स एक्सपो 2020 में 3000 देशी-विदेशी डेलीगेट्स और 600 मीडिया प्रतिनिधियों को दिए जाने वाले बैग्स और प्रिंटेड सामग्री पर एचएएल ( हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड ) ने महज़ Rs. 41,62,946/- ही खर्च किये जो प्रति नग खर्च के हिसाब से काफी कम था।

उर्वशी की आरटीआई अर्जी के कई बिन्दुओं की सूचना का सम्बन्ध तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश की राज्य सरकारों से होने की बात कहते हुए अरुण ने उर्वशी हो सलाह दी है कि वे इस सम्बन्ध में राज्य सरकारों से पत्राचार करें। सोशल एक्टिविस्ट उर्वशी ने बताया कि उन्होंने इस सम्बन्ध में राज्य सरकारों को भी आरटीआई अर्जियां दे दी हैं और वे जल्द ही इन दोनों डिफेन्स एक्सपो के अन्य अहम पहलुओं को भी उजागर करेंगी।

About Samar Saleel

Check Also

हम नक्सलवाद के सामने घुटने नहीं टेकते, नेस्तनाबूद कर देते हैं- योगी आदित्यनाथ

• योगी आदित्यनाथ ने कोरबा में जनसभा को किया संबोधित • कहा- कांग्रेस का नक्सलवाद ...