Breaking News

डीएम ने किया कृषि योजनाओं का निरीक्षण

 

बहराइच. जिलाधिकारी अजयदीप सिंह ने कृषि सेक्टर से सम्बन्धित विभागों द्वारा संचालित लाभार्थीपरक योजनाओं की ज़मीनी हकीकत जानने के लिए योजना स्थल का स्थलीय निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने पशुपालन विभाग की कामधेनु योजना के तहत सन्त पथिक गौशाला व कामर्शियल लेयर योजनान्तर्गत सोहरवा स्थित तारिक अहमद पोल्ट्री फार्म, उद्यान विभाग द्वारा प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई ‘‘पर ड्राप-मोर ड्राप‘‘ योजनान्तर्गत कीर्तनपुर में मोहम्मद वामिक की खरबूज़ा व पपीते की ड्रिप सिंचाई योजना, रेशम विभाग द्वारा गजपतिपुर स्थित राजकीय रेशम फार्म, कृषि विभाग द्वारा संचालित सबमिशन आन एग्रीकल्चर मैकेनाईज़ेशन योजनान्तर्गत बेगमपुर सोहरवा में स्थापित कृषक राम केवल गुप्ता का फार्म मशीनरी बैंक, वर्मी कम्पोस्ट व 2 हार्सपावर का सोलर पम्प तथा भूमि संरक्षण (कृषि) द्वारा ग्राम रत्नापुर में कराये गये तटबंध निर्माण कार्य का स्थलीय निरीक्षण किया।

पशुपालन विभाग की मिनी कामधेनु योजना अन्तर्गत लाभान्वित पशुपालक अवधेश नरायण अग्रवाल की सन्त पथिक गौशाला के निरीक्षण के दौरान बताया गया कि यहाॅ पर 143 पशु हैं जिसमें 66 गायें जिसके माध्यम से लगभग प्रतिदिन 450 लीटर दूध का उत्पादन होता है। दूध की खपत स्थानीय बाज़ार में हो जाता है। यहाॅ पर पशुओं के गोबर से कम्पोस्ट खाद तथा गोबर गैस प्लान्ट के संचालन को देखकर जिलाधिकारी श्री सिंह काफी प्रभावित हुए। डेरी में पर्याप्त साफ-सफाई तथा पशुओं का रख-रखाव संतोषजनक पाया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी इसी परिसर में संचालित सन्तपथिक कालेज का भी निरीक्षण किया जहाॅ पर सीबीएससी बोर्ड के तहत कामर्स एकाउन्टेन्सी इण्टरमीडिएट की परीक्षा हो रही थी।

इसके उपरान्त जिलाधिकारी पशुपालन विभाग की कामर्शियल लेयर योजनान्तर्गत सोहरवा स्थित तारिक अहमद पोल्ट्री फार्म का निरीक्षण किया। यहाॅ पर जिलाधिकारी को बताया गया कि इस फार्म की क्षमता 30 हज़ार बर्ड की है। पोल्ट्री फार्म के लाभार्थी मोहम्मद तारिक खान ने बताया कि लगभग 20 सप्ताह हो गये हैं, वर्तमान समय में लगभग 6 हज़ार अण्डे का उत्पादन प्राप्त हो रहा है। समय बीतने के साथ-साथ उत्पादन बढ़ता जायेगा। यहाॅ पर साफ-सफाई व अन्य व्यवस्थायें संतोषजनक पायी गयीं।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई ‘‘पर ड्राप-मोर ड्राप‘‘ योजनान्तर्गत कीर्तनपुर में मोहम्मद वामिक की खरबूज़ा व पपीते की ड्रिप सिंचाई योजना के निरीक्षण के लाभार्थी कृषक ने बताया कि 4 हेक्टेयर क्षेत्रफल में खरबूज़ा व पपीते की खेती को सींचा जा रहा है। कृषक ने योजना को काफी उपयोगी बताते हुए कम से कम पानी बेहतर सिंचाई करने के लिए यह योजना मील का पत्थर साबित होगी। रेशम विभाग के गजपतिपुर स्थित राजकीय रेशम फार्म के निरीक्षण के दौरान उप निदेशक एके सिंह ने शहतूत के पत्तों से लेकर कोया तथा रेशम तैयार करने की प्रक्रिया की जानकारी देते हुए बताया कि इस फार्म से 350 किसान जुड़े हैं जिन्हें कृषि के अलावा एक वर्ष में लगभग 60 से 65 हज़ार रूपये का अतिरिक्त लाभ हो रहा है। जिलाधिकारी ने लाभार्थी राम चन्दर के घर जाकर उससे योजनाओं से जुड़ी अन्य जानकारी प्राप्त की।

Loading...

इसके पश्चात जिलाधिकारी ने कृषि विभाग की संचालित सबमिशन आन एग्रीकल्चर मैकेनाईज़ेशन योजनान्तर्गत बेगमपुर सोहरवा में स्थापित कृषक राम केवल गुप्ता का फार्म मशीनरी बैंक, वर्मी कम्पोस्ट व 02 हार्सपावर का सोलर पम्प का लाभार्थी के खेत में जाकर निरीक्षण कर लाभार्थी कृषक से आवश्यक जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कृषक लाभार्थी के खेत पर पौधरोपण भी किया। यहाॅ पर आयोजित चैपाल के दौरान जिलाधिकारी अजयदीप सिंह व कृषि विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक डा. एमबी सिंह ने रासायनिक खाद के विकल्प के तौर पर अधिक से अधिक जैविक व कत्पोस्ट खादों का प्रयोग करने की अपील करते हुए कहा कि इससे भूमि की उर्वरा शक्ति बनी रहेगी। जिलाधिकारी ने किसानों से यह भी अपील की कि अपने खेत के बीच में ही गढ्ढ़ा खोदकर कम्पोस्ट खाद तैयार करें।

चैपाल के दौरान जिलाधिकारी कृषि सेक्टर से जुड़े अधिकारियों को निर्देश दिया कि विभागीय योजनाओं का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार करें ताकि शासन की मंशानुरूप अधिक से अधिक किसान इन योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकें। उन्होंने सभी अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि किसानों को कृषि के साथ-साथ कृषि आधारित व्यवसायों के लिए भी प्रेरित करें जिससे उनकी आय में गुणात्मक इज़ाफा हो सके। इस अवसर पर प्रगतिशील कृषक राम केवल गुप्ता व शक्तिनाथ सिंह ने भी मौजूद किसानों को उपयोगी सुझाव दिये। कृषक रियासत अली ने गीत के माध्यम से सब्ज़ियों की व्याख्या की।

अपने निरीक्षण कार्यक्रम के अन्त में जिलाधिकारी ने भूमि संरक्षण (कृषि) द्वारा ग्राम रत्नापुर में कराये गये तटबंध निर्माण कार्य का स्थलीय निरीक्षण किया। भूमि संरक्षण अधिकारी (कृषि) संतोष यादव ने बताया कि बंध निर्माण से 223 किसानों को लाभ मिलेगा। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी सदर गौरांग राठी आईएएस को निर्देश दिया कि योजना के इम्पैक्ट से सम्बन्धित विस्तृत आख्या तैयार करें। भूमि संरक्षण अधिकारी को निर्देश दिया कि एसडीएम की अध्यक्षता में तटबंध के रख-रखाव के लिए किसानों के साथ बैठक करायें।

निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी विद्या शंकर सिंह, उप जिलाधिकारी सदर गौरांग राठी, प्रशिक्षु पीसीएस मंगलेश, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. बलवन्त सिंह, उप निदेशक कृषि अनिल कुमार सागर, रेशम विभाग से ए.के. सिंह, जिला कृषि अधिकारी डा. अश्वनी कुमार सिंह, जिला उद्यान अधिकारी महेश चन्द्र श्रीवास्तव सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

हजरतगंज थाने का एसएसपी ने किया निरीक्षण

लखनऊ। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बुधवार को हजरतगंज थाने का निरीक्षण किया। एसएसपी ने थाने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *