Breaking News

प्रोफ़ेसर सूर्यकान्त को “डा डी घोष ओरेशन अवार्ड”, बढ़ाया केजीएमयू का मान

लखनऊ। किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के रेस्परेटरी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर सूर्यकान्त को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, यूपी ने “डा. डी घोष ओरेशन अवार्ड” से सम्मानित किया है। डा सूर्यकान्त (Dr. Suryakant) का यह 15वां ओरेशन अवार्ड है। इससे पहले भी 14 ओरेशन अवार्ड लंग कैंसर, सांस रोग, टीबी, एलर्जी, अस्थमा के साथ चिकित्सा क्षेत्र में शोध कार्यों एवं नई चिकित्सकीय नीतियों के प्रति उल्लेखनीय कार्यों एवं जनजागरूकता अभियान चलाने के लिए प्राप्त हो चुके हैं।

भाजपा 2024 के लिए इन राज्यों में बना रही खास प्लान, शुरू हुई तैयारियां

ज्ञात हो कि डॉ सूर्यकान्त को स्टैनफोर्ड, यूनिवर्सिटी, अमेरिका द्वारा चयनित विश्व के सर्वोच्च दो प्रतिशत वैज्ञानिकों की श्रेणी में भी स्थान प्राप्त हुआ है। इसके साथ ही इंडिया टुडे द्वारा प्रकाशित कॉफी टेबल बुक 2022 में भारत के प्रसिद्ध शीर्ष 58 लोगों में शामिल किया गया है जो भारत के विभिन्न क्षेत्रों और स्थानों में काम कर रहे हैं।

डा सूर्यकान्त केजीएमयू के रेस्परेटरी मेडिसिन विभाग में 18 वर्ष से प्रोफेसर एवं 11 वर्ष से विभागाध्यक्ष के पद पर सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। इसके अलावा चिकित्सा विज्ञान सम्बंधित विषयों पर 19 किताबें भी लिख चुके हैं तथा एलर्जी, अस्थमा, टीबी एवं लंग कैंसर के क्षेत्र में उनके अब तक 700 से अधिक शोध पत्र राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय जर्नल्स में प्रकाशित हो चुके हैं। इसके साथ ही दो अंतरराष्ट्रीय पेटेंट का भी उनके नाम श्रेय जाता है तथा लगभग 200 एमडी/पीएचडी विद्यार्थियों का मार्गदर्शन, 50 से अधिक परियोजनाओं का निर्देशन का भी श्रेय उनके नाम जाता है।

डा सूर्यकान्त को अमेरिकन कॉलेज ऑफ चेस्ट फिजिशियन, इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन, इण्डियन चेस्ट सोसाइटी, नेशनल कालेज ऑफ चेस्ट फिजिशियन आदि संस्थाओं द्वारा राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 20 फेलोशिप सम्मान से भी सम्मानित किया जा चुका है। उन्हें उप्र सरकार द्वारा विज्ञान गौरव अवार्ड (विज्ञान के क्षेत्र में उप्र का सर्वोच्च पुरस्कार) और चिकित्सा के क्षेत्र में हिन्दी भाषा को बढ़ावा देने हेतु केन्द्रीय हिन्दी संस्थान, आगरा एवं उप्र हिन्दी संस्थान से भी सम्मानित किया जा चुका है। ज्ञात रहे कि उन्हें अब तक अन्तरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय एवं प्रदेश स्तर की विभिन्न संस्थाओं द्वारा लगभग 175 पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।

सिक्किम में भारी हिमपात से फंसे सैंकड़ों पर्यटक, सेना के जवानों ने सभी को बचाया

डा सूर्यकान्त कोविड टीकाकरण के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के ब्रांड एंबेसडर भी हैं। इसके साथ ही चेस्ट रोगों के विशेषज्ञों की राष्ट्रीय संस्थाओं इण्डियन चेस्ट सोसाइटी, इण्डियन कॉलेज ऑफ एलर्जी, अस्थमा एण्ड एप्लाइड इम्यूनोलॉजी एवं नेशनल कालेज ऑफ चेस्ट फिजिशियन (एनसीसीपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं तथा इण्डियन साइंस कांग्रेस एसोसिएशन के मेडिकल साइंस प्रभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं इंडियन मेडिकल एसोसियेशन-एकेडमी ऑफ मेडिकल स्पेसिलिटीज के नेशनल वायस चेयरमैन भी रह चुके हैं। वह पिछले 25 वर्षों से अधिक समय से अपने लेखों, वार्ताओ एवं टीबी व रेडियो के माध्यम से लोगो में एलर्जी, अस्थमा, टीबी, कैंसर जैसी बीमारी से बचाव व उपचार के बारे में जागरूकता फैला रहे हैं।

About Samar Saleel

Check Also

नेपाल और भारत के बीच बहुत ही गहरा सांस्कृतिक सम्बन्ध है- नारायण प्रसाद सऊद

• नेपाल के विदेश मंत्री पहुंचे अयोध्या, किया रामलला का दर्शन अयोध्या। आज (शनिवार) नेपाल ...