Breaking News

संचारी व मच्छर जनित रोगों की रोकथाम के लिए विभाग सक्रिय- सीएमओ

• ग्रामसभा खरका की मड़ैया में लगा विशेष स्वास्थ्य शिविर नहीं मिला मलेरिया, डेंगू, टाइफाइड पॉज़िटिव मरीज।

• बचाव के लिए घर व आसपास साफ-सफाई रखें, न होने दें जलजमाव

औरैया। जनपद के ग्रामीण क्षेत्रों में संचारी रोगों की रोकथाम के लिए नियमित कार्रवाई की जा रही हैं। इस क्रम में गुरुवार को औरैया ब्लॉक के ग्रामसभा खरका की मड़ैया में बुखार से पीड़ित व्यक्तियों के लिए विशेष स्वास्थ्य कैंप लगाया गया। शिविर में कोई भी मलेरिया, डेंगू, टाइफाइड का मरीज़ नहीं पाया गया। साथ ही स्वास्थ्य टीम द्वारा घर-घर लार्वा की जांच  की गयी। कुछ जगहों पर डेंगू का लार्वा पाया गया है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ अर्चना श्रीवास्तव ने बताया कि जिले में संचारी व वेक्टर जनित रोगों के नियंत्रण व रोकथाम के लिए तत्काल प्रभावी कार्रवाई की जा रही हैं।विभाग सक्रिय भूमिका निभा रहा है। ग्रामीण व नगरीय क्षेत्र में जहां भी बुखार के मरीज मिल रहे हैं। उस जगह पर विभाग की टीम जाकर जांच कर रही हैं और आवश्यक दवा भी उपलब्ध करा रही है। इसके साथ ही जिन क्षेत्रों में डेंगू के मरीज पाये जा रहे हैं, वहां फॉगिंग व एंटी लार्वा का छिड़काव भी नियमित किया जा रहा है।

उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी और संचारी रोगों के नोडल अधिकारी डॉ मनोज कुमार ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा पूरे क्षेत्र में एंटी लार्वा का छिड़काव कराया गया। बुखार ग्रस्त लोगों को निःशुल्क दवा का वितरण किया गया

जिला महामारी विशेषज्ञ सरफ़राज़ अंसारी ने बताया कि खरका की मड़ैया ग्रामसभा में लगाए गए शिविर में करीब 60 से अधिक लोगों की मलेरिया, डेंगू, टाइफाइड की जांच की गई। 12 बुखार के मामलों की जांच और डेंगू एनएस 1 जांच और मलेरिया कार्ड के साथ की जाती है, इसमें से कोई व्यक्ति पॉज़िटिव नहीं पाया गया।

अन्य रोगी जैसे शरीर में दर्द, खुजली आदि के पाये गये। सभी इलाकों और उसके आसपास के क्षेत्रों पर स्वास्थ्य विभाग और ग्राम पंचायत द्वारा फॉगिंग व एंटी लार्वा का छिड़काव किया जा रहा है जिससे इसको नियंत्रित किया जा सके।

इन बातों का विशेष ध्यान रखें

  • – घरों के आसपास जल जमाव न होने दें।
  • – छत पर एवं घर के अंदर अनुपयोगी डिब्बे, पात्र जिसमे जल एकत्र हो सकता हो उसे खाली कर दें।
  • – कूलर में पानी न रहने दें या हर दूसरे दिन पानी बदलते रहें।
  • – फ्रिज के पीछे प्लेट में पानी एकत्र न होने दें।
  • – गमलों, नारियल के खोल, या अनुपयोगी टायर, टंकी को जरूर से साफ करवाते रहें, एवं उनमें पानी एकत्र न
    होने दें।
  • – मच्छरदानी का प्रयोग अवश्य करें।
  • – पूरी बांह के कपड़े पहने।

रिपोर्ट-शिव प्रताप सिंह सेंगर 

About Samar Saleel

Check Also

नैक मूल्यांकन में बढाएं विद्यार्थियों की सहभागिता- राज्यपाल

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल ने कहा कि ...