Breaking News

सरवाइकल कैंसर एवं स्त्रीजनित रोगो पर विशेषज्ञों से परिचर्चा कार्यक्रम

लखनऊ। आज कुलपति प्रो अलोक कुमार राय के नेतृत्व में लखनऊ विश्वविद्यालय के इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज द्वारा छात्राओं के स्वास्थ्य एवं हॉस्टल हाईजिन से संबंधित पैनल डिस्कशन किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के प्रतिष्ठित स्त्री रोग विशेषज्ञों के सहयोग से आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के विधि संकाय, इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, अभियांत्रिकी एवं तकनीकी संकाय और इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मेसी की लगभग 150 छात्राओं ने प्रतिभाग किया। फार्मेसी विभाग द्वारा इन छात्राओं का ब्लड टेस्ट भी किया गया।

डॉ मंजुलता वर्मा द्वारा बताया गया, सर्विकल कैंसर के भारत में लगभग 67 हज़ार नए केस प्रतिवर्ष परीक्षण से पता चलते है जिसको पूरी तरह ठीक किया जा सकता है, यदि समय से जनता को जागरूक किया जाय।

एमएसपी गारंटी के लिए देश भर में अभियान चलेगा- राजाराम त्रिपाठी

इसके लिए इन्होने सलाह दिया कि हर विवाहित महिला को पैप स्मीयर का टेस्ट कराना चाहिए, यह टेस्ट हर तीन साल पर कराना चाहिए। यह टेस्ट सरकारी हॉस्पिटल में उपलब्ध है और यह जाँच प्रक्रिया दर्द रहित है।

इस रोग से बचने के लिए 11 से 12 वर्ष की किशोरवस्था की बच्चियों को HPV वैक्सीनेशन कराना चाहिए जिसमे गार्डसील एवं सेरविक्स वैक्सीन जो बाजार में उपलब्ध है। ये वैक्सीन दो डोज़ में लगती है। दोनों डोज़ के बीच में 0-6 माह का अंतर होना चाहिए। जिन बच्चियों की यह डोज़ छूट गयी है वो 26 वर्ष तक ये डोज़ ले सकती है, यह डोज़ तीन डोज़ (O माह, 1 माह एवं 6 माह) में लगता है।

घने कोहरे के चलते टूरिस्ट बस डिवाइडर से टकराई, अनंतराम टोल प्लाजा पर हुई घटना, चार घायल

यह वैक्सीनेशन 90 प्रतिशत सुरक्षित होगा और इसका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है। इन्होने बताया की 60-70 प्रतिशत तक पूरे देश में एनीमिया के रोगी है, इससे बचने के लिए आहार में पत्तेदार हरी सब्जिया टमाटर, एवं अनार के सेवन करने से एनीमिया से बचाव किया जा सकता है एवं ओरल आयरन दवाई 3 – 4 सप्ताह लेने पर 1 ग्राम हीमोग्लोबिन बढ़ाया जा सकता है।

डॉ पुष्पलता शंखवार, स्त्री रोग विशेषज्ञ, ने न्यूत्रियंट एंड मेंस्ट्रुअल, PCOS के रोकथाम के उपाय बताया। जिनमे निम्न है- सुबह समय से उठाना चाहिए, फ़ास्ट फ़ूड कम खाना चाहिए, अवेरनेस की सही जानकारी रखना चाहिए, बीमारी छुपानी नहीं चाहिए एवं PCOS के कारण भी बताये। इस कार्यक्रम में “एनीमिया की रोकथाम” और “सरवाइकल कैंसर की रोकथाम” के विषय पर एक पोस्टर प्रतियोगिता भी संस्थान में आयोजित की गयी और विजेताओं के नाम की घोषणा की गयी जिसमे प्रथम पुरस्कार निकिता (डीफार्मा), द्वितीय पुरस्कार आरती वर्मा (एलएलबी 3rd ईयर) शिवानी, अमृता, वैदेही, वीना, मुस्कान तृतीय पुरस्कार (बीफार्म 1st ईयर) साक्षी सिंह, सना, आकांक्षा, और सगुन, रिसीका राय और पारुल शर्मा को मिला।

इस कार्यक्रम में प्रो पुष्पेंद्र कुमार त्रिपाठी निदेशक इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज, लखनऊ विश्वविद्यालय और लावण्या गर्ल्स हॉस्टल की प्रोवोस्ट प्रो अनुपमा श्रीवास्तव और इंस्टीट्यूट के शिक्षक उपस्थित रहे। निदेशक ने बताया की वैक्सीनेशन के लिए संस्थान आगे आकर काम करने की तैयारी में है।

About Samar Saleel

Check Also

पूर्वोत्तर रेलवे: टिकट जांच के दौरान स्थापित किए गए नये कीर्तिमान

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल के मण्डल रेल ...